पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • The Arrested Sagar Told His Story To The Police, The Team Engaged In Investigating The Claims, Aurangzeb Was Saying To Sell Smack, He Took Out The Firearm, Sagar Opened Fire In The Snatch

औरंगजेब हत्याकांड:गिरफ्तार सागर ने पुलिस को बताई अपनी कहानी, दावों की जांच में लगी टीम, स्मैक बेचने कह रहा था औरंगजेब, उसी ने निकाला तमंचा, छीना-झपटी में सागर ने चला दी गोली

भागलपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मो. अजहर इमाम उर्फ आजाद और मो. सागर। - Dainik Bhaskar
मो. अजहर इमाम उर्फ आजाद और मो. सागर।
  • एक और आरोपी गिरफ्तार, थाने में कुल 3 पर केस दर्ज

तातारपुर के हकीम अमीर हसन लेन निवासी नशीले पदार्थों की खरीद-बिक्री से जुड़े मो. औरंगजेब की हत्या मामले में पुलिस ने एक और आरोपी मो. सागर को गिरफ्तार किया है। वह उर्दू बाजार मस्जिद के पास का रहने वाला है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने एक लोडेड कट्‌टा बरामद किया है। लेकिन बरामद उक्त हथियार का औरंगजेब की हत्या में उपयोग नहीं हुआ है।

पुलिस सागर से पूछताछ कर रही है। इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने वारदात के कुछ देर बाद ही एक अन्य आरोपी मो. अजहर इमाम उर्फ आजाद को गिरफ्तार कर लिया था। आजाद भी उर्दू बाजार का रहने वाला है। उसके पिता मो. असलम झारखंड पुलिस के रिटायर्ड जमादार हैं।

सागर से लोडेड कट्‌टा बरामद, पूछताछ जारी, जमादार के बेटे आजाद को भेजा जेल

बरामद हथियार।
बरामद हथियार।

हत्या में इस्तेमाल हुए हथियार की तलाश में जुटी है पुलिस
मामले में अब तक कुल 2 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं और फरार आरोपी शाहरूख की तलाश की जा रही है। पूछताछ में गिरफ्तार सागर ने पूरी वारदात का खुलासा किया है। उसने पुलिस को कई अहम जानकारी दी है। सागर का कहना है कि औरंगजेब स्मैक समेत अन्य नशीले पदार्थों की खरीद-बिक्री से जुड़ा हुआ था।

वह सागर पर स्मैक बेचने का दबाव बना रहा था। इस एवज में 50 रुपए प्रति पुड़िया सागर को देने की बात औरंगजेब ने कही थी। लेकिन सागर स्मैक बेचने को तैयार नहीं हुआ। इस पर सागर और औरंगजेब में विवाद हो गया था। इसी विवाद के कारण सागर ने अौरंगजेब की हत्या की।

सागर का दावा है कि शनिवार शाम को वह औरंगजेब से मिलने उसके घर गया था। तभी विवाद होने पर औरंगजेब ने ही हथियार निकाल लिया था और छीना-झपटी में गोली चल गई थी। गोली सागर के हाथ से चली थी। वारदात के बाद सागर हथियार लेकर वहां से फरार हो गया था।

पकड़े जाने के भय से उसने हथियार को कहीं फेंक दिया था। पुलिस सागर के दावों की जांच कर रही है और हत्या में प्रयुक्त हथियार की बरामदगी का प्रयास कर रही है। अगर उक्त हथियार बरामद होता है तो वह केस में अहम सबूत होगा। गिरफ्तार आजाद को पुलिस ने कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया, जहां से उसे जेल भेजा गया, जबकि गिरफ्तार सागर को सोमवार को कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा।

मोहल्ले का पड़ोसी शाहरूख से भी औरंगजेब का हुआ था झगड़ा
उधर, औरंगजेब की हत्या मामले में उसके भाई मो. इरफान ने तातारपुर थाने में मो. सागर, मो. अजहर इमाम उर्फ आजाद (दोनों उर्दू बाजार) और मो. शाहरूख (हकीम अमिर हसन लेन, तातारपुर) के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया है। इरफान का कहना है कि शनिवार शाम को वह घर लौटा और गली में बाइक लगा रहा था। तभी घर के दरवाजे पर सागर, आजाद और शाहरूख को देखा तो उनसे पूछा कि क्या बात है। आजाद ने कहा कि औरंगजेब से काम है।

कुछ क्षण बाद औरंगजेब घर से बाहर निकला। इरफान बाइक लगा कर घर के भीतर चला गया। तभी अचानक बकझक की आवाज पर बाहर निकला तो देखा कि आजाद, सागर और शाहरूख मेरे भाई औरंगजेब को घेर हुए है। इतने में सागर ने पिस्तौल निकाल कर औरंगजेब के सिर में गोली मार दी। इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। वारदात के बाद इरफान और उसके परिजनों ने तीनों बदमाशों का पीछा भी किया, लेकिन सभी भागने में सफल रहे।

खबरें और भी हैं...