पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्राउंड रिपोर्ट भागलपुर:नेता जाति वोट बैंक का गुणा-गणित जोड़ रहे, बाढ़ और सुखाड़ से त्रस्त जनता बादशाह-गुलाम के खेल में मस्त

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भागलपुर आज भी विकास के हिसाब से काफी पीछे चल रहा है।
  • भागलपुर-कहलगांव हाईवे देश की अकेली सड़क जहां पांच घंटे में तय होती है 35 किलोमीटर की दूरी, बयानों में ये राेड कई बार आ चुका

भागलपुर जिले की दो विधानसभा सीटों कहलगांव व सुल्तानगंज पर मुकाबले की तारीख 28 अक्टूबर है। ये पूरा इलाका आज भी विकास के हिसाब से काफी पीछे चल रहा है। बाढ़-सुखाड़-कटाव से लेकर बदहाल एनएच का रोना लोग रोते रहे हैं, इस बार भी रो रहे हैं। लेकिन चुनाव की सजी बिसात पर मुद्दे गौण हैं, नेता जाति का गणित जोड़ रहे हैं। कैडर-सपोर्टर व विरोधी का हिसाब-किताब जारी है। सड़क किनारे पकड़तल्ला गांव में में कुछ लोग ट्वेंटी एैट खेल रहे हैं। हमने सवाल किया- एैबरी केकरा वोट देभो बबा? देवन मंडल ने पहले बादशाह पर गुलाम मार पत्ती समेटा फिर बोला- कहिनें तोंय सब मीडिया वाला टेंशन वाला बात करै छहो। जेकरा जीतय के छै वें जीती जेतय। यही विडंबना है। वाकई यहां की जिंदगी भी बादशाह-गुलाम जैसी ही तो है।

बड़ी समस्याओं पर भी निराशा से भरे लोग बात तक करना जरूरी नहीं समझते। बादशाह पर गुलाम जीतता है तो इसी जीत में मदमस्त हो जाते हैं। बदहाल हाईवे को लोग अपनी किस्मत का हिस्सा मान चुके हैं। शायद भागलपुर-कहलगांव देश का अकेला हाईवे है जहां 35 किलोमीटर की दूरी तय करने में पांच से छह घंटे लग जाते हैं।

सुल्तानगंज: जदयू काे रालाेसपा और कांग्रेस काे लाेजपा की चुनाैती
इस विधानसभा सीट पर 2005 से लगातार जदयू का कब्जा रहा है। बीते एक दशक से जदयू के सुबाेध राय के सिर जीत का सेहरा सजता रहा है। इस बार जदयू ने ललित नारायण मंडल को उतारा है। महागठबंधन की तरफ से कांग्रेस से यहां से ललन यादव मैदान में हैं। सीधा मुकाबला है। लेकिन यहां की लड़ाई काे लाेजपा और रालाेसपा ने दिलचस्प बना दिया है।

राजद से बागी हाेकर सुल्तानगंज नगर परिषद की सभापति नीलम देवी लाेजपा के टिकट से चुनाव लड़ रही हैं। ये राजद के यादव वाेट में सेंधमारी कर सकती हैंं। इससे कांग्रेस काे नुकसान हाेगा। जबकि रालाेसपा से हिमांशु पटेल मैदान में हैं। ये जदयू के काेइरी वाेट पर प्रभाव डाल सकते हैं। ऐसे में लाेजपा व रालाेसपा की एंट्री से लड़ाई राेचक हाे गई है। वैश्य वाेटर में भी निर्दलीय राजकुमार गुड्डू सेंधमारी कर सकते हैं, जिसका खामियाजा जदयू काे हाे सकता है।

मुद्दा जाे लाेगाें की जुबान पर: राजद का 10 लाख नाैकरी देने की घाेषणाओं का असर युवाओं में है। हालांकि जातीय समीकरण की चर्चा भी खूब जाेराें पर है। इसके अलावा प्रशासन से काम कराने में हाेने वाली परेशानी भी लाेगाें के बीच एक बड़ा मुद्दा है।

कहलगांव: महागठबंधन व एनडीए का एक-दूसरे के वाेट बैंक पर निशाना

यहां 2010 जैसी ही स्थिति बन रही है। मुकाबला कांग्रेस के शुभानंद मुकेश और भाजपा के पवन यादव के बीच है। दाेनाें गठबंधन एक-दूसरे के वाेट बैंक में सेंधमारी की जुगत में है। एनडीए से भाजपा ने जहां यादव उम्मीदवार उतारकर राजद के वाेट बैंक में सेंधमारी की रणनीति बनाई है, ताे वहीं कांग्रेस ने कुर्मी उम्मीदवार काे उतार कर जदयू के वाेट बैंक पर निशाना साधा है।

गणित के हिसाब से यह भी देखना होगा कि लड़ाई काे संघर्षपूर्ण जदयू के सांसद अजय मंडल के बागी भाई अनुज मंडल ने कर दिया है। अनुज एनसीपी के टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं। अप्रत्यक्ष रूप से जदयू कार्यकर्ता भी अनुज के लिए काम कर रहे हैं। निश्चित रूप से ये गंगाेता वोट को प्रभावित करेगा।

वहीं कांग्रेस के कद्दावर नेता सदानंद सिंह ने इस बार अपने बेटे को सियासी संग्राम में उतारा है। राजद से गठबंधन हाेने के कारण उन्हें यादव वाेट मिलने की उम्मीद थी। लेकिन भाजपा उम्मीदवार भी यादव जाति से हैं। ऐसे में यादव वोट के बंटने के आसार हैं।

मुद्दा जाे लाेगाें की जुबान पर: यहां जर्जर एनएच-80 का मुद्दा गर्म है। लेकिन जातीय समीकरण के सामने ये मुद्दे दब जा रहे हैं। राजद के 10 लाख नाैकरी देने की घाेषणा और भाजपा के राष्ट्रवाद की भी विधानसभा क्षेत्र में चर्चा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें