पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विवाह और भाेज पर भी राेक:छाेटी दाेस्तनी और नरकटिया का पासवान टाेला,यहां काेराेना की नाे इंट्री

भागलपुर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दाेनाें गांव में काेराेना से लड़ाई का एक ही मूलमंत्र न बाहरी लाेग अाएंगे अाैर न गांव के लाेग बाहर जाएंगे

जिले में काेराेना से अब तक 25 हजार से अधिक लाेग संक्रमित हुए। काेराेना से शहर ही नहीं, गांव भी नहीं बच सके हैं। गली-मोहल्लों तक संक्रमण पसरा है। इसके बावजूद जिले के 1515 गांव में दाे गांव ऐसे हैं, जहां जागरुकता ने संक्रमण की इंट्री बैन कर रखी है। इन दोनों गांवों में अब तक एक भी संक्रमित नहीं मिला। गाेराडीह प्रखंड के सारथ डहरपुर पंचायत के वार्ड-14 का छाेटी दाेस्तनी और बिहपुर के लत्तीपुर दक्षिण पंचायत के वार्ड-13 का पासवान टोला के लोगों ने 2020 में ही संक्रमण के खतरे को समझ लिया था। वे सजग और सक्रिय हुए। दाेनाें गांवों ने बाहरी लाेगाें काे गांव में आने से रोका और खुद बाहर जाने से बचे।

ग्रामीण कोरोना गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं। बिना मास्क कहीं नहीं जाते। सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कर रहे हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की टीम अब तक यहां नहीं पहुंच सकी है, लेकिन लाेग सजग हैं और वैक्सीन लेने में भी पीछे नहीं हैं।

दूसरे राज्य व प्रदेश के अलग-अलग हिस्साें में रह रहे लाेगाें काे ग्रामीणाें ने फाेन कर गांव नहीं आने की दी सलाह

गोराडीह प्रखंड के सारथ डहरपुर पंचायत के वार्ड-14 के छोटी दोस्तनी गांव की आबादी 1000 है। 2020 में काेराेना संक्रमण फैलने लगा ताे ग्रामीण हरकत में आ गए। तय किया अब बाहरी लाेगाें काे नहीं आने देंगे। दूसरे राज्य और प्रदेश के अलग-अलग हिस्साें में रह रहे गांव के लाेगाें काे फोन कर गांव न आने की सलाह दी। ज्यादातर लाेग गांव नहीं आए।

गांव के ज्यादातर युवा पीओपी नक्काशी का काम करते हैं। वे गांव से बाहर जाकर काम करते थे। एक-दूसरे के घर आने-जाने से भी परहेज किया। ग्रामीण मलहधर राम, चूल्हाय राम, नाजीराम और उमेश राम ने बताया, सभी लाेग सतर्क हैं। गर्म पानी पीते हैं। दूसरा गांव भी करीब एक किलाेमीटर दूर है। लेकिन वे उस गांव में भी नहीं जाते। वार्ड-14 के सदस्य कृष्णा दास ने बताया, मेरा वार्ड पूरी तरह कोरानामुक्त है। यहां अभी तक कोई भी संक्रमित नहीं हुआ है।

नरकटिया का पासवान टाेला: विवाह और भाेज पर भी राेक
बिहपुर के लत्तीपुर दक्षिण पंचायत के वार्ड-13 का पासवान टोला। यहां ग्रामीणों ने अपने टाेले काे सुरक्षित रखा है। मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हैं। खास यह है कि सामूहिक विवाह व भोज पूरी तरह से बंद कर दिया है। ग्रामीणाें ने बताया, कोरोना की पहली लहर से अब तक इस वार्ड से एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिला है।

बाहर से आने वालों की जांच रिपोर्ट निगेटिव होने के बाद भी 14 दिनाें तक गांव नहीं अाने देते। करीब 500 की आबादी वाले इस गांव में 100 से अधिक लोगों ने जांच कराई, सभी निगेटिव थे। गांव के युवा वैक्सीन लेने में आगे हैं। 18 से 44 आयुवर्ग के 45 लोगों ने वैक्सीन ली है। वार्ड सदस्य मनोज ठाकुर, पिंकी रानी, राजीव ठाकुर, सदानंद सिंह, बचनेश्वर राय अाैर संजीव कुमार राय ने बताया, हमने खुद ही ग्रामीणाें को मास्क बांटे, ताकि संक्रमण राेक सके।

खबरें और भी हैं...