पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिजली समस्या:अलीगंज सब-स्टेशन काे सबौर व जगदीशपुर ग्रिड से मिलती है बिजली, लेकिन फाॅल्ट हाेने पर दिक्कत झेल रहे लोग

भागलपुर16 दिन पहलेलेखक: इरशाद आलम
  • कॉपी लिंक
  • फाॅल्ट हाेने पर वैकल्पिक लाइन से भी दाे घंटे में मिल रही बिजली

शहर के सब-स्टेशनाें में बिजली पहुंचाने के लिए वैकल्पिक लाइन की व्यवस्था ताे की गई है, लेकिन उसका ठीक से उपयाेग नहीं हाे पा रहा है। वैकल्पिक लाइन बनाने का उद्देश्य है कि एक लाइन में खराबी होने पर दस मिनट में दूसरी लाइन चालू हाे जाए, लेकिन ऐसा नहीं हाे पा रहा है।

दूसरी लाइन चालू हाेने में दाे घंटे तक लग जाते हैं। कर्मचारी फाॅल्ट ढूंढने में समय लगा देते हैं। तबतक भीषण गर्मी से लाेग परेशान हाेते रहते हैं। पिछले तीन साल में शहर में 33केवीए की कई लाइन बनायी गई है।

पहले शहर काे केवल सबाैर ग्रिड से बिजली मिलती थी। लेकिन अब जगदीशपुर और गोराडीह ग्रिड से भी बिजली आ रही है। इसके लिए नयी लाइन बनाया गयी है। जेल, बरारी, सिविल सर्जन, टीटीसी और मायागंज उपकेन्द्र के लिए अब अलग-अलग तार लगाए गए हैं। यानी हर केंद्र में अलग से मेन लाइन भेजी गयी है।

अब एक सब-स्टेशन के मेन लाइन में खराबी आने से दूसरे पर प्रभाव नहीं पड़ेगा। इसके बदले वह दूसरे उपकेंद्र से भी बिजली ले सकता है। लेकिन हाल के दिनाें में तिलकामांझी इलाके में फाॅल्ट से ज्यादा कटाैती हाे रही है। इस इलाके काे जेल व मायागंज सब-स्टेशन से बिजली मिलती है।

जेल, बरारी, सिविल सर्जन, टीटीसी और मायागंज उपकेन्द्र के लिए भी अब अलग-अलग लाइन

फाॅल्ट ढूंढने में ज्यादा समय लगा देती है बिजली कंपनी
अलीगंज उपकेन्द्र काे सबौर और जगदीशपुर ग्रिड से बिजली मिलती है। लेकिन सबौर ग्रिड से बिजली फेल होने के बाद कंपनी के इंजीनियर फॉल्ट ढूढ़ने के लिए पेट्रोलिंग शुरू करते हैं। दो-तीन घंटा फॉल्ट ढूढ़ने में लग जाता है। हबीबपुर इलाके में परेशानी ज्यादा हाेती है, लेकिन वैकल्पिक लाइन का उपयाेग नहीं हाे पाता है। भीखनपुर में बने नये उपकेन्द्र में 33 केवीए लाइन गोराडीह ग्रिड से मिलती है। वहां से सिविल सर्जन सब-स्टेशन काे भी बिजली दी जा सकती है।

जेल और बरारी उपकेन्द्र काे अलग किया, फिर भी कटाैती से परेशानी
पहले एक ही लाइन पर जेल और बरारी उपकेन्द्र की बिजली मिलती थी। अब इसे अलग कर दिया गया है। ताकि पूर्वी शहर में बिजली संकट नहीं हो। मगर खराबी आने पर घंटाें कटाैती हाे रही है। पिछले दस दिनों में पूर्वी क्षेत्र के तिलकामांझी, बरारी, जीरोमाइल, जबारीपुर, आनंदगढ़ कॉलोनी, संतनगर, गांधीग्राम कॉलोनी, बरारी, नीलकंठ नगर, न्यू विक्रमशिला कॉलोनी, सच्चिदानंद नगर, हवाईअड्‌डा सहित कई इलाकों में बिजली गुल हाे रही है। नाथनगर उपकेन्द्र में जगदीशपुर ग्रिड से वैकल्पिक लाइन बनायी जा रही है।

बनाऊंगा नई व्यवस्था

  • शहर में अभी नया हूं। बिजली सप्लाई की पूरी जानकारी नहीं है। फॉल्ट ढूढ़ने में ज्यादा समय लगेगा ताे वैकल्पिक लाइन चालू करने की व्यवस्था बनाएंगे। -कुमार गौरव पांडेय, अधीक्षण अभियंता

वारसलीगंज में तार टूटा साढ़े तीन घंटे बिजली गुल
आदमपुर फीडर में दोपहर 2.35 बजे खराबी आने से इस इलाके में रविवार काे दिनभर बिजली आती-जाती रही। नाथनगर में भी सुल्तानगंज ग्रिड से मिलने वाली बिजली दिनभर ट्रिप करती रही। बरारी उपकेंद्र का डेडिकेटेड फीडर भी दिन में कई बार बंद हुआ। खलीफाबाग फीडर के अर्थिंग में फॉल्ट आने से बाजार क्षेत्र में परेशानी हुई।

वारसलीगंज में सुबह 6 बजे तार टूट गया। सूचना मिलने पर विक्रमशिला फीडर की बिजली बंद करा दी गयी। सुबह 9.30 बजे के बाद यहां बिजली आयी। आनंदगढ़ कॉलोनी में सुबह 8 बजे दो घंटा बिजली ठप रही।

खबरें और भी हैं...