• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • The Time For Calling A Special Meeting On The No confidence Motion Is Over, The Mayor Did Not Give The Date, The Letter Given To The Municipal Commissioner, Said Take Guidance From The Law Department

कुर्सी पर सियासत:अविश्वास प्रस्ताव पर विशेष बैठक बुलाने का समय खत्म, मेयर ने नहीं दी तारीख, नगर आयुक्त को दिया पत्र, बोलीं- विधि विभाग से लें मार्गदर्शन

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेयर सीमा साह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के मामले में विशेष बैठक बुलाने की तारीख तय करने का समय मंगलवार को खत्म गया। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
मेयर सीमा साह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के मामले में विशेष बैठक बुलाने की तारीख तय करने का समय मंगलवार को खत्म गया। फाइल फोटो

मेयर सीमा साह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के मामले में विशेष बैठक बुलाने की तारीख तय करने का समय मंगलवार शाम 5 बजे खत्म हाे गया। मेयर ने बैठक नहीं बुलाई। उन्होंने नगर आयुक्त काे प्रस्ताव के लिए विधि विभाग से मार्गदर्शन लेने का पत्र भेजा। मेयर ने नगर आयुक्त पर निगम में हाे रहे घाेटाले काे दबाने के लिए प्रताड़ित करने का भी आराेप लगाया। प्रस्ताव लाने वाले पार्षद संजय सिन्हा पर कानूनी कार्रवाई के लिए कानून की किताबाें के साथ दफ्तर में सलाहकाराें से रायशुमारी करती रहीं।

उन्हाेंने कहा, संजय पर पहले से चल रहे मुकदमे की काॅपी भी सीएम नीतीश कुमार व महिला आयाेग से सबूत के साथ शिकायत करूंगी। इधर, विरोधी खेमे से पार्षद संजय सिन्हा भी निगम में दाे घंटे तक आधा दर्जन से ज्यादा पार्षद-समथर्काें के साथ रणनीति बनाते रहे। संजय सिन्हा ने कहा, बुधवार काे नगर आयुक्त समेत सीनियर अफसरों को पत्र देकर विशेष बैठक बुलाने का आग्रह करेंगे।

बता दें कि मेयर के विशेष बैठक न बुलाने पर नगरपालिका एक्ट में मुख्य नगरपालिका अधिकारी काे बैठक बुलाने का अधिकार है। पार्षदों का कहना है कि पत्र देने के 72 घंटे बाद तक अफसरों के निर्देश का इंतजार करेंगे। इसके बाद आगे की रणनीति बनाएंगे। ऐसे में अब यह मामला हाईकाेर्ट जाने के लगभग कगार पर पहुंच गया है।

मेयर का हमला, बोलीं-दागी पार्षद की करूंगी शिकायत
मेयर ने मामले में व्यक्तिगत हमले भी शुरू कर दिए हैं। पहले प्रस्ताव लानेवाले संजय सिन्हा पर पहले से चले मामले का केस नंबर जारी किया। कहा, दागी पार्षद का दाग समय आने पर सीएम से मिलकर बताएंगे। मेयर समर्थक पार्षदाें में प्रमाेद लाल, सदानंद चाैरसिया, दिनेश तांती, अनिल पासवान ने भी मेयर के फैसले पर सहमति दी।

सत्ता और विपक्ष दाेनाें खेमे में दिखे पार्षद पति
वार्ड 5 की पार्षद फरहाना के पति माे. रिजवान और पार्षद शशिकला देवी के पति दीपक साह सत्ता पक्ष व विपक्षी खेमे दाेनाें के साथ बैठे दिखे। हालांकि दाेनाें ने इस अविश्वास से खुद काे किनारे बताया। कहा, हमारे व्यक्तिगत रिश्ते हैं, इसलिए निगम में आए ताे मिले।

मांगी है कानूनी सलाह
मेरे पास मेयर का पत्र आया है कि विधि विभाग से मार्गदर्शन लें। हमने सरकारी वकील से कानूनी सलाह मांगी है। सलाह मिलने पर आगे की कार्रवाई नियमानुसार होगी। आराेप-प्रत्याराेप पर मुझे कुछ नहीं कहना है।
- प्रफुल्लचंद्र यादव, नगर आयुक्त

खबरें और भी हैं...