मायागंज अस्पताल में बनेगा आयुष्मान भारत हेल्प डेस्क:अस्पताल के इमरजेंसी गेट के पास बने कैंटीन के पास बनेगा हेल्प डेस्क, 24 घंटे कर्मचारी रहेंगे और काम करेंगे

भागलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मायागंज अस्पताल। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मायागंज अस्पताल। (फाइल फोटो)

भागलपुर के लोग अब आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का ज्यादा से ज्यादा लाभ ले पाएंगे। दरअसल, आयुष्मान भारत योजना को जन जन तक पहुंचाने के लिए भारत सरकार के द्वारा लोग इसके विषय में ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो सकें, इसके लिए मायागंज अस्पताल में आयुष्मान भारत हेल्प डेस्क का निर्माण होने जा रहा है। इसके लिए अस्पताल के इमरजेंसी गेट के समीप बने कैंटीन के पास बनाने का विभागीय आदेश निर्गत हुआ है। इसका निर्माण BMICL के तहत किया जाएगा। इस संबंध में अस्पताल अधीक्षक डॉ. असीम कुमार दास ने बताया कि इसके लिए विभागीय आदेश आ चुका है| इसे जल्द ही शुरू किया जाएगा।

ये होंगी व्यवस्थाएं

अस्पताल अधीक्षक डॉ. असीम कुमार दास ने बताया कि इस हेल्प डेस्क में 24 घंटे कर्मचारी रहेंगे और कार्य करेंगे। इस काम को पूरा करने के लिए यहां पर चार डाटा ऑपरेटर की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। आगे उन्होंने बताया कि OPD में डॉक्टरों को निर्देश दिया गया है कि जो लोग इलाज करवाने आते हैं उन्हें आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के बारे में जरूर बतावे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग उसे बनवा सकें और उसका लाभ उठा सकें। अस्पताल अधीक्षक ने बताया कि ये डाटा ऑपरेटर स्किम में शामिल होने की शर्तों को ध्यान में रखते हुए लोगों के दस्तावेजों की जांच करेंगे। जो लाभार्थी होंगे उनकी जांच कर उन्हें QR कोड वाला एक पत्र जारी करेंगे, जिसमें पहचान करने के लिए डेमोग्राफिक ऑथेंटिकेशन होगा। यह स्कीम ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के लोगों के लिए होगी।

क्या है आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड

इसके तहत एक परिवार को 5 लाख रूपए का फ्री में हेल्थ इंश्योरेंस मिलता है। इस कार्ड के जरिए कोई भी इंसान किसी गंभीर बीमारी का इलाज 5 लाख रुपए तक फ्री में करवा सकता है।अस्पताल अधीक्षक डॉ. असीम दास ने बताया कि मायागंज में आयुष्मान भारत हेल्प डेस्क का निर्माण होने से बहुत ऐसे लोग लाभान्वित हो पाएंगे, जिन्हें वाकई में इसकी जरूरत है। खासकर मध्यम वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए यह एक सहारा बनेगा।

खबरें और भी हैं...