पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

औरंगजेब हत्याकांड:कत्ल में प्रयुक्त तमंचा बरामद नहीं, आरोपी को भेजा गया जेल

भागलपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

तातारपुर के हकीम अमिर हसन लेन निवासी औरंगजेब की हत्या मामले में पुलिस ने गिरफ्तार मुख्य आरोपी मो. सागर को कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। सागर उर्दू बाजार मस्जिद के पास का रहने वाला है। पूछताछ में सागर ने अौरंगजब की हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। उसके पास से लोडेड कट्‌टा भी बरामद हुआ था। इस मामले में सागर पर तातारपुर थाने में आर्म्स एक्ट का भी केस दर्ज किया गया है। सागर की गिरफ्तारी उस समय हुई, जब औरंगजेब की हत्या कर वह भागलपुर से भागने की तैयारी में था। पूछताछ में सागर ने बताया कि बरामद हथियार का औरंगजेब की हत्या में प्रयोग नहीं हुआ है। जिस हथियार से औरंगजेब की हत्या की थी, वारदात के बाद उसे फेंक दिया था। पुलिस ने फेंके गए उक्त हथियार की बरामदगी का काफी प्रयास किया, लेकिन वह नहीं मिला।

औरंगजेब की हत्या मामले में उसके भाई मो. इरफान ने तातारपुर थाने में मो. सागर, मो. अजहर इमाम उर्फ आजाद और मो. शाहरूख के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया था। पुलिस सागर और आजाद को गिरफ्तार कर चुकी है। जबकि फरार शाहरूख की तलाश की जा रही है। सागर के मुताबिक, औरंगजेब नशीले पदार्थों की खरीद-बिक्री करता था और उसी में उसकी हत्या हुई।

सैफ की हत्या में फरार आफताब और शाहरूख की गिरफ्तारी नहीं: हकीम अमीर हसन लेन निवासी टीएमबीयू पीजी (बॉटनी) के रिटायर प्रोफेसर डॉ. शहाब अहमद के पुत्र मो. सैफ शहाब की हत्या मामले में अब तक मुख्य आरोपी आफताब और शाहरूख की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। दोनों घर छोड़ कर फरार हैं। आफताब पहले से मोजाहिदपुर थाने के केस में फरार चल रहा है। इस मामले में पुलिस एक आरोपी मो. पिंटू को गिरफ्तार कर चुकी है।

खबरें और भी हैं...