शराब तस्करी के दोषी को 5 साल सश्रम कारावास:उत्पाद कोर्ट ने सुनाई सजा, एक लाख जुर्माना भी लगाया

भागलपुर3 महीने पहले
सजा की सुनवाई के बाद कोर्ट से निकलता दोषी।

भागलपुर में शराब तस्करी के एक मामले में दोषी पाए गए अभियुक्त को उत्पाद मामले के विशेष कोर्ट ने पांच साल सश्रम कारावास के साथ एक लाख रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है। अर्थदंड की राशि भुगतान नहीं करने पर छह माह अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी पड़ेगी। गवाहों के बयान एवं सजा की बिंदु पर सुनवाई के बाद उत्पाद कोर्ट टू के विशेष न्यायाधीश एडीजे 12 शरत चंद्र श्रीवास्तव ने सजा सुनाई।

इस संबंध में उत्पाद कोर्ट के विशेष लोक अभियोजक भोला कुमार मंडल ने बताया कि 20 दिसंबर 2021 को तड़के करीब साढ़े तीन बजे रात्रि गस्ती के क्रम में तिलकामांझी पुलिस ने मनाली चौक पर सुधा डेयरी के समीप तीन युवकों को संदिग्ध हालत में चार बैग के साथ खड़े देखा। पुलिस तीनों से पूछताछ करने पहुंची, तो दो युवक पुलिस को अपनी ओर आते देख मौके से भाग खड़े हुए, जबकि एक युवक को पुलिस ने खदेड़ कर पकड़ लिया। उसके पास से 131 बोतल में करीब 98 लीटर विदेशी शराब बरामद हुए थे।

गिरफ्तार अभियुक्त झंडापुर बिहपुर निवासी रोहित कुमार के खिलाफ तिलकामांझी थाना में मद्य निषेध एवं उत्पाद अधिनियम में दर्ज कांड संख्या 862/21 दर्ज किया गया था। वहीं, उत्पाद कोर्ट टू में जीआर संख्या 1521/21 के तहत सबूतों और गवाहों की बिंदु पर वाद के विचारण उपरांत मंगलवार को विशेष न्यायाधीश एडीजे 12 शरत चंद्र श्रीवास्तव ने उत्पाद अधिनियम 30 ए के तहत दोषी अभियुक्त को सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...