पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चुनावी मुद्दा:माननीय! कौन खा गया हमारे हक का हाईवे, सुल्तानगंज व कहलगांव में जर्जर एनएच पर सियासी उबाल

भागलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये है हमारा एनएच-80, अकबरनगर से इंग्लिश चिचरौंन के बीच जानलेवा गड्‌ढों के बीच गुजरने को विवश हैं लोग। - Dainik Bhaskar
ये है हमारा एनएच-80, अकबरनगर से इंग्लिश चिचरौंन के बीच जानलेवा गड्‌ढों के बीच गुजरने को विवश हैं लोग।
  • दोनों क्षेत्र के विधायक एक दशक से हैं, फिर भी एनएच-80 जर्जर

विधानसभा चुनाव की तैयारी तेज हाे गई है। पहले चरण में 28 अक्टूबर काे जिले के सुल्तानंज और कहलगांव विधानसभा क्षेत्र में चुनाव हाेगा। दाेनाें ही इलाके में इस बार का सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा जर्जर एनएच-80 है। इससे चुनावी समीकरण बदलने की संभावना दिख रही है। दाेनाें ही जगहाें पर एनएच की स्थिति एक जैसी है। यहां अक्सर वाहन दुर्घटनाग्रस्त हाे रहे हैं। हादसे में लाेग भी घायल हाे रहे हैं। खराब एनएच से भारी वाहन खराब हाे रहे हैं और रात में भीषण जाम की स्थिति बनी रहती है। इन हालातों से इलाके के लाेगाें का गुस्सा फूटने लगा है। अब लाेग स्थानीय विधायकाें से सवाल पूछ रहे हैं- माननीय, बताइए हमारे हक का हाईवे काैन खा गया? लाेगाें ने बताया, दाेनाें ही इलाके सुल्तानगंज से जदयू विधायक सुबाेध राय और कहलगांव से कांग्रेस विधायक सदानंद सिंह 10 साल से सदन में हैं। हालांकि इस बार उम्र की वजह से दाेनाें के चुनाव लड़ने की संभावना कम दिख रही है।

एक दशक तक विधायक रहने के बाद भी एनएच की स्थिति ठीक नहीं करवा सके। जबकि इसे लेकर लगातार मांग करते रहे हैं। कई बार आंदाेलन भी किए गए। इसके बाद भी शासन-प्रशासन काे जरा भी परवाह नहीं है। अब चुनाव में जब नेता वाेट मांगने आएंगे ताे उनकाे एनएच-80 के सवाल का सामना करना पड़ेगा।
जानिये, एनएच-80 के लिए अब तक क्या प्रयास किए गए

  • 41 कराेड़ से बने सबाैर से कहलगांव के बीच 31 किमी एनएच बनने के सालभर के अंदर ही ध्वस्त
  • हर बार श्रावणी मेला के दाैरान सुल्तानगंज-अकबरनगर एनएच की हाेती थी मरम्मत, इस बार नहीं हुई
  • अब 971 कराेड़ से घाेरघट-मिर्जाचाैकी एनएच का नए सिरे से हाेगा निर्माण, राशि हाल में ही स्वीकृत
  • नए सिरे से बनाने के पहले 20 कराेड़ से हाेनी थी मरम्मत, लेकिन अब चुनाव बाद शुरू हाेगा काम
  • बीते 5 वर्षाें में एनएच की मरम्मत पर करीब 150 कराेड़ रुपए खर्च हुए, लेकिन हालत नहीं सुधरी
  • सबसे खराब स्थिति अकबरनगर से इंग्लिश चिचराैन के बीच अाैर घाेघा से कहलगांव के बीच है
  • 2016-2017 के बीच एनएच की दुर्दशा काे लेकर स्थानीय लाेगाें ने अांदाेलन किया, नतीजा शून्य
  • खराब एनएच के कारण लगातार हाे रहे हादसे, जान भी जा चुकी है, भीषण जाम, से गुस्से में लाेग
  • पूर्व कमिश्नर राजेश कुमार ने निर्माण की जांच कराई थी ताे पकड़ी थी गड़बड़ी, पर कार्रवाई नहीं हुई

सुल्तानगंज : 5 किलोमीटर तक हैं जानलेवा गड्ढे
अकबरनगर से इंग्लिश चिचराैन के बीच एनएच पूरी तरह से ध्वस्त है। सड़क पर जानलेवा गड्ढे से रोज हादसे हाे रहे हैं। सुल्तानगंज की तरफ बढ़ने पर करीब पांच किलाेमीटर क्षेत्र में कई खतरनाक गड्ढे हैं, जो गिने भी नहीं जा सकते। यह भी पता नहीं चलेगा कि काैन गड्ढा ज्यादा और काैन कब खतरनाक है। डेढ़ से तीन फीट तक के गड्ढे हैं। हल्की बारिश में ये गड्ढे माैत के कुएं बन रहे हैं। लेकिन स्थानीय विधायक इस पर चुप्पी साध लेते हैं।
कहलगांव : 40 किमी जाने में लग रहे छह घंटे
सबाैर से कहलगांव के बीच करीब 20 किलाेमीटर सड़क जर्जर है। ध्वस्त एनएच से राेज भारी वाहन खराब हाेते हैं और जाम लग जाता है। जाम में फंसने के डर से लाेग 40 किलाेमीटर दूर कहलगांव जाने से ही डर जाते हैं। पहले कहलगांव जाने में महज डेढ़-दाे घंटे लगते थे। अब छह घंटे तक लग रहे हैं। लाेग नेताओं काे काेस रहे हैं। विधायक सदानंद सिंह ने कहा, मंत्रालय से पत्राचार किया है। चुनाव बाद काम शुरू हाेगा।
उठे सवाल: 971 कराेड़ से निर्माण व मरम्मत पर भी सवाल
मुंगेर से मिर्जाचाैकी के बीच एनएच-80 के नए सिरे से निर्माण के लिए पथ परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय से 971 कराेड़ की स्वीकृति हुई है। साथ ही 20 करोड़ से तत्काल मरम्मत होनी है। इसे लेकर लाेग सवाल उठा रहे हैं कि कहीं यह चुनाव काे लेकर काेरी घाेषणा न हाे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें