• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Bhaskar Exclusive Municipal Corporation Is Being Charged With Corruption, The Corporation Sent Rs 1,62,488 To The Account Which Is Not Related To The Corporation

भागलपुर नगर निगम में चल रहा भ्रष्टाचार का खेल:जिसका निगम से नहीं है कोई वास्ता, उसके एकाउंट में भेजे जा रहे थे पैसे; पेट्रोल पंप कर्मचारी के खाते में भेजे गए 1,62,488 रुपया

भागलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम का फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
नगर निगम का फाइल फोटो

भागलपुर के नगर निगम के खाते से फर्जी भुगतान कर सरकारी खजाने को चुना लगाये जाने का मामला प्रकाश में आया है। जिसका उद्भेदन सबसे पहले भास्कर ने किया है। इस घोटाले में आरोप वर्तमान मेयर सीमा साह के पति और वर्तमान जिला परिषद अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ़ टुनटुन साह पर लगाया गया है। इस सम्बंध में पीड़ित ने जिले के आलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक को आवेदन दिया है, लेकिन असर अब तक बेअसर है। इस खुलासे के सारे तथ्य भास्कर के पास हैं।

क्या है मामला

दिये गये आवेदन में शाहकुंड निवासी अधिकलाल तांती के पुत्र अनिल कुमार तांती ने बताया कि वे जिला परिषद अध्यक्ष अनंत कुमार के पेट्रोल पंप पर जून 2013 से काम करते आ रहे थे। इनका मासिक वेतन 12000 रुपया था लेकिन आईओसीएल और पम्प मालिक टुनटुन साह के कथनानुसार मैनेजर और फील्ड ऑफिसर का वेतन 15189 रुपया होता है। इनके वेतन का भुगतान कभीं नगद तो कभी चेक के माध्यम से होता था। फिर वेतन का भुगतान उनके खाते 11829532444 में किया जाने लगा। खाता में इनका वेतन शुरू होने के साथ ही नगर निगम के अकाउंट से भी इनके अकाउंट में रुपया जाने लगा। इसमें उनकी निर्धारित मजदूरी 12000 रुपया से बढ़कर 15189 रुपया आने लगा। फिर अतिरिक्त पैसा को अनंत कुमार द्वारा नगद निकलवाकर जबरन ले लिया जाता था। 10 अप्रैल 2021 में कोरोना संक्रमित होने के बाद अनिल कुमार तांती ने पेट्रोल पंप पर काम करना छोड़ दिया उसके बाबजूद भी उनके खाते में नगर निगम के खाते से निरंतर पैसे का भुगतान होता रहा। 20 अगस्त को अपने आप को निगम का कर्मचारी शहजाद बताने वाला जिसका मोबाइल न. 8709737538 से मेरे मोबाइल न0 9934045484 पर कॉल कर महापौर पति टुनटुन साह से बात कराया गया और यह कहा गया कि अब तुम हमारे पेट्रोल पंप पर काम नहीं करते हो इसलिए नगर निगम के खाता से आपके खाते में जितनी राशि गयी है वह नगद निकाल कर मेरे पास पहुंचा दो। उन्होंने बताया कि 10 दिसम्बर 2019 से 19 अगस्त 2021 तक नगर निगम के खाते से मेरे एसबीआई के खाते में 1,62,488 रुपया आया है।

पीड़ित को धमकी के साथ की गयी मारपीट

अनिल कुमार तांती ने भास्कर को बताया कि मैं काफी भयभीत हूं। चूंकि यह मामला सरकारी राशि से जुड़ा हुआ है। अनिल कुमार ने बताया कि इससे पूर्व भी 8 और 9 जुलाई 2021 को पैसे की मांग को लेकर मुझे बुलाकर रूम में बन्द कर मेरे साथ जाति सूचक शब्द का प्रयोग करते हुए मेरे साथ मारपीट की गई थी। पीड़ित ने बताया कि जिस तरह के हालात हो रहे हैं और जिस तरह से मुझे लगातार धमकियां मिल रही हैं ऐसे में मेरी हत्या हो जाना कोई बड़ी बात नहीं है।

न्याय के लिए जिला से लेकर सीएम तक लगायी गुहार

पीड़ित ने बताया कि इस बात की शिकायत मैंने एससीएसटी थाना से लेकर जिला के पुलिस पदाधिकारी और सीएम तक से गुहार लगाया लेकिन कहीं कुछ होता नही दिख रहा |

