भागलपुर में फिर मिले दो बम:दो जिंदा विस्फोटक मिलने से मचा हड़कंप, कल टिफिन बम फटने से एक बच्चे की हुई थी मौत

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटना की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घेराबंदी कर मामले की जांच में जुट गई है। - Dainik Bhaskar
घटना की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घेराबंदी कर मामले की जांच में जुट गई है।

भागलपुर में मंगलवार को एक बार फिर दो जिंदा बम मिला है। इससे हड़कंप मच गया है। पुलिस ने एरिया की घेराबंदी कर जांच शुरू कर दी है। मामला जगदीशपुर थाना क्षेत्र के सैदपुर गांव स्थित बहियार का है। आज चौथा दिन है, जब जिले में बम बरामद किया गया। सोमवार को जमुनिया नदी घाट किनारे कचरे के अंदर रखे टिफिन बम के विस्फोट से वहां खेल रहे सात साल के बच्चे की माैत हाे गई थी।

बम निरोधक दस्ते ने जमुनिया नदी घाट के पास पांच और टिफिन बम बरामद किया था। टिफिन बम की बनावट देख एक्सपर्ट भी हैरान हैं। हालांकि, उसमें प्रयुक्त सामग्री देशी है, जिसे शक्तिशाली बताया जा रहा है। टिफिन के भीतर पोटेशियम, कांटी व गिट्टी मिले हैं। विस्फोट में बच्चे की दाईं आंख के आसपास का पूरा हिस्सा उड़ गया था। मायागंज अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी माैत हाे गई थी। बम एक टिफिन में था, जिसे बच्चे ने उठा लिया और उसे खोला तो वह ब्लास्ट कर गया। बाकी पांच बम भी उसी के आसपास थे, जिन्हें दस्ते ने खोलकर अलग दिया।

नाथनगर में पिछले पांच दिनाें में बम विस्फोट की यह तीसरी घटना है। सभी विस्फोट लावारिस स्थित में रखे बम के फटने से हुए हैं। इससे पहले 9 दिसंबर काे स्टेशन के पास पटरी किनारे एक बैग में बम रखा था। उसके खोलते ही ब्लास्ट हाेने से कचरा चुनने वाले एक व्यक्ति की माैत हाे गई थी। FSL की टीम काे वहां स्टील का टुकड़ा मिला था। 11 दिसंबर काे कचरे में रखे बम के फटने से मोमिन टोला में दाे बच्चे जख्मी हाे गए थे। लगातार बम विस्फोट से इलाके के लोगों में दहशत है।

पिछले 5 दिन में यहां पर हुए बम विस्फोट

  • 9 दिसंबर: सुबह करीब 6 बजे एसएस बालिका उच्च विद्यालय के समीप रेलवे ट्रैक किनारे। इसमें कूड़ा चुनने वाले एक व्यक्ति की माैत हाे गई। उसकी अब तक पहचान नहीं हो पाई है। इस मामले में पुलिस की जांच अभी जारी है।
  • 11 दिसंबर: दोपहर ढाई बजे मोमिन टोला में एक परती जमीन के कूड़े के ढेर में रखा बम फट गया था। इसमें दो बच्चे मो. युसुफ और मो. जिशान आंशिक रूप से घायल हाे गए थे। बम कहां से आया इस बारे में अब तक कुछ भी पता नहीं चला है।
  • 13 दिसंबर: मकदूम साह दरगाह लेन के घाट किनारे बम विस्फोट। इस विस्फोट में सात साल के बच्चे की जान चली गई।
खबरें और भी हैं...