• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • On One Hand, Half The Electricity, On The Other Hand Faults, 97 Transformers That Came To Increase The Capacity Are Eating Dust In The Warehouse

6 घंटे मिली जरूरत की आधी 40 मेगावाट बिजली:एक तो आधी बिजली, दूसरी ओर हो रहे फॉल्ट, क्षमता बढ़ाने को आए 97 ट्रांसफार्मर गोदाम में खा रहे धूल

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोयला संकट से गहराए बिजली की कटौती ने शहरवासियों की परेशानी बढ़ा दी है। जितनी बिजली मिल रही है, उसमें भी बिजली कंपनी की अनदेखी से ट्रांसफार्मर हांफ रहे हैं। विभाग ने 2020 मंें 273 ट्रांसफार्मर दिए, लेकिन जिम्मेदारों ने 176 ट्रांसफार्मर ही बदले। बाकी स्टोर में धूल खा रहे हैं।

नतीजा, तीन दिन में फ्यूज कॉल सेंटर में सबसे अधिक शिकायत ट्रांसफार्मर से फेज उड़ने की आई। शनिवार रात 2 बजे से रविवार सुबह 7.44 बजे तक सबौर ग्रिड से शहर को 40 मेगावाट बिजली दी गई। इससे अधिकांश हिस्से में कटौती हुई। लोग उमस से परेशान रहे।

दर्जनों फीडर से लोड शेडिंग कर सप्लाई की गई। सुबह में पानी का संकट भी गहरा गया। तिलकामांझी फीडर सुबह 7.44 बजे तक लोड शेडिंग पर रहा। इससे जेल रोड सहित अन्य इलाके को बिजली नहीं मिली। मोजाहिदपुर पावर हाउस का हॉस्पिटल फीडर भी सुबह 7.25 बजे तक लोड शेडिंग पर रहा।

फुल लोड बिजली मिलने तक फीडर बंद रहा। नाथनगर पीएसएस के चारों फीडर बारी बारी से बंद रहे। यहां सुबह 6 बजे से 11 बजे तक संकट रहा। सुबह 7.46 बजे के बाद सबौर ग्रिड को 80 मेगावाट बिजली मिली तब सप्लाई ठीक हुई।

  • 2020 में 273 ट्रांसफार्मर मिले थे। अब तक 176 ट्रांसफार्मर लगे हैं। जब ट्रांसफार्मर मिला, कोरोनाकाल था। काम बाधित हुआ। दिसंबर तक ट्रांसफार्मर्स की क्षमता बढ़ाएंगे। - सुनील गावस्कर, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर, प्रोजेक्ट
खबरें और भी हैं...