अवैध कब्जे का मामला:टीएमबीयू की जमीन पर फिर कब्जे का प्रयास बिना अनुमति करा रहे बाेरिंग, पिलर भी गाड़े

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाेरिंग के काम काे रुकवाते डीएसडब्ल्यू डाॅ. रामप्रवेश सिंह। - Dainik Bhaskar
बाेरिंग के काम काे रुकवाते डीएसडब्ल्यू डाॅ. रामप्रवेश सिंह।

टीएमबीयू की जमीन पर कब्जे के प्रयास का एक और मामला साेमवार काे सामने आया। इस बार सीनेट हाॅल के पीछे डीप बाेरिंग किया जा रहा था, जिसे डीएसडब्ल्यू डाॅ. रामप्रवेश सिंह ने राेका। जिस जगह बाेरिंग हाे रहा था, वहां मजदूराें ने तंबू लगा रखा था और दाे-तीन पिलर भी गाड़ चुके थे। डीएसडब्ल्यू उस जगह पहुंचे और बाेरिंग का काम राेकने काे कहा।

उस समय मजदूराें ने काम राेक दिया, लेकिन उनके वहां से जाते ही दाेबारा बाेरिंग का काम शुरू कर दिया। डीएसडब्ल्यू दाेबारा वहां गए और मजदूराें से पूछा कि बाेरिंग करने के लिए किसने कहा है ताे मजदूराें ने बताया कि लालबाग कैंपस में रहने वाले एक प्राेफेसर ने बाेरिंग करने काे कहा था। हालांकि वे प्राेफेसर का नाम नहीं बता पाए।

डीएसडब्ल्यू ने विवि की इंजीनियरिंग शाखा से पूछा ताे उसे भी बाेरिंग की जानकारी नहीं थी। जमीन का नक्शा देखा गया ताे पता चला कि जमीन विवि की ही है। मामले की सूचना पुलिस काे भी दी गई। जिस जगह बाेरिंग का काम चल रहा था वहां से प्राॅक्टर डाॅ. रतन कुमार मंडल का क्वार्टर पास ही है। यह काम दाे-तीन दिन से चल रहा था लेकिन प्राॅक्टर तक काे इसकी जानकारी नहीं थी।

खबरें और भी हैं...