भागलपुर में 17 केंद्रों पर टेंट में होगी इंटर परीक्षा:30 केंद्रों पर बेंच-डेस्क की कमी, 15 वर्ष से कम उम्र के छात्र बिना टीका के दे पाएंगे परीक्षा

भागलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

इंटर की परीक्षा में छह हजार वीक्षक लगाए जाएंगे। तैयारी को लेकर सोमवार को डीईओ संजय कुमार ने केंद्राधीक्षकों में साथ बैठक की जिसमें वीक्षकों की तैनाती तय की गई। डीईओ ने कहा कि कदाचारमुक्त परीक्षा के लिए शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन मिलकर काम करेंगे। केंद्राधीक्षकों ने उन्हें परीक्षार्थियों की जो संख्या उपलब्ध कराई है उसके अनुसार 17 केंद्रों पर परीक्षार्थियों की संख्या उपलब्ध संसाधन से अधिक है। इन जगहों पर टेंट की व्यवस्था करने का निर्णय लिया गया। 30 परीक्षा केंद्रों पर बेंच-डेस्क की कमी बताई गई। केंद्राधीक्षकों को कहा गया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए छात्रों के बीच शारीरिक दूरी का पालन कराना है।
15 वर्ष से कम उम्र के छात्र बिना टीका के दे सकेंगे परीक्षा

इंटर और मैट्रिक की परीक्षाओं में शामिल होने जा रहे करीब 92 हजार छात्रों में से 70 हजार को कोरोना का टीका लग चुका है। शेष को भी टीका जल्द दिया जाएगा। सोमवार को डीईओ ने केंद्राधीक्षकों के साथ ऑनलाइन बैठक कर इसकी समीक्षा की। 15 वर्ष से कम उम्र के होने के कारण जिन परीक्षार्थियों को वैक्सीन नहीं लगा है उनके बारे में डीईओ ने कहा कि ऐसे छात्रों की उम्र 15 वर्ष होने पर ही वैक्सीन लगेगी। ऐसे में 15 वर्ष से कम उम्र के परीक्षार्थी को परीक्षा देने से नहीं रोका जाएगा।

सीटीई घंटाघर में ही होगी कॉपियों की बारकोडिंग

बिहार बोर्ड की परीक्षाओं की कॉपियों की बारकोडिंग कॉलेज फॉर टीचर्स एजुकेशन (सीटीई) घंटाघर में ही होगी। पिछली बार भी यहीं बारकोडिंग हुई थी। लेकिन इस बार सीटीई के साथ रिकाबगंज स्थित बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय में भी बारकोडिंग कराने पर विचार चल रहा था। पिछले हफ्ते परीक्षा की तैयारी को लेकर हुई वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में शिक्षा विभाग और बोर्ड के अधिकारियों ने डीईओ से कहा था कि कोडिंग के लिए एक निश्चित जगह तय कर इसकी जानकारी सोमवार तक दे दें। डीईओ संजय कुमार ने इसकी सूचना बोर्ड को भेज दी।

खबरें और भी हैं...