मायागंज अस्पताल में देर रात किशोरी से गैंगरेप की कोशिश:न्यू इमरजेंसी वार्ड के पास दो युवकों ने की जबरदस्ती, एक गिरफ्तार

भागलपुर9 दिन पहले
मौके पर लगी भीड़।

पूर्वी बिहार का सबसे बड़ा भागलपुर जिले के जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल में गैंगरेप की कोशिश करने का शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है। पूरा मामला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड से जुड़ा है, जहां विगत शुक्रवार देर रात 16 वर्षीय नाबालिग बच्ची ने दो लोगों पर दुष्कर्म का प्रयास करने का आरोप लगाया है। पीड़ित बच्ची ने रोते हुए अस्पताल परिसर में तैनात गार्ड को इसकी जानकारी दी। मामले की जानकारी मिलते ही अस्पताल परिसर में तैनात बरारी थाना की कैम्प पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक आरोपित को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया है। पुलिसिया पूछताछ में गिरफ्तार आरोपित ने अपना नाम प्रशांत उर्फ प्रमोद तांती बताते हुए खुद को बिजली ठेका कंपनी का स्टाफ बताया है।

पुलिस गिरफ्त में एक आरोपी।
पुलिस गिरफ्त में एक आरोपी।

वहीं, अस्पताल में मौजूद कुछ लोगों ने बताया कि उक्त आरोपित अस्पताल परिसर में खून की दलाली भी करता है। घटना के बाबत बताया जा रहा है कि इशीपुर बाराहाट थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली किशोरी अपनी बहन का इलाज कराने मायागंज अस्पताल आई थी। उसकी बहन इमरजेंसी के नए वार्ड में भर्ती है। वहीं, रात में पीड़िता अपने भाई के साथ अस्पताल में ही थी। इस बीच अपने बड़े भाई से मोबाइल से बात कर रही थी, तभी वार्ड के बाहर दो युवक आया और एक के द्वारा बच्ची को बॉयफ्रेंड से बात करने की बात कह कर धमकाया जाने लगा। वहीं, दूसरा युवक बच्ची का मुंह दाब कर उसे शौचालय की ओर ले जाने लगा। इस पर बच्ची जोर-जोर से चिल्लाने लगी, तो वार्ड के अंदर मौजूद उसका दिव्यांग भाई बाहर निकला। जब उसने इसका विरोध किया, तो दोनों आरोपित इस बारे में किसी को कुछ बताने पर झूठे मामले में फंसा कर जेल भेजवाने की धमकी देते हुए फरार हो गया।

मामले को लेकर पुलिस गिरफ्तार युवक से सघन पूछताछ कर रही है। वहीं उसने अपने फरार साथी की पहचान मायागंज इलाके के रहने वाला विक्रम यादव बताया। इधर पीड़ित बच्ची ने दो आरोपितों के खिलाफ बरारी थाना पुलिस के समक्ष लिखित शिकायत भी दी है। पुलिस दूसरे फरार आरोपित की गिरफ्तारी के लिए सम्भावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

खबरें और भी हैं...