पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • The Condition Of Two Big Hospitals Of The District, Mayaganj And Sadar Is Worse, Patients Are Craving For Facilities

सेहत का सिस्टम बीमार:जिले के दो बड़े अस्पताल मायागंज व सदर की हालत बदतर, सुविधाओं को तरस रहे मरीज

भागलपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खराब पड़ी अल्ट्रासाउंड मशीन। - Dainik Bhaskar
खराब पड़ी अल्ट्रासाउंड मशीन।
  • सदर में प्रिंटर हुआ खराब, बिना अल्ट्रासाउंड कराए लौटे 37 मरीज, पटना की ठेका एजेंसी काे दी सूचना, आज ठीक होगी मशीन
  • मायागंज और सदर में दवाइयों का टोटा, कफ सीरप तक नहीं, सदर के स्टोर में दवा, पर मरीजों को कांउटर से नहीं मिल रही

सदर अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन का प्रिंटर खराब हाेने से मंगलवार काे करीब 37 मरीजाें की जांच नहीं हाे सकी। बिना जांच ही उन्हें लाैटना पड़ा। 17 मरीजाें काे 1100 रुपए देकर निजी में जांच करानी पड़ी। इस जांच पर मरीजाें ने 18700 रुपए खर्च किए। अस्पताल में अल्ट्रासाउंड जांच करने जैसे ही डाॅ. अंजना पहुंचीं, प्रिंटर बंद हाे गया।

उन्हाेंने इसकी सूचना अस्पताल प्रभारी डाॅ. एके मंडल काे दी। मंडल ने एक कंप्यूटर ऑपरेटर काे ठीक करने भेजा। लेकिन मशीन ठीक नहीं हुई। दूसरे ऑपरेटर काे भी बुलाया, पर समस्या बनी रही। इसके बाद पटना की एजेंसी को बताया गया। बताया जा रहा है कि बुधवार को वीडियो कॉल कर प्रिंटर ठीक किया जाएगा।

अलीगंज की अंजलि देवी साढ़े पांच माह की गर्भवती है। उसे ओपीडी में डाॅ. अल्पना मित्रा ने अल्ट्रासाउंड जांच कराने की सलाह दी। वे जांच को गई तो नर्स ने मशीन खराब होने पर पर्चा लेने से इनकार कर दिया। नाथनगर की गर्भवती रेशमा 7 माह में एक बार भी जांच को नहीं आई।

10 दिन पहले वह दिल्ली से लौटी तो आशा रीता देवी के साथ अस्पताल पहुंची। लाेदीपुर की खुशबू ने भी अल्ट्रासाउंड के लिए पर्चा जमा किया। लेकिन मशीन खराब होने से उन्हें निजी में जांच करानी पड़ी। अन्य महिलाओं को निजी में जांच के लिए जाना पड़ा।

  • मशीन ठीक करने के लिए एजेंसी से कहा है। बुधवार काे प्रिंटर ठीक हो जाएगा। - डाॅ. एके मंडल, प्रभारी, सदर अस्पताल

मायागंज और सदर में दवाइयों का टोटा, कफ सीरप तक नहीं, सदर के स्टोर में दवा, पर मरीजों को कांउटर से नहीं मिल रही
मायागंज और सदर अस्पताल में सामान्य बीमारियों की दवा नहीं मिल रही है। मायागंज में दर्द की दवा, कफ सीरप, एंटीबायोटिक एजिथ्रोमाइसिन तक ओपीडी में नहीं मिल रही। सदर अस्पताल में के स्टोर में विटामिन की दवा होने के बाद भी मरीजों को नहीं मिल रही। उन्हें बाजार से दवा खरीदनी पड़ रही है।

हालांकि मंगलवार काे तीन ट्रक दवा मायागंज अस्पताल को मिली हैं। लेकिन इनके मिलान के बाद ओपीडी में सप्लाई करने में तीन दिन लगेंगे। प्रबंधन का कहना है कि दवा की कमी थी। अब नहीं है। सप्लाई मिली है। सदर अस्पताल में विटामिन बी-काॅम्पलेक्स सीरप, टैबलेट, कैल्शियम, एजिथ्राेमाइसिन, डाइक्लाेफेनिक व अन्य काॅमन दवा हैं।

लेकिन ओपीडी में डाॅक्टर के मल्टीविटामिन लिखने पर दवा काउंटर से विटामिन की भी दवा नहीं दी जा रही। नर्सिंग स्टाफ का कहना है कि मल्टीविटामिन लिखने के कारण विटामिन की दवा नहीं देते हैं। सीएस डॉ. उमेश शर्मा ने बताया, पूछताछ करेंगे। विटामिन की दवा पर्याप्त हैं। यदि काउंटर में नहीं था तो समय पर लेना चाहिए था। बुधवार से व्यवस्था बनेगी।

सदर अस्पताल में फूलन देवी को विटामिन की दवा नहीं मिली।
सदर अस्पताल में फूलन देवी को विटामिन की दवा नहीं मिली।
खबरें और भी हैं...