पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छात्राओं का आरोप- प्रैक्टिकल में पैसे पर करते हैं पास:भागलपुर के SM कॉलेज का मामला, अनशन कर रही छात्राओं से प्रिंसिपल बोले- बिहार बोर्ड ने बना दिया है दलाल

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भागलपुर के SM कॉलेज में धरना पर बैठे छात्र और छात्राएं। - Dainik Bhaskar
भागलपुर के SM कॉलेज में धरना पर बैठे छात्र और छात्राएं।

भागलपुर के SM कॉलेज में इंटर प्रैक्टिकल परीक्षा में कम अंक मिलने से फेल हुईं छात्राएं कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्शन कर रही हैं। वे आमरण अनशन पर हैं। छात्राओं का आरोप है कि भौतिकी विषय के एक शिक्षक द्वारा ₹2000 की मांग की गई थी। जिन छात्राओं ने पैसे दिए उन्हें पास कर दिया गया और जिन्होंने पैसे नहीं दिए उन्हें बहुत ही कम नंबर दिए गए जिसकी वजह से अन्य विषयों में ज्यादा अंक रहने के बावजूद वे फेल हो गईं। वहीं, कॉलेज के प्राचार्य ने पैसे मांगे जाने की बात से इनकार किया। साथ ही कहा कि जिन छात्राओं को कम नंबर आए हैं, वे पटना में बिहार बोर्ड के ऑफिस में जाएं। यहां बोर्ड का कोई कर्मचारी नहीं है। बिहार बोर्ड ने हम लोगों को दलाल बना कर रख दिया है।

इस बाबत जमालपुर गोगरी की छात्रा समीक्षा कुमारी ने बताया कि SM कॉलेज में जिस वक्त प्रायोगिक परीक्षा चल रही थी उस वक्त परीक्षा लेने के क्रम में ही भौतिकी के शिक्षक द्वारा 2 हजार रुपये की मांग की गई थी। मेरी तरह जिन लड़कियों ने पैसे नहीं दिए उन्हें भौतिकी की प्रायोगिक परीक्षा काफी कम अंक दिए गए। किसी को 5, किसी को 6 तो किसी को मात्र 9 अंक दिए गए। समीक्षा ने बताया कि उन्हें 500 में कुल 302 अंक आए हैं। भौतिकी की थ्योरी में 48 जबकि प्रायोगिक विषय में मात्र 9 अंक मिले हैं।

बांका की खुशी ने बताया कि मुझे कुल 297 अंक आए हैं। भौतिकी की थ्योरी में 40 जबकि प्रायोगिक में मात्र 8 अंक मिले हैं। अगर मैंने पैसे दिए होते तो मुझे भी 28 अंक मिल जाते और मैं भी पास हो जाती। छात्राओं का कहना है कि इस मामले में कोई कुछ भी बोलने के लिए सामने नहीं आ रहा है। उन्होंने बताया कि यह संकट लगभग 40 लड़कियों पर आया है। इसको लेकर प्राचार्य से लेकर DM तक दौड़ लगा चुके हैं, लेकिन क्या करें, कोई कुछ सुनता ही नहीं है। अब थक हार कर महाविद्यालय में ही बुधवार से आमरण अनशन पर बैठ गई हैं।

धरने पर बैठीं छात्राओं ने बताया कि यह कितनी शर्म की बात है कि हमलोग कल 11 बजे दिन से ही धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं और प्रिंसिपल ने शौचालय बंद करवा दिया। यहां तक कि पानी पीने से भी रुकवा दिया गया।

इस मामले में जब प्राचार्य रमन सिन्हा से बात की गई तो उन्होंने छात्राओं से पैसे लेने की बात से इनकार किया। कहा कि छात्राओं ने पैसे मांगने की शिकायत पहले क्यों नहीं की। रिजल्ट निकलने के बाद क्यों कर रही हैं। शौचालय बंद करवाने के सवाल पर कहा कि कॉलेज में बाहरी लोग चले आते हैं इसलिए शौचालय बंद करवाया गया है।

छात्राओं का कहना है कि जब वे प्राचार्य से मिलने गईं तो प्राचार्य ने कहा कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने पूरे बिहार के प्रिंसिपल को एजेंट बनाकर रखा है। उन्होंने कहा कि मैं दावे के साथ कहता हूं कि बिहार बोर्ड का एक भी कर्मचारी किसी कॉलेज में नहीं है। जितना है विश्वविद्यालय का वेतनभोगी कर्मचारी है या आउटसोर्सिंग से आया डेली वेजेज वाला कर्मचारी है। वह रोज काम करता है, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति उसका पैसा देती है क्या?

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें