पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रेस कांफ्रेंस:सांसद अजय मंडल कोरोनाकाल में गायब रहे, सोशल मीडिया में मौत की अफवाह उड़ी तो सामने आए

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद बोले- प्रोटोकॉल का पालन करता हूं इसलिए पब्लिक से दूर। और यह क्या... ठुड्‌डी पर मास्क लगा की प्रेस कांफ्रेंस! - Dainik Bhaskar
सांसद बोले- प्रोटोकॉल का पालन करता हूं इसलिए पब्लिक से दूर। और यह क्या... ठुड्‌डी पर मास्क लगा की प्रेस कांफ्रेंस!

काेराेना की दूसरी लहर के कहर से भागलपुर लगातार लड़ रहा है। अब तक 23500 से ज्यादा लाेग संक्रमित हुए। 263 से अधिक लाेगाें की जान चली गई। दूसरी लहर के ढाई माह बीते, लेकिन एक बार भी सांसद अजय मंडल नजर नहीं आए। दाे दिन पहले सोशल मीडिया पर सांसद की मौत की अफवाह उड़ी तो वे शनिवार को कोरोनाकाल में मीडिया के सामने आए और प्रेस कांफ्रेंस की।

उन्होंने कहा कि वे कोरोना की भयावहता को देखते हुए सरकार की गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं। वहीं पूरे प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सांसद का मास्क सही तरीके से नहीं लगा था। ना मुंह ढका था और ना ही नाक। ठुड्‌डी के नीचे मास्क फंसाकर उन्होंने पूरी प्रेस कांफ्रेंस की।

उन्हाेंने कहा, हम क्या काेराेना में जान देने जाएंगे? सिस्टम की जवाबदेही सरकार की है। मैं सरकार का अंग हूं, सरकार से जाे हाे रहा है, वह मेरे तरफ से हाे रहा है। उन्हाेंने कहा, हम भले नहीं दिखे लेकिन इलाज से ऑक्सीजन तक की व्यवस्था के लिए राेज सैकड़ाें फाेन करते हैं। समाधान भी हो रहा है। जनप्रतिनिधि होने के नाते मुझे अपनी जिम्मेदारी की समझ है।

सांसद ने कहा- ऐसी बात नहीं है कि हम नहीं दिखे। काेराेनाकाल में हम झुंड लेकर नहीं घूमे। साेशल मीडिया पर दिखावा नहीं करते। हम अपने कर्म पर विश्वास करते हैं। अस्पताल अधीक्षक से पूछिए। हाॅस्पिटल में डीएम ने कंट्राेल रूम बनाया है, वहां पूछिए, 24 घंटे में मेरा फाेन कितनी बार जाता है। अब हम काेराेना पेशेंट काे उठाकर ताे नहीं ले जा सकते हैं।

हम क्या काेराेना में जान देने जाएंगे। हम ब्लड प्रेशर, शुगर व हार्ट के मरीज हैं। हम व्यवस्था देंगे न। सरकार का काम है व्यवस्था देना। हम सरकार के अंग हैं। आप देख रहे हैं कई हाॅस्पिटलाें में छापा पड़ा, वहां व्यवस्था सुधारने का काम किया गया। सरकार में रहकर, सरकार का काम करेंगे। मैंने सैकड़ाें पेशेंट का राेज इलाज के बारे में जानकारी ली। जिनकाे ऑक्सीजन की कमी थी, उसे दिलाने की व्यवस्था की। ऑफिस जा रहे थे, हाॅस्पिटल नहीं गए।

7631836540 आज ये मोबाइल नंबर ही हेडलाइन… क्योंकि*

कोरोना के इलाज और अस्पतालों में व्यवस्था के लिए लोग परेशान हैं। सांसद का दावा है कि फोन पर वे मरीजों की मदद कर रहे हैं। यह नंबर सांसद का है। परेशान जनता सीधे इन्हें फोन लगाए और मदद मांगे। क्योंकि सांसद ने कहा है- मैं फोन पर लगातार जनता की मदद कर रहा हूं। मैं सरकार का अंग हूं। इलाज सुनिश्चित करवाना मेरी जिम्मेदारी है।

जनता चाह ले ताे 21 दिन में काेराेना लापता हाे जाएगा

लाॅकडाउन के सवाल पर उन्हाेंने कहा, जनता अगर आज चाह ले कि हिन्दुस्तान से काेराेना काे भगाना है ताे 21 दिन में काेराेना लापता हाे जाएगा। हम और आप खुद काेराेना का चेन ताेड़ सकते हैं। एक-दूसरे में नहीं सटेंगे ताे काेराेना बचेगा ही नहीं। लेकिन भीड़ लगाते हैं। इसलिए लाेगाें से आग्रह है कि ऐसा न करें, जिससे काेराेना फैले।

सांसद अजय मंडल ने कहा,जाे काेराेना काे देख रहा है, उन जनता से नाराजगी देखी जा सकती है। लेकिन हाॅस्पिटल में जाने वालों में नाराजगी नहीं है, क्याेंकि मैंने उनके लिए काम किया है। हम काेराेना वाले काे खाेजते हुए नहीं न चलेंगे, जाे हाॅस्पिटल आया, उनके इलाज की व्यवस्था करता हूं। जो हो रहा है मेरे तरफ से हो रहा है। समझिए इस बात को।

मदद के लिए सांसद को फोन करें, हमें भी बताएंं

सांसद मरीजों की मदद का दावा कर रहे हैं। आप अपनी परेशानी सांसद को बताएं। सांसद की तरफ से मिली मदद की जानकारी भास्कर को भी दें। हमारा वाट्सएप नंबर है- 9934609378 और 8770590950

खबरें और भी हैं...