पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अपराधी बेखौफ:बड़े लोगों को निशाना बना रहे साइबर ठग, एक काे भी नहीं खाेज पाई पुलिस

भागलपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • फर्जी फेसबुक अकाउंट, मैसेंजर और ईमेल आईडी बना कर रहे ठगी
Advertisement
Advertisement

शहर के बड़े लोग साइबर अपराधियों के निशाने पर हैं। प्रभारी वीसी, डॉक्टर, प्रोफेसर, कॉलेज के प्रिंसिपल, राजनीतिक दलों की नेत्री आदि का फर्जी फेसबुक अकाउंट, मैसेंजर और ईमेल आईडी बनाकर ठगी का प्रयास किया जा रहा है। कई मामलों में केस भी दर्ज हुआ है। लेकिन अब तक पुलिस बड़े लोगों को निशाना बनाने वाले एक भी साइबर अपराधियों को खोज नहीं पाई है। जांच करने वाले पुलिस अधिकारी तकनीकी रूप से दक्ष नहीं होते हैं। इस कारण पूरी जांच जिला साइबर सेल पर निर्भर रहती है, जिसके पास पहले से ही काम का अतिरिक्त बोझ होता है। साइबर सेल भी जानकारी के लिए फेसबुक, गूगल जैसे कंपनी पर निर्भर रहती है, जिनसे समय पर सूचना शायद ही पुलिस को मिलती है। जिला में साइबर सेल की दो यूनिट काम करती है, जिसमें पुलिसकर्मियों को ही ट्रेनिंग देकर उनसे काम लिया जाता है। अलग से कोई साइबर या टेक्निकल एक्सपर्ट नहीं होते हैं।
झारखंड में यह है व्यवस्था
पड़ोसी झारखंड में सबसे अधिक साइबर क्राइम से जुड़ी घटनाएं होती हैं। इस कारण वहां सरकार ने हर जिले में एक साइबर थाना खोल दिया है। साथ ही हर जिले में एक साइबर डीएसपी की तैनाती की है। साइबर थाना और साइबर डीएसपी सिर्फ साइबर क्राइम से जुड़े मामलों की जांच करते हैं। इसमें पुलिस के साथ टेक्निकल एक्सपर्ट भी है। जयपुर पुलिस भी ठगाें काे पकड़ने के लिए प्राइवेट एक्सपर्ट की मदद लेने की तैयारी कर रही है।

ये हैं प्रमुख केस, जिनका पुलिस नहीं कर पाई खुलासा
1. भाजपा नेता व पूर्व डिप्टी मेयर प्रीति शेखर का फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर महिला और लड़कियों को मैसेज भेजने वालों का पता लगाने में पुलिस अब तक विफल रही है। फेसबुक कंपनी से अब तक उक्त फर्जी प्रोफाइल का डिटेल्स नहीं दिया गया है।
2. नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रदीप सिंहानिया का फर्जी फेसबुक मैसेंजर आईडी बनाकर उनके संपर्क के 15 लोगों से 15-15 हजार मांगे थे।
3. चिकित्सक डाॅ. हेमशंकर शर्मा के नाम से दाे मेल आईडी बनाकर उनके दाेस्ताें से 88 हजार रुपये की मांग साइबर ठगों ने की थी। डाॅ. शर्मा के कांटेक्ट लिस्ट को साइबर अपराधियों ने हैक कर लिया था।
4. टीएमबीयू के प्रभारी वीसी के नाम से विश्वविद्यालय के एक अधिकारी और कुछ शिक्षकों को ठगों ने ई-मेल कर आर्थिक मदद मांगी थी। शिक्षकों ने जब मेल का जवाब दिया तो मेल करने वाले ने उनसे एक ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी का कार्ड उपलब्ध कराने को कहा तो इससे शिक्षकों को शक हुआ था।
5. बीसीई के प्राचार्य डॉ. अचिंत्य के नाम से ठगों ने मेल बनाकर शिक्षकों को मेल कर 15000 की मदद मांगी थी। जिस ई-मेल आईडी से मैसेज आया उसका इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस यूएस का है।

सरकार के इन फैसलाें पर अब तक नहीं हुआ अमल | 2018 में केंद्र सरकार ने निर्णय लिया था कि साइबर क्राइम की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए विशेषज्ञों की नियुक्ति होगी। ये विशेषज्ञ आईआईटी सहित प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों से आईटी एक्सपर्ट होंगे, जो ऑनलाइन फ्रॉड और साइबर टेररिज्म जैसे खतरे को रोकने की पुलिस की मदद करेंगे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement