• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • The Team Came To See The Facilities In The Night Shelters, Cameras Were Installed Before Reaching Nathnagar To Show Fit On The Standard

रैन बसेराें की हालत में सुधार:रैन बसेरों में सुविधाएं देखने आई टीम, मानक पर फिट दिखाने को नाथनगर पहुंचने से पहले लगा दिए कैमरे

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जांच टीम के साथ निगम में बैठक करते डे-एनयूएलएम के मृत्युंजय कुमार व अन्य। - Dainik Bhaskar
जांच टीम के साथ निगम में बैठक करते डे-एनयूएलएम के मृत्युंजय कुमार व अन्य।
  • जांच टीम के साथ निगम में बैठक करते डे-एनयूएलएम के मृत्युंजय कुमार व अन्य।

नगर निगम क्षेत्र में रैन बसेराें की हालत में सुधार करने के लिए गुरुवार को केंद्र से आई 8 सदस्यीय टीम ने निगम सभागार में बैठक की। इसके बाद नाथनगर स्थित रैन बसेरा देखने पहुंची। इससे पहले ही वहां सीसीटीवी कैमरा लगा दिया गया। ताकि टीम के आने पर नई गाइडलाइन के अनुसार रैन बसेरा दिख सके। हालांकि टीम काे खिड़कियाें में मच्छराें से बचाने के लिए नेट लगाने और शिकायत पेटी नहीं दिखी।

अब यह टीम 25 अक्टूबर तक शहर के बाकी हिस्साें में भी पता लगाएगी कि रैन बसेरे में रहने के लिए रोज कितने लाेग आते हैं। कितनों को इस सेवा की जरूरत है। बैठक में डे-एनयूएलएम के काेऑर्डिनेटर मृत्युंजय कुमार सिन्हा, अमरेंद्र कुमार व अन्य माैजूद थे। इधर, रैन बसेराें के मैनेजर व केयर टेकर ने निगम से अपील कर कहा है कि 7 माह से पगार नहीं मिली है।

मिलेगी ट्रेनिंग, ताकि अच्छी सुविधाएं दे सकें
निरीक्षण के बाद रैन बसेरा के मैनेजर से केयर टेकर और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं काे ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग के बाद वे लोगों को अच्छी सुविधाएं दे सकेंगे। टीम यह भी देखेगी कि हर माह मैनेजर को 5500 और केयर टेकर को 4 हजार रुपए पगार मिल रही है या नहीं? पीने का पानी, और टाॅयलेट की स्थिति, बेडशीट और तकिए आदि भी उपलब्धता देखेगी। टीम की इस रिपोर्ट पर सरकार सुधार के लिए कदम उठाएगी।

खबरें और भी हैं...