• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Rebika, A Shiva Devotee From England To Sultanganj, 7 Came Across The Sea With Husband After Hearing About Kanwar Yatra In Sawan

इंग्लैंड से सुल्तानगंज आई शिव भक्त रेबिका:सावन में कांवर यात्रा के बारे में सुन 7 समंदर पार पति के साथ आई, बाबा वैद्यनाथधाम में करेंगे जलाभिषेक

भागलपुर4 महीने पहले
इंग्लैंड की रेबिका पति उत्सव के साथ।

श्रावणी मेले की शुरुआत हो चुकी है। शिव भक्त देश भर से भोलेनाथ के जलाभिषेक के लिए आ रहे हैं। ऐसे में विदेशों से भी शिव भक्त भागलपुर के सुल्तानगंज पहुंचने लगे हैं। इंग्लैंड की रेबिका भी सात समंदर पार कर भोलनाथ पर जल चढ़ाने के लिए अपने पति उत्सव के साथ भारत आ गईं। दोनों शनिवार को सुल्तानगंज पहुंचे और बाबा के जलाभिषेक के लिए रवाना हुए।

उत्सव भागलपुर के रहने वाले हैं। रेबीका इंग्लैंड में शिक्षक है और उनके पति उत्सव कई सालों से इंग्लैंड में नौकरी कर रहे हैं। रेबिका को जब न्यूज के माध्यम से बोलबम के बारे में पता चला तो उसने अपने पति से इस बारे में पूछा। उसके पति ने बताया कि उसके घर के आस पास से ही लाखों श्रद्धालु कांवर लेकर देवघर जाते हैं। यह जानकर रेबिका ने पति को इंडिया ले चलने की जिद की। इसके बाद दो हफ्ते पहले उत्सव अपनी दुल्हन रेबिका को भागलपुर लेकर आ गया। अब दोनों पति-पत्नी सुलतानगंज में स्नान करने के बाद देवघर भोलेनाथ पर जल चढ़ाने निकल गए।

सुल्तानगंज में गंगा नदी में जल भरते रेबिका और उत्सव।
सुल्तानगंज में गंगा नदी में जल भरते रेबिका और उत्सव।

अंग्रेजी बोलने वाली रेबिका बोली जय शिवा बोलबम
इंग्लैंड की रेबिका जब सुल्तानगंज के जहाज घाट पहुंची तो मीडिया से बात करते हुए हिंदी में बोली जय शिवा बोलबम। साथ ही रेबिका ने बताया की उसमें बोलबम के बारे में बहुत सुना था। साथ ही उन्होंने कहा कि वो हिंदू नहीं है लेकिन भगवान शिव और हिंदू धर्म को बहुत मानती है। वहीं, उनके पति उत्सव ने बताया कि रेबिका ने उससे जिद किया था भागलपुर आने के लिए। उन्होंने कहा कि पिछले दो सप्ताह से उन दोनों ने भागलपुर के कई मंदिरों में जाकर पूजा की है। उनकी पत्नी रेबिका को हिंदू धर्म के रीति-रिवाज बहुत पसंद है।

सुल्तानगंज में रेबिका और उत्सव।
सुल्तानगंज में रेबिका और उत्सव।

देवघर में शादी का करेंगे गठबंधन
उत्सव ने बताया कि यहां आने का उन दोनों का एक और मकसद है। उनकी शादी तो हो गई है लेकिन हिंदू रीति-रिवाज से गठबंधन नहीं हुआ। जहां वो देवघर जाकर बाबा भोले के दरबार में गठबंधन की रस्म पूरा करेंगे।