पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Graduation Session Has Become 16 Months Late, 49 Thousand Students Missed Job Opportunities, Third Part Examination Did Not Take Place Despite Filling The Form In TMBU Twice.

कोरोना का असर:स्नातक का सत्र 16 माह हो गया लेट, 49 हजार छात्र नौकरी के अवसर से चूक गए, टीएमबीयू में दाे बार फाॅर्म भराए जाने के बावजूद नहीं हुई थर्ड पार्ट की परीक्षा

भागलपुरएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टीएमबीयू (फाइल फोटो)
  • मार्च में होनी थी पार्ट थ्री की परीक्षा, पहले काेराेना और अब इच्छाशक्ति ने लटकाया
  • टीएमबीयू की परीक्षा में मुंगेर विवि के छात्र भी अंतिम बार हाेंगे शामिल

(अभिषेक) टीएमबीयू में स्नातक का सत्र 16 महीने लेट हाे चुका है। विश्वविद्यालय ने अब तक परीक्षा की तिथि तक तय नहीं की है। स्नातक में थर्ड पार्ट के बाद ही छात्र पीजी की पढ़ाई या किसी अच्छे जाॅब के लिए आवेदन कर सकते हैं। लेकिन टीएमबीयू में थर्ड पार्ट की परीक्षा दाे बार फाॅर्म भराए जाने के बावजूद नहीं ली जा रही है।

पहली बार मार्च में परीक्षा फाॅर्म भराया गया था। उसी बीच लाॅकडाउन हाे जाने से कुछ छात्र फाॅर्म भरने से वंचित हाे गए थे। ऐसे छात्राें का फाॅर्म अगस्त में भरवाया गया। परीक्षा में इस बार अंतिम दफे मुंगेर विश्वविद्यालय के छात्र भी शामिल हाेंगे। दाेनाें विश्वविद्यालय काे मिलाकर 49 हजार छात्र परीक्षा की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

टीएमबीयू पहले कहता रहा कि लाॅकडाउन में काेविड गाइडलाइन का पालन करते हुए इतनी बड़ी संख्या में छात्राें की परीक्षा लेना मुश्किल है। अब लाॅकडाउन खत्म हाे गया है ताे टीएमबीयू चुनाव काे देरी काे कारण बताने लगा है। पार्ट वन और पार्ट टू की परीक्षा के अब तक फार्म भी नहीं भरे गए हैं।

चुनाव खत्म हाेते ही लेंगे परीक्षा
^पहले लाॅकडाउन के कारण बड़ी संख्या वाले काेर्स की परीक्षा नहीं ली जा रही थी। लेकिन अब चुनाव के कारण देरी हाे रही है। वैसे टीएमबीयू ने परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली है। जैसे ही चुनाव खत्म हाेगा, परीक्षा ले ली जाएगी।
-डाॅ. अरुण कुमार सिंह, परीक्षा नियंत्रक

कई वैकेंसी आई, परीक्षा हुई, लेकिन शामिल नहीं हो पाए
सत्र नियमित रहता ताे थर्ड पार्ट की परीक्षा जून 2019 में हाे जाती। लेकिन आठ माह की देरी से इसे मार्च 2020 में लेना तय हुआ था। कैंसिल हाेने के बाद अब तक और आठ महीने की देरी हाे चुकी है। इस दाैरान टीएमबीयू के छात्र कई काेर्स में नामांकन और जाॅब का माैका चूक गए। ये छात्र डीयू और पटना विश्वविद्यालय में पीजी में दाखिले के लिए आवेदन नहीं कर सके।

अभी राज्यभर के बीएड काॅलेजाें में दाखिले का माैका भी चूक गए। इन 16 महीनाें में दाे बार एसटीईटी और एक बार सीटीईटी की परीक्षा हाे चुकी है जिसके लिए आवेदन नहीं कर सके। आरबीआई के स्केल वन व टू और आईबीपीएस के क्लर्क ग्रेड की वैकेंसी भी चूक गए।

कोरोना के कारण परीक्षा से हिचक रहा टीएमबीयू
जुलाई से अगस्त के बीच टीएमबीयू की समन्वय समिति ने परीक्षाओं के संचालन के लिए कई बैठकें की। तय हुआ कि पहले कम छात्र वाले काेर्स की परीक्षा ली जाए ताकि थर्ड पार्ट के ज्यादा छात्रों की परीक्षा लेने के पहले पूरा आकलन हो सके। इसके तहत पीजी के सेकंड सेमेस्ट, बीबीए, बीसीए, ओएमएसपी, आईएफएफ की परीक्षा ली गई। लेकिन थर्ड पार्ट की परीक्षा लेने में अब भी विश्वविद्यालय हिचक रहा है।

ये सभी परीक्षाएं हुईं ताे स्नातक की क्याें नहीं
नीट, जेईई, बीएड कंबाइंड एंट्रेंस टेस्ट ताे लाॅकडाउन के बीच ही हुआ। बीएसईबी ने इंटर में दाखिला लिया। अब रजिस्ट्रेशन भी हाे रहा है। अखिल भारतीय स्तर पर करीब 16 लाख छात्र परीक्षा में बैठे थे। जेईई में करीब आठ लाख छात्राें ने परीक्षा दी है। इस तर्ज पर टीएमबीयू भी परीक्षा की व्यवस्था कर सकता था।

जेईई का पैटर्न अपनाया जा सकता था
^कंप्यूटर पर ऑनलाइन परीक्षा ली जा सकती है। जिन काॅलेजाें में ये संसाधन हैं वहां या सभी जगह के कंप्यूटर बहुद्देशीय प्रशाल में लाकर परीक्षा ली जा सकती है। प्रश्नाें का पैटर्न बदल सकते हैं। ऑब्जेक्टिव प्रश्न ज्यादा दिए जा सकते थे। यूजीसी ने भी यह विकल्प दिया था। हाल ही में आईआईटी-जेईई की परीक्षा इसी पैटर्न पर हुई है। अभी जाे हालात हैं इसमें ये विकल्प हाे सकते हैं। इन उपायाें से ही सेशन काे लेट हाेने से राेका जा सकता है। प्राे. रामयतन प्रसाद, पूर्व प्राेवीसी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें