भागलपुर के पति-पत्नी ने BPSC में पाई सफलता:पति UPSC की तैयारी कर रहे थे, पत्नी TCS में जॉब; दोनों की मेहनत BPSC 64वीं में एकसाथ रंग लाई

भागलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मनीष भारद्वाज और उनकी पत्नी राजबाला सिंह। (फ़ाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मनीष भारद्वाज और उनकी पत्नी राजबाला सिंह। (फ़ाइल फोटो)

भागलपुर के सुल्तानगंज विधानसभा के नोनसर गांव में एक ही परिवार के पुत्र और पुत्रवधु ने 64वीं BPSC परीक्षा में सफलता हासिल की है। मिथिलेश कुमार सिंह के पुत्र मनीष भारद्वाज ने SC-ST कल्याण पदाधिकारी के पद पर जबकि उनकी पत्नी राजबाला सिंह सप्लाई इंस्पेक्टर के पद पर चयनित हुई हैं।

मनीष भारद्वाज ने बताया कि इस सफलता का श्रेय ईश्वर, माता-पिता, चाचा और उनके भाई को जाता है। उन्होंने भागलपुर के तिलकामांझी विश्वविद्यालय से बीएससी स्नातक की पढ़ाई की है। उसके बाद वे UPSC व BPSC की तैयारी कर रहे थे. आगे UPSC की तैयारी करते रहेंगे. लक्ष्य आईएएस बनने का रखा है।

पत्नी राजबाला सिंह ने बताया कि यह उनका पहला प्रयास था. उन्होंने बताया कि आगे वो बिहार प्रशासनिक सेवा में कार्य करना चाहती हैं। अभी TCS के मुंबई ऑफिस में कार्यरत हैं। उनकी पढ़ाई महाराष्ट्र के नागपुर से हुई है। उन्होंने एमफार्मा की पढ़ाई की हुई है।

मिथिलेश कुमार सिंह कृषक हैं जबकि माता वीणा सिंह गृहणी हैं। वीणा सिंह ने बताया कि हमारे पुत्र एवं पुत्रवधु की सफलता पर हमलोग काफी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। लोगों को संदेश देना चाहते हैं कि परिश्रम का फल मीठा होता है।

खबरें और भी हैं...