लैंडमाइंस ब्लास्ट से बचाने वाली डिवाइस का डेमो LIVE:भागलपुर के युवक का दावा, जवान सेफ रहेंगे; आतंकियों के पैर पड़ते ही होगा धमाका

भागलपुर19 दिन पहले

भागलपुर के एक 10वीं के छात्र राजाराम ने जवानों को लैंडमाइंस से बचाने वाली डिवाइस बनाने का दावा किया है। इसके लिए उसने एक जूता भी बनाया है। 16 साल के राजाराम का कहना कि अगर जवान इस जूते को पहनकर लैंडमाइंस पर पैर रखते हैं तो वो ब्लास्ट नहीं होगा। और अगर कोई और जैसे आतंकी इसपर पैर रखेंगे तो ये ब्लास्ट हो जाएगा। राजा ने माइंस में पटाखे वाले बॉम्ब लगाकर इस एक्सपेरिमेंट को दैनिक भास्कर के कैमरे पर लाइव करके दिखाया है...

राजाराम सलेमपुर सैनी गांव का रहने वाला है। उसका कहना है कि इस डिवाइस को उसने खुद से रिसर्च करके बनाया है। उसके पिता मजदूर हैं।राजाराम ने इस डिवाइस को गुप्त रखा है, वो उस डिवाइस को प्राइवेसी सार्वजनिक नहीं करना चाहता है।

इस डिवाइस को बनाने में करीब 2 हजार के आसपास का खर्च लगा है। करीब 5 महीने में इस डिवाइस को बनाया है। राजाराम ने अपनी डिवाइस के लिए सरकार से मदद मांगी है।

राजाराम ने डिवाइस से लाइव ब्लास्ट कर के दिखाया। उसने पैर रखा तो ब्लास्ट नहीं हुआ। रिपोर्टर के डिवाइस पर पैर रखते ही ब्लास्ट हो गया।
राजाराम ने डिवाइस से लाइव ब्लास्ट कर के दिखाया। उसने पैर रखा तो ब्लास्ट नहीं हुआ। रिपोर्टर के डिवाइस पर पैर रखते ही ब्लास्ट हो गया।

ऐसे काम करती है डिवाइस

लैंडमाइंस के साथ-साथ राजा ने एक जूता बनाया है। इसको पहनकर लैंडमाइंस से बचा जा सकता है। एक्सपेरिमेंट के दौरान राजा राम ने जूता पहना। माइंस के ऊपर पैर भी रखा। लेकिन, माइंस ब्लास्ट नहीं हुई। चंद सेकेंड बाद भास्कर के रिपोर्टर ने उस माइंस के ऊपर पैर रखा। माइंस में सेट पटाखा वाला बम लाइव कैमरे पर ब्लास्ट हो गया।

राजाराम ने इसी साल 10वीं की परीक्षा पास की है। उनसे सरकार से अपनी डिवाइस के लिए मदद मांगी है।
राजाराम ने इसी साल 10वीं की परीक्षा पास की है। उनसे सरकार से अपनी डिवाइस के लिए मदद मांगी है।

राजा राम ने बताया कि सारा कमाल उस जूते का है,उस जूते में मैने एक डिवाइस लगाई गई है, जिसके बारे में मैं नहीं बताऊंगा। अगर सरकार मुझे प्लेटफार्म दे तो मैं देश के जवानों के लिए वैसे हजारों जूते बना सकता हूं। इसको पहनने के बाद जवान माइंस पर पैर रखेंगे तो कुछ भी नहीं होगा। लेकिन, आतंकवादी के पैर रखते जोर का धमाका होगा।

सरकार से आर्थिक मदद की गुहार

राजा राम ने बिहार और केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा है कि मैं बहुत कुछ बना सकता हूं। लेकिन मेरे पास पैसे नहीं है। मेरे पिता अभय राम मजदूरी करते हैं। सरकार मुझे आर्थिक मदद दे तो मैं देश के लिए कुछ कर सकता हूं।