सरगर्मी तेज:मेयर के लिए पेश होने लगी दावेदारी; सोशल मीडिया भी बना जरिया, सजने लगे हाेर्डिंग

भागलपुर4 महीने पहलेलेखक: मदन
  • कॉपी लिंक
नगर निगम का चुनाव अप्रैल- मई में होने की संभावना है। इसके साथ ही मेयर और डिप्टी मेयर काे सीधे जनता द्वारा चुने जाने के सरकार के फैसले के बाद शहर में दावेदाराें की कतार लगातार लंबी हाे रही है। - Dainik Bhaskar
नगर निगम का चुनाव अप्रैल- मई में होने की संभावना है। इसके साथ ही मेयर और डिप्टी मेयर काे सीधे जनता द्वारा चुने जाने के सरकार के फैसले के बाद शहर में दावेदाराें की कतार लगातार लंबी हाे रही है।
  • मेयर-डिप्टी मेयर के सीधे जनता से चुने जाने के फैसले से बदल रही सियासी तस्वीर

नगर निगम का चुनाव अप्रैल- मई में होने की संभावना है। इसके साथ ही मेयर और डिप्टी मेयर काे सीधे जनता द्वारा चुने जाने के सरकार के फैसले के बाद शहर में दावेदाराें की कतार लगातार लंबी हाे रही है। वे अपनी दावेदारी सीधे कम और साेशल मीडिया के सहारे अधिक कर रहे हैं। उनके चाहनेवाले भी उनके अच्छे कामाें का बखान साेशल मीडिया पर कर रहे हैं और उन्हें मेयर बनने के लिए सर्वगुण संपन्न भी बता रहे हैं। कुछ दावेदाराें ने शहर में हाेर्डिंग व बैनर-पाेस्टर भी लगाने शुरू कर दिए हैं।

अब तक जिन लाेगाें की दावेदारी सामने आई है, उनमें कुछ सामाजिक संगठन से जुड़े लाेग, भाजपा नेता, जदयू नेता, पूर्व मेयर, वर्तमान मेयर, कुछ पार्षद, साथ ही एक विधायक की पत्नी के चुनाव लड़ने की भी चर्चा है। दावेदार अपने-अपने स्तर से क्षेत्र में सक्रिय हाे गए हैं। कहीं जरूरतमंदाें के बीच गर्म कपड़े बांटे जा रहे हैं ताे कहीं भाेजन कराया जा रहा है। राजनीतिक-सामाजिक क्षेत्र में किए गए कामाें काे भी साेशल मीडिया के जरिए बताया-दिखाया जा रहा है।

एेसे में इस बार मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव दिलचस्प हाेगा। इसमें राजनीतिक दलाें की आपसी राजनीति भी परवान चढ़ेगी। शह-मात का खेल हाेगा। हर स्तर पर प्रचार-प्रसार तेज हाेगा। कई सियासी रंग देखने काे मिलेंगे। इसकी तस्वीर अभी से बननी शुरू हाे गई है। हालांकि सब अभी इस इंतजार में हैं कि पहले यह तय हाे जाए कि सीट आरक्षित हाेगी या नहीं।

भाजपा नेताओं ने शुरू कर दी है तैयारी
भाजपा महिला माेर्चा की जिलाध्यक्ष श्वेता सिंह ने मेयर पद के लिए चुनाव लड़ने का मन बना लिया है। केवल इसका इंतजार कर रही हैं कि सीट आरक्षित हाेगी या नहीं। चाैक-चाैराहाें पर उनका हाेर्डिंग भी लग गया है। भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी इंदुभूषण झा ने भी साेशल मीडिया के जरिए घाेषणा की है कि वे मेयर पद के लिए संभावित उम्मीदवार हाे सकते हैं। वह किस्मत आजमाने के लिए तैयार हैं। पूर्व डिप्टी मेयर सह भाजपा नेत्री प्रीति शेखर के नाम की भी चर्चा है।

जदयू के कई नेता भी उतर सकते हैं मैदान में
जदयू के पूर्व महानगर अध्यक्ष सुड्डू साई के नाम पर संभावना जताई जा रही है कि वे इस बार मेयर पद के लिए चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमाएंगे। क्षेत्र में वे पिछले कुछ दिनाें से सक्रिय भी हाे गए हैं। जदयू के मुख्य प्रवक्ता व पूर्व मेयर दीपक कुमार भुवानिया ने स्पष्ट कर दिया है कि जब जनता के वाेट से मेयर का चुनाव हाेगा, ताे वे भी इस बार चुनाव निश्चित ताैर पर लड़ेंगे। वे साेशल मीडिया पर लगातार सक्रिय हैं।​​​​​​​

विधायक की पत्नी, पार्षद, संगठनाें के लाेगाें के नामाें की भी है चर्चा
एक विधायक की पत्नी के नाम की चर्चा चल रही है कि वे भी इस बार मेयर के लिए चुनाव लड़ेंगी। एक पार्षद पति और उनके भाई मेयर व डिप्टी मेयर के लिए चुनावी मैदान में उतरेंगे, इसकी चर्चा आदमपुर के इलाके में जाेर-शाेर से हाे रही है। वार्ड-8 की पार्षद अनवरी खातून और 16 की पार्षद फरीदा आफरीन के नाम की भी चर्चा है।

इसके साथ अन्य कई पार्षदाें के नाम की भी चर्चा है। लेकिन वे लाेग इंतजार क रहे हैं कि पहले तय हाे जाए कि सीट आरक्षित रहेगी या नहीं। इसके बाद अंतिम निर्णय लेंगे। कुछ सामाजिक संगठनाें से जुड़े लाेगाें के समर्थक साेशल मीडिया पर उन्हें मेयर की उम्मीदवारी के लिए याेग्य बता रहे हैं। इनमें कुछ महिलाओं के नाम भी सामने आ रहे हैं।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...