बिहार में सांड भी करते हैं ट्रेन में सफर, VIDEO:मिर्जाचौकी स्टेशन पर 10-12 लोगों ने चढ़ाया; यात्रियों को बोला- साहिबगंज में उतार देना

भागलपुर12 दिन पहले

आमतौर पर ट्रेन में यात्रियों को सफर करते आपने देखा होगा। बिहार में यात्रियों के साथ उनके सामान, कभी-कभी साइकिल,बाइक, यहां तक कि चारा ले जाते भी लोग दिख जाते हैं। अब भागलपुर से जो तस्वीर सामने आई है, वो अनोखी है। जिसमें लोकल ट्रेन में इंसान के साथ-साथ सांड भी सफर करता दिख रहा है। इसका वीडियो तेजी से शेयर हो रहा है।

पोल में हिस्सा लेकर खबर पर अपनी राय दें।

जामलपुर से साहिबगंज जानेवाली ईएमयू पैसेंजर ट्रेन में सांड सवारी कर रहा था। वीडियो 2 दिन पहले का है, जो काफी वायरल हो रहा है। भागलपुर जिले के मिर्जाचौकी स्टेशन पर इस सांड को कुछ लोगों ने ट्रेन पर चढ़ा दिया। अपनी बोगी में सांड को देख यात्री दहशत में यात्रा करते नजर आए।

ईएमयू पैसेंजर ट्रेन में सफर करता सांड।
ईएमयू पैसेंजर ट्रेन में सफर करता सांड।

मजाक मस्ती में लोगों ने ट्रेन पर चढ़ाया

2 अगस्त को जामलपुर से साहिबगंज जा रही ईएमयू ट्रेन मिर्जाचौकी स्टेशन पर ट्रेन रुकी तो कुछ शरारती लोगों ने स्टेशन पर घूम रहे सांड को ट्रेन पर चढ़ा दिया। इतना ही उन लोगों ने इस सांड को सीट के हैंडल से रस्सी से बांध भी दिया। बोगी में बैठे पैसेंजर ये सब नजारा देखते रहे। लेकिन डर के मारे किसी ने रोकने की कोशिश नहीं की।

10-12 लोगों ने मिर्जाचौकी स्टेशन पर सांड को ट्रेन पर चढ़ाया।
10-12 लोगों ने मिर्जाचौकी स्टेशन पर सांड को ट्रेन पर चढ़ाया।

साहेबगंज में उतार देना- यात्री

बताया जाता है कि एक रिटायर्ड सैनिक ने सांड का रस्सी खोल उसे अगले स्टेशन पर उतार दिया। वीडियो में एक यात्री ने बताया कि मिर्जाचौकी स्टेशन पर 10 -12 संख्या में कुछ लोग आए और जबरदस्ती सांड को इस बोगी में बांध कर चले गए। साथ ही कहा कि साहिबगंज में इसे उतार देना। यात्रियों ने इस घटना को रेलवे प्रशासन की लापरवाही बताया।

ट्रेन में जानवरों को लेकर जाने का क्या है नियम

आप अपने पालतू डॉगी को अपने साथ केवल फर्स्ट क्लास में ही ले जा सकते हैं। लेकिन इसके लिए सह-यात्रियों की अनुमति और निर्धारित शुल्क चुकाना होगा। रेलवे के नियमों के अनुसार, पालतू जानवरों को किसी भी कंडीशन में स्लीपर, चेयर कार या एसी बोगी में नहीं ले जा सकते हैं। इसी तरह ट्रेन से हाथी, घोड़ा, खच्चर, ऊंट, गधे, बकरी भी ले जा सकते हैं। इसके लिए रेलवे एडमिनिस्ट्रेशन में बुकिंग करानी पड़ेगी, जिसके लिए भुगतान करना होगा।