• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Light Diyas With Water This Diwali In Bhagalpur, There Was A Lot Of Sales In The Market, The Shopkeeper Said All The Stock Is Over

भागलपुर में इस दीपावली पानी से जलाएं दीए:मार्केट में खूब हुई ब्रिकी, दुकानदार बोले- सारा स्टॉक खत्म हो गया

भागलपुरएक महीने पहले

भागलपुर में दिवाली से पहले बाजारों में लोगों की खूब चहल-पहल देखने को मिल रही है। अभी से ही लोग दिवाली की शॉपिंग में लग गए है। इसको लेकर मार्केट भी पूरा सज चुका है। इस बार पानी जलने वाला दीप आकर्षण का केंद्र बन रहा है। लोग इसकी खरीदारी खूब कर रहे है।

दुकानदारों के पास अब इसका स्टॉक भी खत्म होने को है। ये ऐसा दीप है जिसमें पानी डालने पर अपने आप जल जाता है। पानी की मात्रा जितनी ज्यादा हो उतनी ही रोशनी तेज हो जाती है। पानी के निकलते ही लाइट दीप अपने आप बंद हो जाता है।

पानी से जलने वाला दीप।
पानी से जलने वाला दीप।

20 एमएल पानी डालने पर लगातार जलती है
दुकानदार कैलाश कुमार बताते है कि इस दीप को जलाने के लिए ना तो किरोसीन तेल की जरूरत होती है और न ही सरसो के तेल की। ये दीप पानी से जलती है। उन्होंने बताया कि इसकी कीमत 40 रुपए प्रति पीस है। बताया कि 20 एमएल पानी डालने पर ये लगातार जलते रहती है। फिर इसको बंद करना हो तो उसमें से पानी निकाल देने के बाद वो खुद से बंद हो जाता है। उन्होंने बताया कि इसके सारे स्टॉक खत्म होने को है। इसमें का जितना भी समान लाया सब बिक गया है।

आखिर पानी से कैसे जलता है दीप

दैनिक भास्कर पानी से दीप जलने का राज जानने के लिए एक दीप के निचले हिस्से को खोला, तो पाया कि नीचे बैटरी लगी हुई थी। नीचे सारे वायरिंग हो रखे थे। दीप के ऊपरी हिस्से में दो पेंच निकले हुए थे। दोनों को एक दूसरे से थोड़ी दूर पर निकाला गया था। दोनों के सटने के बाद ही दीप में लगी LED बल्ब जलती है। तो दीप में पानी डालने के बाद पानी के माध्यम से करेंट एक पेंच से दूसरे पेंच तक पहुंचती है, इसके बाद दीप का बल्ब जल उठता है।