सृजन घोटाले मामले में सिविल कोर्ट में सुनवाई:सृजन घोटाले की आरोपी जसीमा की जमानत खारिज; जसीमा, अपर्णा व राजरानी को सीबीआई ने किया था गिरफ्तार

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पटना सिविल कोर्ट स्थित सीबीआई के विशेष जज ने अरबों रुपयों के सृजन घोटाले के एक मामले में अभियुक्त जसीमा खातून की नियमित जमानत की अर्जी खारिज कर दी। इस मामले में सीबीआई ने अनुसंधान के बाद कुल 10 अभियुक्तों के खिलाफ 31 दिसंबर 2020 को आरोप पत्र दाखिल किया था। अभियुक्तों ने आपसी षड्यंत्र से सरकारी राशि का गबन किया है।

उक्त मामले में अभी तक 8 अभियुक्त को सीबीआई ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। गौरतलब है कि 30 नवंबर काे सीबीआई ने भागलपुर में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई कर सबौर स्थित पूर्व रालोसपा नेता अभिषेक उर्फ दीपक वर्मा के आवास पर छापेमारी कर अपर्णा वर्मा और उनकी जेठानी समर उर्फ समरेंद्र वर्मा की पत्नी राजरानी वर्मा को गिरफ्तार किया था।

सीबीआई इंस्पेक्टर कुलदीप बाल्यान की अगुवाई में दूसरी टीम ने विवि थाना के साहेबगंज स्थित पठान टोला में हाउस नं. 10 से जसीमा खातून को गिरफ्तार किया। तीनों को सुबह करीब 7-8 बजे बेडरूम से बाहर निकलते ही गिरफ्तार किया था। तीनों पर 12 अगस्त को अरेस्ट वारंट जारी हुआ था। तीनों पर सबौर थाने में एफआईआर (241/2017) दर्ज है। यह केस सीबीआई ने दिल्ली मुख्यालय आरसी 2172018ए0006 यानी आरसी 6(ए) 2018 में दर्ज किया था।

खबरें और भी हैं...