पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना फाइटर की कहानी:कोरोना से 70% फेफड़ा हो गया खराब 80 में 75 दिन रहीं ऑक्सीजन पर ही, हौसले से जीत ली जिंदगी

भागलपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बांका सदर अस्पताल की डॉ. इंदुबाला 1 सितंबर को मायागंज में हुई थी भर्ती, आज होंगी डिस्चार्ज

काेराेना काे 15 दिनाें में हराने वाली बांका की डाॅ. इंदुबाला ने ढाई माह में जिंदगी की जंग जीत ली। सबसे ज्यादा दिनों तक मायागंज अस्पताल में भर्ती रहने वाली डॉक्टर ने कोरोना को तो 15 दिनों में ही हरा दिया था। लेकिन उनका फेफड़ा 70 फीसदी तक खराब हो गया था। वे तब से आईसीयू में ही थीं।

जीने के हौसले को बरकरार रखते हुए उन्होंने अस्पताल में गुजारे 80 दिनों में 75 दिन ऑक्सीजन पर ही बिताए। आखिरकार संक्रमण को मात दी। अब उन्हें शुक्रवार को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जाएगा। किसी कोरोना संक्रमित के 80 दिनों तक अस्पताल में रहने का जिले में यह पहला मामला है। इससे पहले सन्हौला के बिहारी साह 41 दिनों तक अस्पताल रहे थे।

कोरोना के नोडल पदाधिकारी डॉ. हेमशंकर शर्मा ने बताया, डॉक्टर 1 सितंबर को अस्पताल में भर्ती हुई थीं। 15 दिनों के इलाज में वे निगेटिव हो गईं, लेकिन उनका फेफड़ा 70 फीसदी तक खराब हो गया था। बांका सदर अस्पताल में पदस्थ डॉ. इंदुबाला का लगातार इलाज चलता रहा। डॉक्टर ऑक्सीजन पर उन्हें ट्रीटमेंट दे रहे थे। प्लाज्मा थेरैपी भी हुई। ऑक्सीजन पर जिदंगी की जंग लड़ रही डॉक्टर ने हौसला नहीं छोड़ा। दवा के साथ आत्मबल ने उनकी हालत में लगातार सुधार करवाया। ऑक्सीजन लेवल 90 फीसद तक पहुंच गया।

डॉक्टर के दो कंपाउंडर की एंटी बॉडी हुई डेवलप
डॉ. हेमशंकर शर्मा ने बताया, महिला डॉक्टर की सेवा में उनके दो कम्पाउंडर जुटे थे। वे इतने दिनों में रहने के बाद भी संक्रमित नहीं हुए। उनकी एंटीबॉडी विकसित हो गई। वे दोनों भी पूरी तरह सुरक्षित हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें