पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

7 पर केस दर्ज:जेल में बंद इम्तियाज और इजहार हत्या की साजिश में शामिल, मौलानाचक का एक और आरोपी गिरफ्तार

भागलपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बादशाह व नाहिद को मेडिकल जांच के लिए ले जाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
बादशाह व नाहिद को मेडिकल जांच के लिए ले जाती पुलिस।

बियाडा कैंपस में मंगलवार सुबह ठनका गिरने से पेड़ के नीचे खड़े डीएवी कहलगांव के छात्र दिव्यांशु कुमार (19) की मौत हो गई, जबकि उसका दोस्त भास्कर बेहोश हो गया। भास्कर भी डीएवी कहलगांव में पढ़ता है। दोनों 12वीं की परीक्षा दे चुके हैं। दिव्यांशु पक्की सराय का रहने वाला था। भास्कर घोघा का रहने वाला है। दोनाें अपने दोस्त घोघा के प्रीतम को नीट-जेईई की परीक्षा दिलाने बियाडा आए थे।

दिव्यांशु और भास्कर मार्केटिंग के लिए बियाडा से खलीफाबाग चौक जा रहे थे। इसी दौरान बारिश शुरू हो गई तो दोनों भीगने से बचने के लिए एक निजी संस्थान में बने परीक्षा सेंटर के पास पेड़ के नीचे खड़े हो गए। तभी पेड़ पर ठनका गिरा, जिससे दिव्यांशु की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना पर जीरोमाइल थाने के दारोगा अरविंद सिंह पुलिस बलों के साथ मौके पर पहुंचे और भास्कर को इलाज के लिए मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

गिरफ्तार दोनों आरोपियों की हुई मेडिकल जांच, 7 पर केस दर्ज, सभी का रहा है आपराधिक इतिहा

सहुसैनाबाद के मोगलपुरा मोहल्ले में गर्भवती काजल की गोली मारकर हत्या मामले में बबरगंज पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। पकड़ाए आरोपी का नाम मो. नाहिद है, जो मौलानाचक का रहने वाला है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने वारदात के बाद बदमाशों के भागने में प्रयुक्त बाइक को बरामद कर लिया है। इससे पहले पुलिस ने वारदात के तुरंत बाद नामजद आरोपी बादशाह उर्फ शहजादा को गिरफ्तार किया था। दोनों गिरफ्तार आरोपी नाहिद और बादशाह को बबरगंज पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

बादशाह टिंकू मियां के गैंग सदस्य है, जबकि नाहिद कुख्यात अपराधी रहमत कुरैशी का भतीजा। दोनों केस के नामजद आरोपी हैं। इस मामले में मृतका के पिता आरिफ खान ने 7 लोगों पर बबरगंज थाने में बेटी की हत्या और साजिश रचने का केस दर्ज कराया है, जिसमें मोगलपुरा निवासी जेबा, उसका देवर इंतेसार, जेल में बंद पति इम्तियाज, जेल में बंद दूसरा देवर इजहार, शहजादा उर्फ बादशाह, रहमत कुरैशी और नाहिद को आरोपी बनाया है। इम्तियाज और इजहार दोनों कई माह से जेल में बंद हैं। इन दोनों पर काजल की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है।

एफआईआर में टिंकू मियां का नाम नहीं, एएसपी बोले-जांच में जुड़ेगा
आरिफ खान की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी में गैंग के सरगना टिंकू मियां का नाम नहीं है। जबकि वारदात के बाद आरिफ खान ने मीडिया को बयान दिया था जब बेटी की लाश के पास विलाप कर रहे थे तभी टिंकू ने फोन कर मुझे और मेरे बचे परिजनों को जान मारने की धमकी दी थी। लेकिन जब केस करने की बारी में अाई तो आरिफ ने टिंकू मियां के नाम का उल्लेख नहीं किया। उधर, एएसपी पूरन झा ने बताया कि जांच में टिंकू मियां का नाम जुड़ेगा। बता दें कि टिंकू मियां पिछले एक दशक से फरार है। उस पर 25 हजार का इनाम भी घोषित है।

पुलिस को नहीं मिल रहा है अपराधी रहमत कुरैशी
बदमाश रहमत कुरैशी भागलपुर पुलिस की रिकॉर्ड में फरार है। फिर भी लगातार वारदात को अंजाम दे रहा है। जबकि रहमत की गिरफ्तारी को लेकर मोजाहिदपुर पुलिस रोज उसके घर समेत अन्य ठिकानों पर दबिश देती है। लेकिन पुलिस को रहमत नहीं मिला रहा है, लेकिन फरारी अवस्था में वह घटनाओं को अवश्य अंजाम दे रहा है।

रहमत और उसके गैंग को दबोचने के लिए पुलिस प्रभावी कार्रवाई नहीं कर रही है। इस कारण इनका मनोबल बढ़ रहा है। 15 मई 2020 के गैंगवार में अगर रहमत की गिरफ्तारी हो जाती तो न कल्लू पर कातिलाना हमला होता और न ही मीट व्यवसायी से रंगदारी मांगी जाती। लेकिन गैंगवार में शामिल दोनों बदमाश रहमत और छोटू को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई थी। इस कारण फरारी की हालत में रहमत वारदात को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं। अब मोगलपुरा में गर्भवती काजल की हत्या मामले में रहमत नामजद आरोपी बना है।

खबरें और भी हैं...