जिसकी हमेशा मदद की, उसके घर के बाहर मर्डर:बेटी बोली- महिला ने फोन कर बुलाया; फिर मोबाइल ऑफ हुआ, देखने गए तो लहूलुहान पड़े थे

भागलपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मृत रविशंकर सिन्हा। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मृत रविशंकर सिन्हा। (फाइल फोटो)
  • भागलपुर के छत्रपति तालाब मोहल्ले की महिला ने आरोप निराधार बताए
  • महिला पर 3 लाख रुपया कर्ज नहीं लौटाने की मंशा जता रहा परिवार

भागलपुर में जमीन कारोबारी की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। घटना छत्रपति तालाब मोहल्ले की है। बुधवार शाम एक महिला के घर के सामने वे बेहोश पड़े थे। उनके सिर से खून बह रहा था। आननफानन में उनका बेटा स्थानीय लोगों की मदद से घायल को सदर अस्पताल लेकर गया। यहां डॉक्टरों ने हालत गंभीर होने पर घायल को मायागंज अस्पताल भेज दिया। मायागंज अस्पताल में डॉक्टरों ने जमीन कारोबारी को मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। मृतक के बेटे सौरभ कुमार ने एक महिला पर पैसे से लेन-देन में हत्या का आरोप लगाया।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस मृतक के परिजन और आसपास के लोगों से पूछताछ कर रही है। पुलिस के अनुसार, मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। जमीन कारोबारी का बेटा सौरभ स्थानीय दीपा यादव पर हत्या का आरोप लगा रहा है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। मृतक की पहचान खगड़िया के भुजावा गांव निवासी रविशंकर सिन्हा (60) के रूप में हुई है। वे शहर के इशाकचक के शिवपुरी कॉलोनी में किराए के मकान में रहते थे।

बेटे ने कहा- सिर पर पीछे से वार कर मार डाला

सौरभ का आरोप है कि छत्रपति तालाब मोहल्ले की निवासी दीपा यादव ने पिता के सिर में रॉड से वार कर हत्या की है। वे सोने की रिंग, चेन पहने हुए थे। साथ में मोबाइल और 40 हजार कैश के साथ ATM, पैनकार्ड, हाथ में घड़ी, गले में सोने की चेन और अंगूठी भी थी, लेकिन घटनास्थल पर ये सारे चीज गायब थे। सौरभ ने कहा कि पुलिस जल्द से जल्द हत्यारे को गिरफ्तार करें और स्पीडी ट्रायल चलाकर सजा दिलवाएं।

बेटी बोली- पापा को दीपा ने फोन कर अपने घर बुलाया था
मृतक रवि शंकर सिन्हा की छोटी बेटी पूजा सिन्हा ने बताया कि पापा और दीपा यादव दिनेश्वरधाम के पास रहते थे। वहीं, दोनों में परिचय हुआ था। दीपा के पति गुजरात में रहते हैं। दीपा ने बताया कि पापा पिछले कुछ दिनों से काफी परेशान रहते थे। क्योंकि ने उन्होंने दीपा यादव को 3 लाख कर्ज दिया था। वे बार-बार दीपा को कर्ज का पैसा लौटाने को कहते थे। बुधवार दोपहर 2: 30 बजे दीपा ने पापा को कॉल किया। फोन आने के बाद पापा बोले, मैं 5 मिनट में आता हूं। इसके बाद वे कभी नहीं घर नहीं आए तो करीब 3: 22 बजे से लेकर 5: 29 बजे तक उनको लगातार कॉल करती रही, लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ बताता रहा।

पूजा सिन्हा ने कहा कि जब काफी देर तक उसके पापा घर नहीं लौटे तो उसका भाई सौरभ दीपा के घर गया तो उसके ससुर ने कहा कि रवि शंकर सिन्हा यहां आए ही नहीं हैं। सौरभ वापस अपने घर आ गया। पूजा ने बताया कि सौरभ के घर पहुंचते ही दीपा ने उसे कॉल किया कि तुम्हारे पिता मेरे घर के सामने गिर गए हैं, जिन्हें इलाज के लिए ले जाओ। पूजा सिन्हा ने बताया कि सूचना मिलते ही सौरव वापस दीपा के घर पर गया तो देखा कि पापा घायल थे। आननफानन में उन्हें अस्पताल लेकर गए तो डॉक्टरों मृत घोषित कर दिया।

इसी गली में बेहोश पड़े थे जमीन कारोबारी।
इसी गली में बेहोश पड़े थे जमीन कारोबारी।

मृतक के परिजनों को दीपा ने कहा-सड़क हादसे में हुए जख्मी
पूजा सिन्हा ने बताया कि घटना के बाद दीपा बार-बार अपना बयान बदल रही है। पहले फोन पर उसने कहा कि तुम्हारे पिता सड़क हादसे में जख्मी हो गए हैं। फिर जब सौरभ वहां गया तो दीपा ने कहा कि वे छत से गिरकर जख्मी हो गए हैं।

परिजनों ने भास्कर को दिखाए साक्ष्य
परिजनों ने भास्कर को दीपा यादव के खिलाफ कई साक्ष्य दिखाए। परिजनों ने कागज के कई ऐसे टुकड़े दिए जिसमे दीपा यादव द्वारा मोटी रकम लिए जाने की बात रवि शंकर सिन्हा ने खुद लिखे थे। उन कागजों में कुछ कागज के पन्ने हैं तो कुछ अखबार के पन्ने हैं, जिसमें यह दीपा यादव द्वारा पैसे मांगने के संबंध में खुद लिखे हैं।

घरवालों ने दिखाए साक्ष्य।
घरवालों ने दिखाए साक्ष्य।

जमीन कारोबारी होली में भी दीपा के घर गए थे

स्थानीय लोगों का कहना है कि दीपा यादव के पति गुजरात में रहते हैं जो साल भर में कभी एक दो बार आते हैं। शिवाजी कॉलोनी में 2 साल पूर्व तक एक ही बिल्डिंग के अलग-अलग फ्लैट में 3 साल तक दोनों फैमिली रही थी। दोनों परिवार से घरेलू सम्बन्ध था। दोनों के एक दूसरे के घर भी आना जाना था। रवि शंकर की पत्नी का देहांत कई साल पहले ही हो चुका है। होली के दिन भी रवि शंकर सिन्हा दीपा यादव के घर पर होली खेलने आए थे।

दीपा ने कहा- मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं

दीपा ने भास्कर से फोन पर बातचीत के दौरान कहा कि घटना के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है। मेरे मकान मालिक ने मुझे जानकारी दी कि रवि शंकर सिन्हा गली में गिरे पड़े हैं। पड़ोस की एक महिला ने उन्हें बताया कि रवि शंकर सिन्हा को करीब 20 मिनट पहले छत पर देखा गया था। दीपा ने कहा कि वह ग्राउंड फ्लोर पर रहती है। रवि शंकर सिन्हा एक नेटवर्किंग कंपनी से जुड़े थे। मैं भी इसी कंपनी से जुड़ी थी। इसी दौरान उनसे जान पहचान हुई। कर्ज लेने की बात पर दीपा ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई कर्ज रविशंकर सिन्हा से नहीं लिया है। उनके ऊपर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं वह बेबुनियाद और निराधार हैं।

पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट से स्पष्ट होगा मौत का कारण

मोजाहिदपुर के प्रशिक्षु DSP सह थानाध्यक्ष ने कहा कि मामला संदिग्ध है। लोगोंं से पूछताछ की जा रही है। आरोपी और उसके पति से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है। CCTV फुटेज को भी खंगाला जा रहा है।