पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नहीं लगेगा श्रावणी मेला:सावन में देवघर-बासुकीनाथ में श्रद्धालुओं को सीमा पर ही रोकेगी झारखंड पुलिस

भागलपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दुमका डीआईजी ने दोनों राज्यों के अधिकारियों के साथ की वीसी

24 जुलाई से शुरू हो सावन में देवघर और बासुकीनाथ में श्रद्धालुओं के प्रवेश को रोकने के लिए मंगलवार को दुमका के डीआईजी सुदर्शन मंडल ने बिहार-झारखंड के पुलिस अधिकारियों के साथ ऑनलाइन मीटिंग की। कोरोना महामारी के कारण इस बार भी विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला नहीं लगेगा। फिर भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु देवघर और बासुकीनाथ पहुंच रहे हैं।

इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। दुमका डीआईजी ने स्पष्ट किया कि श्रावणी मेला के दौरान देवघर और बासुकीनाथ में श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं होगी। इसके लिए बिहार समेत अन्य राज्य की झारखंड से लगी सीमाओं पर कड़ी चौकसी की जाएगी। डीआइजी ने बताया कि श्रावणी महीने के दौरान देवघर एवं बासुकीनाथ मंदिर दुमका में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

श्रद्धालुओं को आने से रोकने हेतु अन्तर्राज्यीय सीमा पर चेक पोस्ट का निर्माण किया जाएगा, ताकि झारखंड में घुसने के लिए श्रद्धालुओं को सीमा पर ही रोका जा सके। इस काम में डीआईजी ने बांका, जमुई, भागलपुर समेत अन्य सीमावर्ती जिलों के पुलिस कप्तानों से सहयोग की अपील की है। बैठक में डीआइजी सुदर्शन मंडल के अलावे भागलपुर एसएसपी निताशा गुड़िया, देवघर एसपी धनंजय कुमार सिंह, जमुई एसपी प्रमोद कुमार मंडल, गोड्डा एसपी वाईएस रमेश, दुमका एसपी अंबर लकड़ा, बांका एसपी अरविन्द कुमार गुप्ता, गिरिडीह एसपी अमित रेणु, धनबाद रेल एसपी आर रामकुमार, आसनसोल आरपीएफ के कमांडेंट चन्द्र मोहन मिश्रा वर्चुअल तरीके से शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...