कोरोना:डीबीए के पदाधिकारी, टीएमबीयू के लेक्चरर व तिलकामांझी के डॉक्टर निकले पॉजिटिव

भागलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 39 नए मरीजों के साथ संक्रमित हुए 721, इनमें 500 मरीजों ने कोरोना को हराया

जिले में मंगलवार काे कोरोना के 39 नए मरीजों की पहचान हुई। सबसे ज्यादा नवगछिया में 16 और भागलपुर शहर में 15 मरीज मिले। इनमें डीबीए के बड़े पदाधिकारी, टीएमबीयू के कर्मचारी, एक डाॅक्टर, कंपाउंडर समेत गाेराडीह पीएचसी की नर्स समेत अन्य संक्रमित मिले। अब जिले में संक्रमितों की संख्या 721 हाे गई है। इस बीच कोविड केयर सेंटर में भर्ती 25 मरीजों ने कोरोना को हराकर जिंदगी की जंग जीती। सभी को डिस्चार्ज कर दिया गया। अब ठीक होकर घर लौटने वालों का आंकड़ा 500 तक पहंुंच गया। इस माह 7 दिनों में ही 148 ने कोरोना को हरा दिया। शहर में ये संक्रमित मुस्लिम हाईस्कूल राेड में एक नर्सिंग हाेम का 50 वर्षीय कर्मचारी, 12 वर्षीय बालक, तिलकामांझी हटिया राेड के 39 वर्षीय डाॅक्टर, 55 वर्षीय अधेड़, 60 वर्षीय वृद्ध, 38 वर्षीय युवक, 72 वर्षीय डीबीए के बड़े पदाधिकारी, 54 वर्षीय अधेड़, 43 व 45 वर्षीय व्यक्ति, टीएमबीयू के 35 वर्षीय लेक्चरर, टीएनबीयू से जुड़े 63 वर्षीय शिक्षाविद, आदमपुर निवासी टीएमबीयू का 34 वर्षीय कर्मचारी, 40 वर्षीय युवक, 35 व 34 वर्षीया एक-एक महिला समेत 38 वर्षीय युवक पॉजिटिव मिले।

प्रधान सचिव बोले-कोरोना से मौत का रिव्यू करें, असिस्टेंट प्रोफेसर इलाज की करेंगे निगरानी

मायागंज अस्पताल में कोरोना मरीजों व संदिग्धों की मौत हाेने पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत ने नाराजगी जताई है। उन्हाेंने अस्पताल प्रशासन से कहा है कि लगातार शिकायत मिल रही है कि काेराेना मरीजाें के इलाज में सिर्फ जूनियर डाॅक्टराें के अलावा, इंटर्न, पीजी स्टूडेंट्स से काम लिया जा रहा है। सीनियर डॉक्टर उन्हें विशेष सुविधा नहीं दे रहे हैं। ऐसे मरीजाें की माैत जटिल बीमारी से हो रही है, इसलिए काेराेना मरीजाें के इलाज में कम से कम असिस्टेंट प्रोफेसर स्तर के डॉक्टर की निगरानी हो। उन्होंने यह भी कहा है कि संबंधित बीमारी के एक्सपर्ट से सलाह लेकर तय प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज करें। इतना ही नहीं, अस्पताल में होने वाली मौतों का रिव्यू सीनियर डाॅक्टराें के ऑटोनॉमस बोर्ड से करवाएं। उसकी कार्यवाही निदेशक प्रमुख रोग नियंत्रण विभाग को मौत के दो दिनों में हर हाल में भेजें।

नाथनगर में किरायेदार के बाद मकान मालिक की मौत से दहशत में लोग
उत्तर टोला में 24 घंटे में एक ही घर में सर्दी-खांसी के लक्षण से दो मौत के बाद क्षेत्र में दहशत है। लोगों ने कोरोना की आशंका जताई है। रविवार रात किरायेदार की मौत के 24 घंटे बाद ही मकान मालिक की भी मायागंज अस्पताल ले जाने के क्रम में मौत हो गई। इसकी जांच को लोगों ने अफसरों को फोन किया, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया।

ये हुए स्वस्थ | भागलपुर के आकाश आनंद, पिंकू कुमारी, मारवाड़ी टोला लेन की दिशा संथालिया, गोपालपुर के चंदन कुमार गोस्वामी, नवगछिया के रंजन कुमार, चंदन कुमार, मंंतोष कुमार पासवान, राजकपूर कुशवाहा व कुणाल गुप्ता, महिला थाना के चुन्नु किस्कू, इस्माइलपुर की चन्नो देवी, मानस दास, बड़ी मकंदपुर के पप्पू पासवान, तातारपुर के एजाज अहमद, नौसरीन एजाज, रायपुर की वंदना कुमारी व सावित्री शर्मा, नारायणपुर के रोशन कुमार, पीरपैंती के रोहित मिश्रा, कुशहा की नायडू कुमारी, कबीरपुर के इमरान दानिश, एकचारी के निरंजन पासवान, संदीप कुमार, राजू तुुरी।

मॉस्क नहीं पहनने वालों से जुर्माना, वीटू मॉल समेत चार दुकानें 3 दिन के लिए सील

भागलपुर | संक्रमण रोकने के लिए मंगलवार को एसडीएम आशीष नारायण व सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने प्रमुख चौक-चौराहों पर मॉस्क की जांच की। मास्क न पहनने वालों से 50 रुपए जुर्माना वसूला। एसडीएम स्तर पर बनी टीम ने 9 दुकानाें में छापेमारी की। भीखनपुर में वी-टू माॅल समेत 4 दुकानाें में मास्क पहनने के नियम के उल्लंघन पर माॅल व दुकानाें काे सील कर दिया। बड़ी खंजरपुर में साेनू स्टाेर, सुमांगी मेडिकल हॉल, भीखनपुर में आफरीन स्टोर काे 3 दिनाें के लिए बंद कराया। 15 लाेग बिना मास्क के पकड़ाए। उनसे 750 रुपए जुर्माना लिया। वी-टू माॅल में तीन लाेग बिना मास्क मिले, उनसे 150 रुपए वसूले। मॉल को 3 दिन के लिए बंद कराया। डीएसपी ने बताया, बिना मॉस्क के ग्राहकों को खरीदारी नहीं करने देना है। करीब 40 लोगों से जुर्माना वसूला गया।

खबरें और भी हैं...