• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Three Women Accused In Judicial Custody Till December 13; CBI Is Investigating The Horoscope Of Aparna, Rajrani And Jasima's Husband

सृजन घोटाला:तीन महिला आरोपी 13 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में; अपर्णा, राजरानी और जसीमा के पति की कुंडली खंगाल रही है सीबीआई

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीबीआई ने सृजन घोटाले की आरोपी तीनों महिलाओं को बुधवार को पटना स्थित सीबीआई के स्पेशल जज अनंत कुमार की अदालत में पेश किया, जहां से तीनों को 13 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। जांच एजेंसी ने मंगलवार को सबौर से अपर्णा वर्मा, राजरानी वर्मा और पठानटोला से जसीमा खातून को गिरफ्तार किया था। तीनों के खिलाफ संबंधित कोर्ट से अगस्त में ही अरेस्ट वारंट जारी था।

सीबीआई अधिकारी कुलदीप बाल्यान और देवेश कुमार ने स्पेशल जज को भागलपुर कोर्ट से मिले 48 घंटे की ट्रांजिट रिमांड की कॉपी के अलावा वारंट के मेमो के साथ तीनों को दोपहर बाद पेश किया। तीनों महिलाएं सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड संस्था की पदधारक हैं। चूंकि सृजन संस्था के तमाम पदधारकों पर सबौर थाना में एफआईआर (241/2017) दर्ज हैं।

इसलिए इन सभी पर वारंट जारी था। एजेंसी को शक है कि घोटाले का खेल इन महिलाओं के पति ने किया है। ये सब मोहरा बनी हैं। इसलिए पति की गर्दन पकड़ने के लिए तीनों महिलाओं को जल्द ही रिमांड पर लिया जाएगा। सूत्राें के अनुसार सीबीआई के कई सेल के अधिकारी अपर्णा के पति अभिषेक उर्फ दीपक वर्मा, राजरानी के पति समर समरेंद्र और जसीमा खातून के पति शकील अहमद के बारे में जानकारी एकत्र कर रहे हैं।

अगले हफ्ते तीनों महिलाओं को रिमांड पर ले सकती है सीबीआई
सूत्रों ने बताया कि अगले हफ्ते तीनों महिलाओं को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। उसमें सृजन से जुड़ने से लेकर लाभ कमाने तक की पूरी कहानी पूछी जाएगी। रिमांड में मिले क्लू के आधार पर एजेंसी डिपार्टमेंटल लॉ एक्सपर्ट से राय लेगी। फिर पतियों पर भी दबिश की कवायद तेज की जाएगी। वैसे, पति पर कार्रवाई के लिए अपर्णा का ईडी के समक्ष दिया गया कंफेसनल स्टेटमेंट सीबीआई को मिल गया है। अब इसे आधार बनाकर दीपक पर दबिश देने की कार्रवाई शुरू होगी।

दीपक के कई कारोबार में शामिल होने के मिले सबूत
सीबीआई को दीपक वर्मा के कई व्यवसाय के बारे में जानकारी मिली है। दीपक के प्रॉपर्टी डीलिंग, लैंड ब्रॉकरी, टेक्सटाइल इंडस्ट्री समेत कई बिजनेस में शामिल होने के प्रमाण हाथ लगे हैं। दीपक ने सृजन के खाते से पत्नी अपर्णा के नाम से भागलपुर में अंग विहार और नोएडा के गार्डिनिया में फ्लैट भी खरीदे थे। राजरानी के पति समर समरेंद्र की जानकारी लेने के लिए कई बैंक खातों की छानबीन की जा रही है।

एजेंसी को उम्मीद है कि बैंक खातों की स्क्रूटनी में बड़ा सुराग हाथ लगेगा। जसीमा के बारे में जानकारी मिली कि वह टिकुली-बिंदी बनाने का काम करती थी। सृजन से जुड़ते ही घर-कारोबार में बेहिसाब बढ़ोतरी हुई। दोनों बेटों को सिल्क कपड़े का दुकान खुलवाया। एक बेटा दिल्ली में व दूसरा साहेबगंज में ही कपड़े का थोक विक्रेता है। पति शकील अहमद टेम्पो भाड़े पर चलाता है।

खबरें और भी हैं...