लापरवाही:सावन में दलदली होंगे रास्ते, डंपिंग ग्राउंड तक नहीं जा सकेंगी गाड़ियां, शहर में फैलेगा कचरा

भागलपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डंपिंग ग्राउंड में प्लेटफॉर्म न बनने से मुश्किल से पहुंच रहीं कचरा गाड़ियां, बारिश में ये रास्ते होंगे बदहाल, दलदलभरी राह में फंसेंगी गाड़ियां। - Dainik Bhaskar
डंपिंग ग्राउंड में प्लेटफॉर्म न बनने से मुश्किल से पहुंच रहीं कचरा गाड़ियां, बारिश में ये रास्ते होंगे बदहाल, दलदलभरी राह में फंसेंगी गाड़ियां।

सावन में होने वाली तेज बारिश में शहर में कचरा पसरेगा। नगर निगम के जिम्मेदारों की लापरवाही से रोजाना निकलने वाला 250 टन कचरा कनकैथी डम्पिंग ग्राउंड नहीं जा सकेगा। 20 दिन पहले डीएम सुब्रत कुमार सेन के निर्देश के बाद निगम ने डंपिंग ग्राउंड तक 7 दिन में ही पीसीसी एप्रोच रोड बना दिया। लेकिन यहां से घूमने वाली गाड़ी के लिए अब तक प्लेटफॉर्म ही नहीं बनाए।

महज तीन लाख के छोटे प्रोजेक्ट भी निगम पूरा नहीं कर पा रहा है। नतीजा, बारिश में डम्पिंग ग्राउंड में दलदल जैसी स्थिति होगी। गाड़ियां फंस जाएंगी। ऐसे में शहर से कचरा तो उठेगा, लेकिन यह डम्पिंग ग्राउंड की बजाय शहर से लगे क्षेत्र में जहां-तहां पहले ही तरह फेंके जाएंगे। हालात बदतर होंगे।
इसलिए मामला अटका
सूत्रों की माने तो पीसीसी एप्रोच रोड जिस ठेकेदार से निगम ने बनवाया, उसे ही प्लेटफॉर्म बनाने की जिम्मेदारी निगम की योजना शाखा ने दे दी। ठेकेदार ने पहले तो काम ले लिया। लेकिन बाद में उसने आकलन किया तो पता चला, तीन लाख रुपए के काम के लिए मैटेरियल जुटाने और ले जाने में ही ज्यादा खर्च होगा। ऐसे में उसने काम छोड़ दिया। अब निगम ठेकेदार से मिन्नतें कर रहा है।

ठेकेदार ने प्लेटफॉर्म बनाने में खड़े कर दिए हाथ, अब निगम कर रहा है मिन्नतें

क्या हाेगी दिक्कत
बारिश में कचरा डंप करने वाले स्थान पर दलदल जैसी स्थिति होगी। कचरा गाड़ी वहां तक नहीं जा सकेगी। यहां गाड़ी को घूमने के लिए सूखे स्थान तक आना होगा, लेकिन यहां रास्ता न होने से गाड़ी नहीं जा सकेगी। ऐसे में यहां रोजाना कचरा डंप करना मुश्किल होगा। इस स्थिति में शहर से रोज निकलने वाला 250 टन कचरा स्थानीय इलाके में ही फिर से डंप करना पड़ेगा।

ये है कमी
51 वार्डाें के लिए दौड़ने वाले 48 अाॅटाे ट्रिपर में 6 हो गए खराब
ट्रिपर में लगे जंग से हुए छेद से कचरा उठाते ही गिरने लगता है।
डाेर-टू-डाेर कचरा उठाने के लिए 75 हजार घराें में डस्टबिन नहीं
कचरे से खाद बनाने को दो प्लांट लगाए, पर नहीं निकला नतीजा
कचरा उठाव के समय की नहीं होती निगरानी, व्यवस्था ध्वस्त
नाला उड़ाही के लिए दाे बड़े वैन हैं पर नहीं होता उसका इस्तेमाल
वार्डाें में ठेले से लेकर लाठी-डंडे व झाडू तक की है है कमी

डंपिंग ग्राउंड में कचरा लेकर जाने वाली गाड़ी के लिए प्लेटफाॅर्म बनाने की जिम्मेदारी नगर अायुक्त की है। डीएम ने 20 दिन पहले ही काम कराने को कहा था। इसके बाद सिर्फ एप्राेच राेड बना। बाकी काम के बारे में मुझे किसी ने नहीं बताया। नगर आयुक्त से काम करवाने को कहूंगी।
- सीमा साहा, मेयर

डंपिंग ग्राउंड में कचरा गाड़ी के लिए प्लेटफाॅर्म बनाने के लिए योजना शाखा से कहा था। अब तक क्यों नहीं बनाया, इसकी जानकारी लूंगा। दोबारा निर्देश देंगे कि 8 दिन में काम पूरा करें।
- प्रफुल्लचंद्र यादव, नगर आयुक्त

खबरें और भी हैं...