इन लोगों के अकाउंट में भी आया है पैसा

पीड़ित के द्वारा दिये गये आवेदन में यह बताया गया कि उसे मिलाकर कुल 9 लोगों को नगर निगम के द्वारा भुगतान करने की जानकारी है । इस लिस्ट में अनिलकुमार तांती के अलावे चेयरमैन का निजी बॉडीगार्ड मो0 अख्तर, बॉडीगार्ड का भाई मो0 केशर, बॉडीगार्ड की बेटी अंजुम परवेज, मो0 नजरुल, माँ मोटर्स का स्टाफ लाल बहादुर सिंह, पूर्व मिस्त्री अनिल कुमार, घरेलू स्टाफ गणेशी यादव और दीपक सिंह शामिल हैं | अनिल कुमार ने बताया कि इनलोगों के अलावा कई और लोगों के खाते में भी फर्जी भुगतान कराकर भागलपुर नगर निगम को चूना लगाया गया है जो जांच के उपरांत स्पष्ट होगा ।मजे की बात यह है कि इनमें से कोई भी व्यक्ति नगर निगम के कर्मचारी नही हैं।

इनको जानिए ये कौन हैं

शहजाद – शहजाद स्वास्थ्य प्रभारी और निगम के हेड क्लर्क रेहान के कार्यालय में एक कंप्यूटर ओपरेटर है। जानकार बताते हैं कि बड़ा बाबू(रेहान) के कहने पर ही सज्ज्जद के द्वारा अनिल कुमार को फोन कर पैसे की मांग की गयी थी। सहजाद पूर्व में प्रधानमंत्री आवासीय योजना का डाटा ओपरेटर था, लेकिन वहां पर उसका काम संदिग्ध पाए जाने के कारण सहजाद का स्थानांतरण रेहान के कार्यालय में कर दिया गया ।

मो. नजरुल - आरोपी टुनटुन साह के घर के सामने स्थित नजरुल इलेक्ट्रोनिक्स का मालिक।

लाल बहादुर सिंह- माँ मोटर्स हीरो शो रूम संचालक टुनटुन साह का स्टाफ।

मिस्त्री अनिल कुमार- माँ मोटर्स हीरो शो रूम संचालक टुनटुन साह का पूर्व स्टाफ जिसने इसी मामले को लेकर फिलहाल काम छोड़ दिया है।

गणेशी यादव- आरोपी का घरेलू स्टाफ।

दीपक सिंह उर्फ़ दीप नारायण सिंह- ये शाहकुंड अस्पताल का सफाई एवं जेनरेटरकर्मी हैं। विदित हो कि दीपक सिंह, टुनटुन साह के द्वारा सीएचसी में लिए गये पेटी कांट्रेक्टर में किये जा रहे कार्यों की देखभाल करते हैं।

क्या कहते हैं आरोपी

इस सम्बन्ध में आरोपी टुनटुन साह ने भास्कर को बताया कि अनिल कुमार एससीएसटी हैं और वे इसी बात का नाजायज फायदा उठा रहे हैं | टुनटुन साह ने अनिल तांती के सम्बन्ध में बताया कि वे मेरे पेट्रोल पम्प पर मुनीम के तौर पर काम करते थे जिनका समय दो बजे दोपहर से 8 बजे रात्री तक का था | उन्होंने खुद मेरा लगभग 25 लाख रुपया गबन कर लिया है | मांगने पर वो एससीएसटी थाना में केस करने की धमकी देते हैं | जहां तक उनके अकाउंट में नगर निगम का पैसा आने का सवाल है तो यह मामला या तो वो जाने या नगर निगम जाने, मुझे इससे कोई मतलब नहीं है। यह तो जांच का विषय है। अनिल कुमार तांती के अनुसार उनके नम्बर न. 9934045484 पर 8709737538 नम्बर से आने वाले कॉल जिसने अपना नाम शहजाद बताया पर जब भास्कर ने कॉल किया तो इस नम्बर पर बात नहीं हो पाई।

क्या कहते हैं रेहान

इस सम्बन्ध में पूछे जाने पर रेहान ने भास्कर को बताया कि हमारे यहां चार जोनल कार्यालय हैं, जिसमे लगभग 1200 से 1300 कर्मचारी दैनिक पर काम करते हैं। किसी को अपॉइंटमेंट पर नहीं रखा गया है इसीलिए यहां किसी का काम स्थायी नहीं है और यही वजह है कि यहां किसी का लेखा जोखा नहीं है । उन्होंने कहा कि सहजाद फिलहाल मेरे यहां काम नही करता है ।

क्या कहती हैं मेयर

इस बावत भास्कर के पूछे जाने पर मेयर सीमा साह ने बताया कि मुझे इस सम्बन्ध में कोई जानकारी नहीं है।

क्या कहते हैं नगर आयुक्त

इस सम्बन्ध में नगर आयुक्त में प्रफुल्लचंद्र यादव ने बताया कि शहजाद अख्तर अभी भी डाटा ऑपरेटर के रूप में काम कर रहा है | नगर आयुक्त ने बताया कि आप बता रहे हैं तो हम इसकी जांच करवाएंगे और विधि सम्मत कार्यवाई भी की जाएगी |

खबरें और भी हैं...