• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • The First Were 14; Now The Patients Getting Are Not Increased Center, Investigation Only In Station, Mayaganj And Sadar

सिस्टम ही संक्रमित!:पहले थे 14; अब मिल रहे मरीज तो नहीं बढ़े केंद्र, सिर्फ स्टेशन, मायागंज व सदर में ही जांच

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच केंद्र के सामने से बिना जांच निकल रहे हैं यात्री। - Dainik Bhaskar
रेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच केंद्र के सामने से बिना जांच निकल रहे हैं यात्री।

कोरोना की तीसरी लहर की आहट तेज हो गई है। इक्के-दुक्के संक्रमितों की पहचान भी हो रही है, लेकिन इसे समय रहते रोकने की स्वास्थ्य विभाग की कोई व्यवस्था नजर नहीं आ रही। पहले जहां कोरोना जांच के लिए 14 स्थानों पर व्यवस्था थी, अब महज तीन स्थानों पर ही जांच हो रही है। रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर रोज लोग आ-जा रहे हैं, लेकिन यहां जांच नहीं की जा रही है।

लापरवाही का आलम यह है कि रेलवे स्टेशन पर जांच की व्यवस्था तो है, लेकिन आरपीएफ और जीआरपी जवानों की तैनाती न होने से सभी यात्रियाें की जांच नहीं हाे रही है। कई यात्री स्टेशन पर बने दर्जनभर से ज्यादा चोर दरवाजे से निकल रहे हैं तो कई जांच को केंद्र तक पहुंच ही नहीं पा रहे। शहर के सबसे व्यस्तम वैरायटी चौक पर भी जांच की व्यवस्था नहीं बनाई जा रही।

इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि रोज 5 हजार एंटीजन और आरटीपीसीआर टेस्ट हो रहे हैं। लापरवाही यहीं खत्म नहीं हो रही, स्कूलों में बच्चों को दो गज की दूरी और मास्क की अनिवार्यता होने के बाद भी सभी नियम टूट रहे हैं। बच्चे न तो मास्क में हैं और न ही सामाजिक दूरी मेंटेन कर रहे हैं।

इससे संक्रमण का खतरा भी बना हुआ है। हालांकि प्रभारी डीएम प्रतिभा रानी ने मास्क चेकिंग ड्राइव चलाने का दावा किया है। मायागंज के कोरोना वार्ड के नोडल पदाधिकारी डॉ. हेमशंकर शर्मा कहते हैं कि संक्रमण जांच से ही पकड़े जाएंगे। इसलिए हमें इस पर विशेष ध्यान देना होगा।

दावा: जिले में राेज 5000 की हाे रही एंटीजन जांच अब विदेश से आए लाेगाें की शुरू हुई सैंपलिंग
साेमवार काे शहर में हुई जांच

  • 350 एंटीजन टेस्ट हुए, 160 की हुई आरटीपीसीआर जांच
  • 227 की रेलवे स्टेशन पर हुई एंटीजन जांच
  • 3600 आरटीपीसीआर जांच रोज मायागंज की लैब में हाे रही

लापरवाही

तिलकामांझी में जांच, स्कूल में बिना मास्क के बच्चे
तिलकामांझी चाैक पर पुलिस ने ठेला, खाेमचा, सब्जी बिक्रेताओं व आम लाेगाें के मास्क की जांच की। मास्क न पहनने वालों से जुर्माना वसूला। कार्रवाई होते देख कई ने मास्क खरीदकर पहना। दूसरी ओर सरकारी स्कूलों में बच्चे मिला मास्क के नजर आए। यहां किसी गाइडलाइन का पालन होता नहीं दिखा।

तैयारी...
1. विदेश से आए दाे लोगों के लिए सैंपल

विदेश से आए 12 लाेगाें की जांच के लिए माेबाइल टीम मायागंज इलाके में भेजी गई। यहां 9 साल की बच्ची, एक महिला का सैंपल लिया। वे हाल ही में यूके से आए हैं। एक से संपर्क न होने से सैंपल नहीं लिया जा सका।

2. निगम कराएगा सैनिटाइजेशन
निगम क्षेत्र में संक्रमण राेकने जल्द सैनिटाइजेशन की व्यवस्था निगम ने करने की बात कही है। नगर आयुक्त प्रफुल्लचंद्र यादव ने कहा, जिस इलाके में संक्रमित मिलेंगे, वहां अपनी टीम भेजकर सैनिटाइजेशन कराएंगे।

​​​​​​सवाल : जांच नहीं बढ़ी तो कैसे रुकेगा संक्रमण

अव्यवस्था...

अभी यहां हो रही जांच - सदर अस्पताल, मायागंज अस्पताल और रेलवे स्टेशन।

पहले यहां होती थी कोरोना जांच
वेराइटी चाैक, तिलकामांझी, निजी और तिलकामांझी सरकारी बस स्टैंड, नाथनगर बुधिया अस्पताल, चंपानगर, रिकाबगंज, किला घाट, हुसैनाबाद, माेहद्दीनगर, हाउसिंग बाेर्ड, सदर अस्पताल, सच्चिदानंद नगर, मायागंज अस्पताल।

दावा... अभी यह है तैयारी
सभी शहरी पीएचसी में एंटीजन किट और आरटीपीसीआर जांच के सैंपल लेने के लिए किट दिए हैं। किसी वार्ड में मरीज की पहचान करनी हाेगी ताे उस इलाके के पीएचसी काे सूचना दे एंबुलेंस भेजी जाएगी और जांच कराई जाएगी।

सुझाव : फ्रंटलाइनर्स काे दें बूस्टर डाेज
आईएमए अध्यक्ष डाॅ. संदीप लाल ने सुझाव दिया कि फ्रंटलाइर्स काे बूस्टर डाेज दिए जाएं। इससे वे सुरक्षित रहेंगे और मरीजाें की सेवा कर सकेंगे। अमेरिका में बूस्टर डाेज दिए जा रहे हैं। आम लोगों को भी यह डोज दें।

विदेश से आने वाले लाेगाें की काेराेना जांच हमने शुरू कर दी है। जांच अभी और बढ़ाएंगे। कुछ माेबाइल टीम भी बनेगी, इसकी तैयारी चल रही है।- डाॅ. उमेश शर्मा, सिविल सर्जन

नई गाइडलाइन नहीं आई है। पुरानी गाइडलाइन फॉलो करा रहे हैं। स्कूलों में मास्क चेकिंग ड्राइव चलाएंगे। स्कूलों को मास्क लगवाने के निर्देश देंगे।- प्रतिभा रानी, प्रभारी डीएम व डीडीसी

खबरें और भी हैं...