भूमाफिया हुए सक्रिय:जमीन के अभाव में नहीं बन रहा मुंगेर विवि का भवन टीएमबीयू 22 बीघा जमीन की नहीं कर पा रहा सुरक्षा

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीएनबी काॅलेज के सामने की जमीन पर कब्जे के लिए भूमाफिया हुए सक्रिय। - Dainik Bhaskar
टीएनबी काॅलेज के सामने की जमीन पर कब्जे के लिए भूमाफिया हुए सक्रिय।

कहीं किसी विवि का भवन इसलिए नहीं बन पा रहा है क्याेंकि उसके पास पर्याप्त जमीन नहीं है और किसी के पास जमीन है ताे वह उसकी सुरक्षा नहीं कर पा रहा है। टीएमबीयू और इससे अलग हुए मुंगेर विवि की यही स्थिति है। 2018 में अस्तित्व में आए मुंगेर विवि का अब तक भवन नहीं बना है। इधर टीएमबीयू टीएनबी काॅलेज के सामने की अपनी 22 बीघा जमीन पर बार-बार बाहरियाें के कब्जे के प्रयास के बावजूद आंख बंद किये हुए है।

2016 में दाे भाइयाें ने इसका म्यूटेशन अपने नाम से करा लिया था। तब इसकी जानकारी मिलने पर म्यूटेशन तुड़वाकर विवि ने अपने नाम कराया था। जमीन की रसीद 2017 में कटाई थी। इसके बाद चार साल तक विवि इस मामले में साेता रहा और भूमाफिया जमीन हथियाने के लिए फिर सक्रिय हाे गए।

2016 में इस मामले काे सीनेटर डाॅ. मृत्युंजय सिंह गंगा ने उठाया था और अब दाेबारा उन्हाेंने ही भूमाफियाओं की गतिविधि पर सवाल उठाया है। एक दिन पहले प्राेवीसी प्राे. रमेश कुमार काे मामले की जानकारी देने के बाद बुधवार काे उन्हाेंने प्रभारी वीसी काे पत्र लिखकर जमीन बचाने का अाग्रह किया है। उन्हाेंने इसकी काॅपी कुलाधिपति, मुख्यमंत्री, राजस्वमंत्री, प्रमंडलीय आयुक्त और डीएम काे भी भेजी है।

प्राेवीसी ने की समीक्षा, फाइल अपडेट करने काे कहा
इधर बुधवार काे प्राेवीसी ने जमीन के मामले की समीक्षा की। उन्हाेंने इससे जुड़ी फाइल काे अपडेट करने काे कहा और निर्देश दिया कि काेर्ट की स्थिति अपडेट की जाए। सूत्राें ने बताया कि विवि ने 2017 में अंतिम बार रसीद कटाने के बाद इसे अब तक अपडेट नहीं कराया है। उधर मछली पट्टी के एक व्यवसायी और मुंगेर का एक बिल्डर जमीन पर काेर्ट का फैसला उनके पक्ष में आने का दावा कर निर्माण कार्य की तैयारी में जुटे हैं।

खबरें और भी हैं...