पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जांच के निर्देश:बरारी श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार में वसूली पर सीएम ने लिया संज्ञान, डीजीपी को दिया कार्रवाई करने का निर्देश

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • आरटीआई एक्टिविस्ट अजीत सिंह ने की शिकायत-परिजनाें से 10 से 30 हजार रु. तक लिये जा रहे, घाट पर गिराेह सक्रिय

बरारी श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार में अमानवीयता, पैसे की वसूली, सामग्री व लकड़ियों की दाेगुनी कीमत लेने की शिकायत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संज्ञान लिया है। उन्हाेंने डीजीपी को उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। आरटीआई कार्यकर्ता अजीत कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री व हाईकाेर्ट के मुख्य न्यायाधीश काे मेल कर यहां की स्थिति से अवगत कराया था।

अजीत सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि बरारी श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार के लिए लाेगाें से 10 से 30 हजार रुपए तक लिए जा रहे हैं। यहां एक गिराेह सक्रिय है। शव के घाट पर पहुंचते ही वे साैदेबाजी करने लगते हैं। एक ओर काेराेना से लाेग अपनाें काे गंवा रहे हैं, दूसरी ओर जिले के श्मशान घाटों पर मृतकों के परिजनों को लूटा जा रहा है। मृतक के परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए अपनी बारी का इंतजार भी करना पड़ रहा है।

विद्युत शवदाह गृह की हो जांच

आरटीआई कार्यकर्ता ने कहा है कि गिराेह के लाेगाें के आगे प्रशासन व नगर निगम प्रशासन लाचार दिख रहा है। अंतिम संस्कार में प्रयुक्त सामग्री व लकड़ियों की कीमत भी दोगुनी वसूली जा रही है। पर्याप्त लकड़ी उपलब्ध नहीं रहने पर अक्सर आंशिक रूप से जली हुई लकड़ी से अंतिम संस्कार किया जा रहा है। यहां है विद्युत शवदाह गृह भी अक्सर खराब ही रहता है। यह जांच का विषय है।

खबरें और भी हैं...