भागलपुर स्मार्ट सिटी के CEO ने दिया इस्तीफा:प्रधान सचिव ने ठेकेदारों से संबंध का लगाया आरोप तो बैठक छोड़ कर चल दिए, अगले दिन नगर आयुक्त को भेज दिया त्यागपत्र

भागलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भागलपुर स्मार्ट सिटी के CEO संजीत कुमार पाण्डेय । - Dainik Bhaskar
भागलपुर स्मार्ट सिटी के CEO संजीत कुमार पाण्डेय ।

उपमुख्यमंत्री सह नगर विकास मंत्री तार किशोर प्रसाद ने भागलपुर आते के साथ ही यह आश्वस्त किया कि स्मार्ट सिटी का काम अब तेज रफ़्तार से चलते हुए अपने निर्धारित समय पर पूरा हो जाएगा, लेकिन अचानक स्मार्ट सिटी के काम में ब्रेक लग गया है। दरअसल स्मार्ट सिटी के CEO ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया है। इस बात की पुष्टि करते हुए नगर आयुक्त प्रफ्फुलचन्द यादव ने बताया कि स्मार्ट सिटी के CEO संजीत कुमार पाण्डेय ने नगर आयुक्त को 20 जुलाई को मेल कर के अपना त्यागपत्र भेजा था, जो शुक्रवार को स्वीकृत कर लिया गया।

क्या है कारण

सूत्रों की मानें तो कुछ दिन पहले नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर के साथ उनकी बैठक चल रही थी। बैठक के दौरान प्रधान सचिव आनंद किशोर ने उनसे ठेकेदारों के साथ नजदीकी सम्बन्ध होने के बारे में सवाल किया। स्मार्ट सिटी के CEO संजीत कुमार पाण्डेय ने इस बात से इनकार करते हुए कहा कि मैं अपना काम बिलकुल साफ़-सुथरा करता हूं| उन्होंने यह भी कहा कि मैं न तो किसी ठेकेदार से मिला हूं और न ही मिलना पसंद करता हूं। उन्हें लगा कि प्रधान सचिव का यूं कहना उनके मान-सम्मान पर हमला है, ऐसा सोचकर वे उसी समय बैठक छोड़कर चले गए। बात यहीं पर खत्म नहीं हुई, बल्कि बैठक से उठकर जाते ही उन्हें इसके लिए शोकॉज भी किया गया, जो आग में घी डालने का काम किया। इसी अपमान की वजह से उन्होंने 20 जुलाई को नगर आयुक्त प्रफ्फुलचन्द यादव को मेल कर अपना त्यागपत्र भेज दिया। उन्होंने अपने मेल में लिखा है कि वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा न सिर्फ मेरा अपमान किया गया, बल्कि मेरी ईमानदारी पर भी हमला हुआ है, इसलिए मैं अपना त्यागपत्र देता हूं।

उपमुख्यमंत्री के आने का किया जा रहा था इन्तजार

सूत्रों की मानें तो चूंकि भागलपुर में उपमुख्यमंत्री के आने का कार्यक्रम था, इसलिए नगर आयुक्त प्रफ्फुलचन्द यादव के निवेदन पर वो रुके रहे। उप मुख्यमंत्री के जाते ही उन्होंने भागपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड से अपना नाता तोड़ लिया।

खबरें और भी हैं...