आंदोलन का तैयारी:अंगिका के मातृभाषा काेड के लिए घर-घर जाकर किया संपर्क

भागलपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अंगिका के मातृभाषा कोड के लिए कांग्रेस इंटक ने अंगिका आपके द्वार कार्यक्रम के तहत गुुरुवार काे सबौर में घर-घर जाकर ग्रामीणों से संपर्क कर समर्थन मांगा। प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष ओम प्रकाश उपाध्याय के नेतृत्व में चलाए गए अभियान में ग्रामीण युवाओं ने अपने हाथों में तख्तियां बना अंगिका के लिए स्लोगन लिखे।

ओम प्रकाश उपाध्याय ने ग्रामीणों को समझाते हुए कहा कि भाषा वही जीवित रहती है जिसका प्रयोग जनता करती है। आज अपने राज्यों में लोगों के बीच संवाद का सबसे बेहतर माध्यम अंगिका भाषा है, इसलिए इसको एक-दूसरे के साथ साझा कर प्रचारित अाैर प्रसारित करें।

समाजसेवी विवेकानंद ने कहा, किसी भी भाषा का उत्थान और पतन इस बात पर निर्भर करता है कि उसे बोलने वाले क्या रचते और बुनते हैं। मनीष कुमार ने कहा कि अंगिका के सम्मान में इस अभियान में ग्रामीण युवाओं का सहयोग रहेगा।

शिवशंकर दास ने कहा कि ग्रामीण कड़ी मेहनत करेंगे। इसके लिए सड़क से संसद तक आंदोलन करेंगे। अभियान में जगदीशपुर के सामाजिक कार्यकर्ता रामप्रवेश सिंह, दिलीप घोष, किशोरी, धनंजय ठाकुर, शिक्षाविद विपुल कुमार त्रिपाठी, विकास पासवान, मनोज कुमार, दिनेश कुमार, हरिशंकर यादव, रामगोपाल यादव, मनीष कुमार, अधिवक्ता शहबाज खान, मंटू यादव अाैर अन्य कार्यकर्ता शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...