पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विश्व हृदय दिवस आज:3 साल से पेसमेकर की सुविधा नहीं, प्राइवेट में 20 हजार लग रहे

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मायागंज अस्पताल में कार्डियाेलाॅजिस्ट रहते ताे परमानेंट मेसमेकर लगाने की सुविधा भी हाे जाती शुरू
  • एक मरीज की माैत के बाद सहम गए डाॅक्टर, कह रहे-काॅर्डियाेलाॅजिस्ट आएंगे तभी शुरू हाे पाएगी सुविधा

(त्रिपुरारि) मेडिकल काॅलेज अस्पताल में तीन वर्ष पूर्व हार्ट के मरीजाें काे पेसमेकर लगाने के लिए एक लाख रुपए में मशीन की खरीद हुई। तीन मरीजाें काे पेसमेकर लगाया भी गया, लेकिन एक महिला की माैत के बाद अस्पताल ने पेसमेकर लगाना ही बंद कर दिया। अब हालत यह है कि हर माह हार्ट के करीब एक दर्जन ऐसे मरीज अस्पताल से वापस लाैट जाते हैं, जिन्हें पेसमेकर लगाने की जरूरत हाेती है।

टेम्पररी पेसमेकर लगाने की जिम्मेदारी अस्पताल के एनेस्थेटिक डाॅ. महेश कुमार काे दी गई थी। अस्पताल की ओर से यह पेसमेकर मुफ्त में दिया जाता था। अब मरीजाें काे 20 हजार रुपए खर्च कर प्राइवेट अस्पताल में पेसमेकर लगवाना पड़ रहा है। टेंपररी पेसमेकर की सुविधा सुचारु रहती ताे परमानेंट पेसमेकर पर भी काम शुरू हाेता। इससे मरीजाें के 60 हजार से एक लाख रुपए तक बच जाते। डाॅक्टराें का तर्क है कि काॅर्डियाेलाॅजिस्ट नहीं रहने से पेसमेकर लगाने में दिक्कत हो रही है।

मायागंज में पेसमेकर लगाने के नहीं लगते थे पैसे, अब जेब हो रही ढीली
मेडिसीन विभाग के डाॅ. हेमशंकर शर्मा ने बताया कि जिले में हार्ट के मरीजाें की संख्या बढ़ रही है। अस्पताल में हर सप्ताह दाे से तीन ऐसे मरीज आते हैं, जिन्हें पेसमेकर लगाने की जरूरत हाेती है। लेकिन सुविधा नहीं रहने के कारण उन्हें रेफर करना पड़ता है।

एनेस्थेटिक डाॅ. महेश कुमार ने बताया कि तीन मरीजाें काे पेसमेकर लगाया था। इसमें एक बीमार महिला राजनीतिक दल से जुड़े कार्यकर्ता की मां थी। परिजनाें काे गंभीरता के बारे में बता दिया था। बाद में महिला की माैत हाे गयी। इसके बाद उसमें बहुत लीगल मैटर यह आने लगा कि अस्पताल में काॅर्डियाेलाॅजिस्ट नहीं है। अस्पताल में पेसमेकर मुफ्त में लगता था।

हार्ट काे स्वस्थ रखने के लिए इनका रखें ध्यान

  • अपने वजन काे हमेशा कंट्राेल में रखें, तनाव दूर करें
  • काेलेस्ट्राॅल का लेवल चेक करवाते रहें
  • पान मसाला, गुटखा और धूम्रपान से परहेज करें
  • बीपी के स्तर काे हमेशा मेंटेन में रखें, पर्याप्त नींद लें
  • डायबीटिज की जांच कराते रहे।

डाॅक्टर से बात कर निकालेंगे निदान
^अभी आईसीयू में काेराेना मरीजाें का ही इलाज हाे रहा है। उन्हें नहीं पता है कि यहां पेसमेकर भी लगता है। एनेस्थेटिक से बात कर यह निदान निकालेंगे कि कैसे यह सुविधा यहां शुरू हाे सकती है।
डाॅ. अशाेक कुमार भगत, अधीक्षक, जेएलएनएमसीएच

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें