• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Action Is Taken On Land And Liquor Mafia, It Took 8 Years In The Property Investigation And Charge Sheet Of Gambling Mafia

पुलिस और ईडी की रफ्तार धीमी:जमीन और शराब माफिया पर हाेनी है कार्रवाई, संपत्ति जांच व चार्जशीट में ही लग गए 8 साल

भागलपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अपराध, शराब या गलत तरीकों से अर्जित संपत्ति की जब्ती की कार्रवाई में भागलपुर पुलिस और ईडी की रफ्तार काफी धीमी है। जीरोमाइल के नवटोलिया के रहने वाले जुआ माफिया व जदयू अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के पूर्व महानगर अध्यक्ष जय प्रकाश मंडल की 8.38 करोड़ की चल-अचल संपत्ति को ईडी ने कुछ माह पहले अटैच किया था और अब उस पर चार्जशीट फाइल हुई। इन सारी प्रक्रिया में भागलपुर पुलिस और ईडी ने 8 साल का लंबा समय लगाया। जबकि अभी 2 और माफिया पर कार्रवाई होनी बाकी है।

प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउड्रिंग एक्ट-2002 के तहत 2013 में एसएसपी ने जय प्रकाश मंडल की चल-अचल संपत्ति को जब्त करने का प्रस्ताव आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) को भेजा था। इसके बाद 2014 में ईओयू ने आगे की कार्रवाई के लिए इसे ईडी को भेज दिया था। 2020 में ईडी ने ईसीआईआर दर्ज कर जांच शुरू की थी और 2021 में उसके खिलाफ चार्जशीट फाइल की गई।

जयप्रकाश मंडल के बाद अब जमीन माफिया सुरेंद्र यादव और शराब माफिया कारू चौधरी की बारी है। दोनों पर अपराध और शराब के जरिए संपत्ति अर्जित करने का आरोप है। हालांकि अब तक पुलिस दोनों की चल-अचल संपत्ति का आकलन नहीं कर पाई है।

जमीन माफिया सुरेंद्र यादव उर्फ सोनू : जमीन माफिया और दाउदबाट निवासी सुरेंद्र यादव उर्फ सोनू की चल-अचल संपत्ति को जब्त करने का पुलिस ने प्रस्ताव तैयार किया था। दिसंबर 2019 में डीआईजी ने सुरेंद्र यादव की संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई का निर्देश दिया था। आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहते हुए सुरेंद्र यादव ने अपराध के जरिए अकूत चल-अचल संपत्ति अर्जित का आरोप है।

इनकी संपत्ति की होनी है जांच

जमीन माफिया सुरेंद्र यादव उर्फ सोनू : जमीन माफिया और दाउदबाट निवासी सुरेंद्र यादव उर्फ सोनू की चल-अचल संपत्ति को जब्त करने का पुलिस ने प्रस्ताव तैयार किया था। दिसंबर 2019 में डीआईजी ने सुरेंद्र यादव की संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई का निर्देश दिया था। आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहते हुए सुरेंद्र यादव ने अपराध के जरिए अकूत चल-अचल संपत्ति अर्जित का आरोप है।

शराब माफिया कारू चौधरी : इशाकचक के शराब माफिया कारू चौधरी की चल-अचल संपत्ति को जब्त करने की प्रक्रिया अब शुरू नहीं हो पाई है। तत्कालीन सिटी एसपी एसके सरोज जगदीशपुर सीओ और इशाकचक थानेदार कारू की चल-अचल संपत्ति की जांच का निर्देश दिया था। पुलिस का कहना है कि कारू और उसके बेटों ने शराब के जरिए अकूत संपत्ति अर्जित की है।

खबरें और भी हैं...