रेफरल अस्पताल सुलतानगंज प्रभारी को हटाने का आदेश:आयुक्त ने डॉ.उषा कुमारी की जगह नया प्रभारी बनाने का दिया आदेश, रिश्वत मांगने वाला ऑडियो हुआ था वायरल

भागलपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेफरल अस्तपाल सुलतानगंज। - Dainik Bhaskar
रेफरल अस्तपाल सुलतानगंज।

रिश्वत मांगने वाली रेफरल अस्तपाल सुलतानगंज प्रभारी को हटाने का आदेश दिया गया है।आदेश आयुक्त दया निधान पांडे ने दिया है। भागलपुर सुलतानगंज के रेफरल अस्पताल में विगत दो दिन पूर्व भागलपुर प्रमंडलीय आयुक्त दया निधान पांडे ने निरीक्षण किया था। इसके बाद उन्होंने लेखा जोखा की जांच प्रड़ताल करने पर स्वास्थ्य कर्मचारी व रेफरल अस्पताल प्रभारी की अनियमितता को देखते हुए सिविल सर्जन डॉ.उमेश शर्मा को पत्र लिखकर रेफरल अस्पताल की प्रभारी डॉ.उषा कुमारी को तत्काल प्रभार से हटाते हुए नये रेफरल अस्पताल के प्रभारी बनाने का आदेश जारी किया है। इसको लेकर सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों में हडकंप देखी जा रही है।

रेफरल अस्पताल सुलतानगंज में जांच करते प्रमंडलीय आयुक्त, सीएस व अन्य अधिकारी। इसके बाद अस्पताल प्रभारी को हटाने का आदेश दिया।
रेफरल अस्पताल सुलतानगंज में जांच करते प्रमंडलीय आयुक्त, सीएस व अन्य अधिकारी। इसके बाद अस्पताल प्रभारी को हटाने का आदेश दिया।

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के ड्राइवर से कमीशन मांगने का था मामला
सुलतानगंज रेफरल अस्पताल का मामला था। इसमें राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के बेलोरो ड्राइवर सागर कुमार,रबकेश कुमार से कमिशन खोरी का ओडियो वायरल हुआ था। इसके बाद मामले पर जांच कमेटी बनाई गई थी।

सुलतानगंज की प्रभारी डॉक्टर उषा कुमारी। इनपर ही कमीशन मांगने का आरोप लगा था। इनको हटाया गया है।
सुलतानगंज की प्रभारी डॉक्टर उषा कुमारी। इनपर ही कमीशन मांगने का आरोप लगा था। इनको हटाया गया है।

सीएस डॉ.उमेश शर्मा ने जांच कमेटी बनाई थी। कमीशन खोरी मामले में रेफरल प्रभारी डॉ. उषा कुमारी,रेफरल प्रबंधक चंदन कुमार,लेखापाल सुजित झा से भी पुछताछ की थी। एसीएमओ डॉ.अंजना कुमारी ने इस दौरान वायरल ऑडियों की जांच कराने की बात कही थी।


मामले पर क्षेत्रीय अपर निर्देशक मांग चुके थे स्पष्टीकरण
भागलपुर सुलतानगंज रेफरल अस्पताल में कमीशनखोरी मामले स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्रीय अपर निर्देशक डॉ.अजय कुमार सिंह,आरपीएम अरुण प्रकाश, विजय कुमार, एस्टेनो राजीव नयन, राजू प्रसाद ने भी जांच की थी। क्षेत्रीय अपर निर्देशक अजय कुमार सिंह ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के ड्राइवर कुमार सागर व राकेश कुमार से मामले की जानकारी लेने के साथ ही लिखित आवेदन लिया था। वहीं रेफरल अस्पताल की प्रभारी डॉ.उषा कुमारी,रेफरल अस्पताल के प्रबंधक चंदन कुमार,लेखापाल सुजीत झा से कमीशन खोरी मामले का स्पष्टीकरण मांगा था।