पूर्णिया में मेयर चुनाव को लेकर डिजिटल वार शुरू:कई क्षेत्रों के दिग्गज पहली बार आजमाएंगे किस्मत, सोशल मीडिया पर माहौल बनाना शुरू; समर्थक बता रहे खूबी और खामी

भागलपुर16 दिन पहलेलेखक: अमित रंजन
  • कॉपी लिंक
नगर निगम पूर्णिया। - Dainik Bhaskar
नगर निगम पूर्णिया।

158 साल पुराने नगरपालिका फिर नगर परिषद और अब नगर निगम पूर्णिया का इस बार माहौल और फिजा दोनों बदला हुआ है। क्योंकि नगर निगम चुनाव का बिगुल बज चुका है। स्थानीय निकाय की सरकार बनने के लिए कई उम्र के उम्मीदवार इस बार मैदान में है। बात करें पूर्णिया नगर निगम की इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प होने वाला है। इस बार कई स्वघोषित उम्मीदवार तैयारी में जुट गए हैं।

इसमें छात्र नेता, युवा नेता, समाजसेवी, वरिष्ठ डॉक्टर, बड़े व्यवसायी, बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष, बीजेपी के वरिष्ठ नेता, जदयू के प्रदेश स्तर के नेता, पूर्व मेयर के रिश्तेदार, पूर्व पार्षद सहित लगभग दर्जन भर उम्मीदवार प्रचार प्रसार में जुट गए हैं। कईयों ने तो डिजिटल मीडिया पर अपना जमकर प्रचार प्रसार शुरू कर दिया है। कई उम्मीदवारों के सहयोगियों ने फेसबुक,वाट्सएप ग्रुप और सामाजिक कार्य में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेकर खुद की दावेदारी को और मजबूत दिखाने में लग गए हैं। ऐसे में इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प होने वाला है।

फेसबुक पर मेयर उम्मीदवार को लेकर पूछा गया प्रश्न।
फेसबुक पर मेयर उम्मीदवार को लेकर पूछा गया प्रश्न।

पहली मतदाता मेयर और डिप्टी मेयर का करेंगे चुनाव

पूर्णिया नगर निगम बने 158 साल हो गया है। 1864 में पहले नगरपालिका फिर नगर परिषद इसके बाद नगर निगम।नगर निगम के इतिहास में पहली बार जनता अपने नगर की सरकार के प्रमुख का चुनाव खुद करेगी। इससे पहले जनता वार्ड पार्षद का चुनाव करती थी, इसके बाद पार्षद मेयर को चनते थे। इस चुनाव में धन के साथ बल का काफी प्रयोग होता है। चुनाव जीतने वाले पार्षदों की चांदी रहती थी। सेर सपाटे के साथ खूब खातिरदारी होती थी। लेकिन इस बार जनता अपने नगर की सरकार के मुखिया का चुनाव खुद करेगी।

मेयर चुनाव को लेकर एक समर्थक की जारी उम्मीदवारों की सूची।
मेयर चुनाव को लेकर एक समर्थक की जारी उम्मीदवारों की सूची।

1770 में बना था पूर्णिया जिला, 1864 में नगरपालिका का गठन

पूर्णिया जिला भारत के सबसे पूराने जिलों में से एक है। बिट्रिश शासन में 1770 में जिला बना था। जीजी डुकटेल पहले कलेक्टर थे। इसके बाद 1864 में पूर्णिया नगरपालिका का गठन हुआ। इसके पहले अध्यक्ष जान विम्स बने थे। सन 2001 तक यह नगरपालिका के रुप में ही कार्यरत रहा। 2002 में इसे नगर परिषद का दर्जा मिला और फिर 2002 में इसे नगर निगम बना।

46 वार्ड व लगभग 3 लाख है नगर निगम की आबादी
पूर्णिया नगर निगम बिहार का पांचवा बड़ा निगम है। पूर्णिया नगर निगम में कुल 46 वार्ड है। बात करें जनसंख्या की तो 2011 की जनगणना के मुताबिक यहां की जनसंख्या लगभग 3 लाख है। इसमें पुरुष और महिलाओं की भागीदारी लगभग बराबर है। 2011 की जनगणना के अनुसार नगर निगम की आबादी 282248 है। इसमें पुरुष 148077 और महिला 134171 है। यानी महिला जिनके साइड हुई वह प्रत्याशी बाजी मार सकता है।

खबरें और भी हैं...