पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:लोकमानपुर व सिंहकुंड के बाढ़ पीड़ितों को अब तक नहीं मिली नाव

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोसी के जलस्तर में वृद्धि जारी, अब नए इलाकों में फैल रहा बाढ़ का पानी, घरों में कैद है 2000 की आबादी

उफनाई कोसी के जलस्तर में वृद्धि का जारी है। इससे अब खरीक प्रखंड के गई गांवों समेत खेत-खलिहान में पानी फैलने लगा है। बाढ़ के पानी से पूरी तरह जलमग्न लोकमानपुर पंचायत के लोकमानपुर और सिंहकुंड गांव के लोगों को भारी परेशानियाें का सामना करना पड़ रहा है। चारों ओर पानी से घिरे दोनों गांव की महिलाएं इस बार रक्षाबंधन के अवसर पर अपने भाई को राखी बांधने मायके नहीं जा सकीं। वहीं बाढ़ प्रभावित परिवारों के सामने खाना-पीना से लेकर मवेशियों का चारा का प्रबंध नहीं हो पाया है।

लोगों की जिंदगी स्थिर सी हो गई है। लोग चौकी, मचान समेत अन्य ऊंची जुगाड़ सिस्टम के भरोसे भूखे-प्यासे जीने को विवश हैं। वहीं बिहपुर प्रखंड के हरियो पंचायत के गोविंदपुर, कहारपुर और आहुति गांव के बाढ़ प्रभावित परिवारों का भी यही हाल है।

कदवा के ग्रामीणों ने आवागमन के लिए भराेसा सिंह टाेला में बनाया चचरी पुल
नवगछिया| कदवा दियारा पंचायत के भरोसा सिंह टोला शिव मंदिर के समीप बाढ़ के पानी से पीसीसी पथ टूटने के बाद वहां के ग्रामीणों को किसी भी पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों मदद नहीं मिला तो अंत में उन्हाेंने खुद आवागमन के लिए चचरी पुल बनाया। पीसीसी पथ ध्वस्त होने से गांव का संपर्क फोरलेन सड़क से भंग हो गया था। ग्रामीणों ने इसकी सूचना नवगछिया के पदाधिकारियों व पंचायत के जनप्रतिनिधियों को दी थी। लेकिन कहीं से कोई मदद नहीं मिली। अंत में भरोसा सिंह टोला के ग्रामीणों ने टूटी सड़क के बीच पानी के तेज बहाव में रातों-रात बांस बल्ली के सहारे चचरी पुल बना लिया। जिस होकर सिर्फ पैदल राहगीर आवागमन कर रहे हैं।

बाढ़ पीड़ितों को जल्द राहत सामग्री नहीं मिली तो करेंगे आंदोलन : राजद
नवगछिया| युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अरुण कुमार यादव ने कहा है कि नवगछिया अनुमंडल के रंगरा प्रखंड के मदरौनी पंचायत, नवगछिया के पकरा टोला, भरोसा सिंह टोला, गुरुस्थान, ठाकुर जी कचहरी टोला, कदवा दियारा और ढोलबज्जा पंचायत के दर्जनों गांव कोसी नदी की बाढ़ के चपेट में हैं। लेकिन अब तक सरकारी स्तर से बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री मुहैया नहीं करायी गयी है। उन्होंने बिहार सरकार से बाढ़ पीड़ित परिवारों को तत्काल सूखा राशन, पीने का जल, जरूरत की दवाइयां, पॉलीथिन, सामुदायिक किचन एंव पशु के लिए चारा का व्यवस्था मुहैया करवाने की मांग की है। वहीं खरीक के लोकमानपुर, सिहकुंड और बिहपुर के हरियो पंचायत के कई गांव के बाढ़ पीड़ितों की सरकारी उदासीनता के चलते दयनीय स्थिति है। अनुमंडल के हजारों बाढ़ पीड़ित सड़क किनारे और बांध पर रहने को मजबूर है। दो दिन में अगर बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री मुहैया नहीं कराई गई तो राजद आंदोलनक करेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें