पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी:छात्र संघ चुनाव की फिर तैयारी पर 14 वर्षों में वसूले गए 70 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं

भागलपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीनेट में मिला ऑडिट का आश्वासन, नहीं हुई कार्रवाई
  • टीएमबीयू में 2003 के बाद 2017 में ही हुआ था छात्र संघ का चुनाव
  • शुल्क हर साल लिये गए, दूसरे मद में खर्च की आशंका

टीएमबीयू में छात्र संघ फंड के करीब 70 कराेड़ का हिसाब अब तक नहीं मिला है। जिन वर्षाें में चुनाव नहीं हुआ उनमें भी छात्राें से शुल्क वसूले जाते रहे। पीजी विभागाें और काॅलेजाें ने वसूली गई राशि का 80 फीसदी विश्वविद्यालय में जमा किया था और शेष 20 प्रतिशत अपने पास जमा रखा था। दाे-तीन काॅलेजाें काे छाेड़ बाकी में यह राशि उपलब्ध नहीं है। जबकि विश्वविद्यालय भी अपने पास जमा राशि का हिसाब नहीं दे पा रहा है। अब मार्च में नया चुनाव कराने की तैयारी भी शुरू कर दी गई है।

2018, 2019 के बाद अब फिर उठा है मामला
14 साल के बाद 2017 में हुए छात्र संघ चुनाव में जीतकर अध्यक्ष चुने गए जयप्रीत मिश्र ने 2017-18 में विश्वविद्यालय से पूछा था कि छात्र संघ फंड में ली जाती रही राशि कहा हैं और कितनी है। तब विश्वविद्यालय ने छात्र संघ काे पीजी मद से 50 हजार रुपए देकर चुप्पी साध ली थी।

2019 के फरवरी में हुई सीनेट की बैठक में भी सवाल उठा था तब तत्कालीन प्रभारी वीसी डाॅ. एके राय ने जांच कराने की बात कही थी, लेकिन जांच नहीं हुई। अब 10 फरवरी काे हुई सीनेट की बैठक में मेंबर के रूप में जयप्रीत मिश्र ने प्रभारी वीसी डाॅ. संजय कुमार चाैधरी की मार्च में छात्र संघ चुनाव कराने की याेजना पर इस मद की राशि का सवाल उठाया ताे प्रभारी वीसी ने कहा कि इस अकाउंट का ऑडिट कराया जाएगा। हालांकि सूत्राें ने कहा कि विश्वविद्यालय ने दूसरे मदाें में यह राशि खर्च कर दी है इसीलिए अब तक हिसाब नहीं दिया गया।

कम से कम एक लाख छात्र टीएमबीयू में हर साल रहे, प्रत्येक छात्र से दाखिले के समय इस मद में 100 रुपए लिए गए

जानकाराें ने बताया कि स्नातक और पीजी में हर साल नामांकन के समय प्रत्येक छात्र से छात्र संघ मद में 100 रुपए लिए जाते हैं। एक छात्र स्नातक के पूरे काेर्स के दाैरान तीन बार नामांकन लेता है और हर बार 100 रुपए छात्र संघ फंड में देता है। 2003 के बाद टीएमबीयू में 2017-18 में चुनाव हुआ था। तब मुंगेर विश्वविद्यालय अलग नहीं था। इस दाैरान हर वर्ष स्नातक के तीनाें पार्ट मिलाकर औसतन 1 लाख छात्राें ने दाखिला लिया।

तब पीजी में भी 2 बार नामांकन हाेता था और इन 14 वर्षाें में हर वर्ष औसतन 3 हजार छात्राें ने पीजी किया। यानी लगभग 42 हजार छात्र। स्नातक और पीजी काे मिलाकर 40-45 हजार छात्र कम भी कर दें तब भी कम से कम 1 लाख छात्र टीएमबीयू में हर साल रहे। हर साल 1 लाख छात्राें के नामांकन से 5 कराेड़ और 14 वर्षाें में लगभग 70 कराेड़ रुपए छात्र संघ मद में वसूले गए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें