पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेटा ऐसी गहरी नींद सोया कि फिर उठा ही नहीं:रात में मां से फोन पर हुई थी बात, बोला था- अभी खाना बना रहे हैं, खाकर कुछ देर पढ़ाई करेंगे फिर सो जाएंगे, सुबह फ्रेश होकर किया सुसाइड

भागलपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक अंकित की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मृतक अंकित की फाइल फोटो।
  • घटना भागलपुर के ततारपुर थाना क्षेत्र के सराय किला घाट इमामबाड़ा के पास की है

भागलपुर में इंटर के एक छात्र ने खुदकुशी कर ली है। न कोई दुख न तनाव फिर भी जिंदगी क्यों बोझ बन गई, यह बात मां-पिता की समझ से परे है। मां गहरे सदमे में है। रो-रोकर सिर्फ इतना ही कह रही है कि रात में बबुआ फोन पर बात किया था। बोला था कि मां मैं अभी खाना बना रहा हूं। खाना खाकर कुछ देर पढ़ाई करूंगा, इसके बाद सो जाउंगा। लेकिन, बेटा ऐसी गहरी नींद सोया कि फिर उठा ही नहीं।

घटना भागलपुर के ततारपुर थाना क्षेत्र के सराय किला घाट इमामबाड़ा के पास की है। यहां लॉज में रहकर पढ़ाई कर रहे इंटर के एक छात्र अंकित ने गमछे से फंदा डालकर खुदकुशी कर ली। वह मुंगेर के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के झुंझुनिया पौरिया निवासी प्रदीप शर्मा का 17 वर्षीय पुत्र था। घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और लाश को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया।

क्या कहते हैं अंकित के दोस्त
अंकित सराय स्थित मुन्ना लॉज में रहकर पढ़ाई करता था। वह इंटर फर्स्ट ईयर का छात्र था। उस हॉस्टल में अपने एक ममेरे भाई और अपने गांव के दोस्तों के साथ रहता था। मुन्ना लॉज के दूसरे कमरे में रहने वाले अंकित के मौसेरे भाई यीशु ने बताया कि आज सुबह अंकित साढ़े पांच के करीब जगा था। फिर फ्रेश होकर अपने कमरे में चला गया। तकरीबन 1 घंटे के बाद जब अंकित का मित्र दर्शन खाना बनाने के लिए गया, तो दरवाजा अंदर से बन्द था। जब दो-तीन बार पुकारने के बाद भी अंदर से कोई जवाब नहीं मिला, तब उसने अंकित के ममेरे भाई यीशु को बुलाया। दोनों ने मकान मालिक को बुलाकर जब खिड़की से देखा तो अंकित को फंदे से झूलते हुए पाया। मकान मालिक ने तुरंत पुलिस को घटना की सूचना दी।

न कोई दुख न तकलीफ, फिर क्यों कर ली आत्महत्या
अंकित के पिता ने बताया कि कल रात में अंकित ने फोन किया था। उसने काफी देर अपनी मां से बात की थी। उसकी बातचीत से ऐसा कहीं कुछ नहीं लगा कि वह उदास या परेशान है। किस बात को लेकर उसने खुदकुशी जैसा कदम उठा लिया, यह समझ में नहीं आ रहा है।

अंकित का मोबाइल जब्त कर मौत की गुत्थी सुलझा रही पुलिस
घटना के संबंध में थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया कि घटनास्थल की पूरी तरह से छानबीन की गई, लेकिन कहीं सुसाइड नोट नहीं मिला। परिजन भी फिलहाल कुछ नहीं बता रहे हैं। पुलिस अंकित का मोबाइल जब्त कर कॉल डिटेल्स निकालने में जुट गई है। पुलिस की मानें तो बहुत जल्द मामले का खुलासा हो जाएगा।

एक्सपर्ट की राय - छात्रों से दोस्ताना व्यवहार करें माता-पिता

छात्र के सामने आखिर क्या ऐसी समस्याएं आती हैं जो वे परिस्थितियों से हार मानकर आत्मघाती कदम उठा लेते हैं। भास्कर ने इस मामले पर एक्सपर्ट से बात की और जानना चाहा कि ऐसा क्यों होता है। हमें जो बातें पता चलीं, वे हैं -

  • मनोवैज्ञानिक डॉ. मनोज कुमार ने बताया कि14 से 18 की उम्र में जो किशोर होते हैं उस उनका शारीरिक और मानसिक परिवर्तन काफी तेजी हो जाता है। इस उम्र में किशोर काफी आवेग-शील रहते हैं। अपने आवेश पर नियंत्रण नहीं कर पाने की वजह से ये लोग कई बार विपरीत परिस्थिति में सही फैसले नहीं ले पाते हैं। एक शोध के मुताबिक 14-18 की उम्र के लड़के-लड़कियों को ही ज्यादातर मानसिक समस्याएं सामने आती हैं। यह लोग किसी भी गलत या सही कार्य के लिए पारिवारिक और सामाजिक अनुमोदन चाहते हैं। जब यहां से जब उन्हें अनुमोदन नहीं मिलता है तो कई बार वे आत्मघाती कदम उठा लेते हैं।

माता-पिता को बच्चों के साथ दोस्ताना व्यवहार करना चाहिए

डॉ. मनोज कुमार के अनुसार, परिवार में किसी की मृत्यु हो जाना, ग्रामीण परिवेश से आने वाले छात्रों में हीन भावना पैदा हो जाना, माता-पिता और शिक्षकों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरना, घर से दूर रहकर पढ़ाई कर, हद से ज्यादा कंपटीशन का दबाव आदि बातें भी छात्रों को आत्महत्या की ओर ले जाता है। ऐसे में माता-पिता को 18 से कम उम्र के बच्चों के साथ दोस्ताना व्यवहार करना चाहिए। उनसे सीधा संवाद करना चाहिए। उन्हें अपने बच्चों के प्रति दूसरे से तुलनात्मक नजरिया नहीं रखना चाहिए। परिवार में बच्चों को महत्व देना चाहिए। उनकी छोटी-छोटी बातों को सुनना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser