पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:काेविशील्ड के हर वायल की 0.5 एमएल दवा काे फेंक रहे, पूरा उपयाेग करते तोे और 1490 काे लगता टीका

भागलपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक वायल में 11 डाेज, लेकिन 10 लाेगाें काे ही लगा रहे वैक्सीन, बाकी बर्बाद हाे रही

काेराेना की स्वेदशी वैक्सीन काेविशील्ड की पांच एमएल के एक वायल में निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया 10 डाेज ही बताती है, लेकिन 10 लाेगाें काे टीका देने के बाद भी हर वायल में 0.5 एमएल की एक डाेज से भी ज्यादा वैक्सीन बच रही है, जिसे फेंक दी जा रही है।

जबकि इतनी मेहनत और रिसर्च से तैयारी की गई वैक्सीन की एक-एक बूंद कीमती है। अगर थाेड़ी सी सजगता दिखाई जाए और हर वायल में बची इस दवा का उपयाेग कर लिया जाए ताे एक वायल से 11 लाेगाें काे टीका दिया जा सकता है। हर 10 वायल पर एक वायल की बचत हाे जाएगी। लेकिन जिले के स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदाराें काे कहना है कि उन्हें एक वायल से 10 लाेगाें काे टीका देने की गाइडलाइन है।

वह बिना आदेश का कुछ नहीं कर सकते हैं। अब तक जिला में काेविशील्ड के 1490 वायल की खपत हाे चुकी है। इसके हिसाब से 745 एमएल दवा बर्बाद हाे चुकी है। अगर विभाग चाहता ताे इससे 1490 लाेगाें काे वैक्सीन दी जा सकती थी। एक डाेज की कीमत 210 रुपए है। इससे एक लाख 56 हजार 450 रुपए की बचत हाे जाती।

पश्चिम बंगाल ने निकाल दिया है आदेश, वैक्सीन काे न करें बर्बाद
कई बार दस लाेगाें की जगह पर तीन-चार ही टीका लेने आते हैं। उन्हें वापस लाैटाना पड़ता है क्याेंकि दस व्यक्ति हाेने पर ही वायल काे खाेलना है। ऐसी स्थिति में उस बची वैक्सीन का बेहतर उपयाेग हाे सकता है। पश्चिम बंगाल सरकार ने ताे वैक्सीन की एक-एक बूंद का इस्तेमाल सही से हाे, इसके लिए बाकायदा सरकारी आदेश भी निकाल दिया है।

वहां के परिवार और कल्याण मंत्रालय ने 16 जनवरी काे आदेश जारी कर कहा है कि कई जगहाें पर औसा देखा गया है कि काेविशील्ड के वायल में 10 लाेगाें से ज्यादा के लिए टीका है। लेकिन उसे 10 लाेगाें काे ही लगाकर बाकी दवा फेंकी जा रही है। ऐसा न हाे। पूरी वैक्सीन का उपयाेग किया जाए। इस तरह का आदेश यहां भी निकाला जा सकता है। जाेधपुर में एक नर्स ने ताे एक वायल से 11 लाेगाें काे टीका लगाया। फिर भी थाेड़ी दवा बची ही रह गई थी। लेकिन भागलपुर में इस तरह का प्रयाेग भी नहीं हुआ है।

जिम्मेदार कह रहे, गाइडलाइन नहीं देती इसकी इजाजत
भास्कर के रिपाेर्टर ने नगर निगम व सदर अस्पताल सेंटर पर चल रहे टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया काे देखी। नगर निगम में अनुभवी नर्स विजयालक्ष्मी फ्रंटलाइन वर्कराें काे टीका लगा रही थीं। एक वायल से दस लाेगाें काे टीका देने के बाद भी एक डाेज बच गया ताे उन्हाेंने उसे देखा जरूर पर किसी काे देने से मना कर दिया। उन्हें उसका उपयाेग करने की मनाही है।

सदर अस्पताल की नर्स सपना कुमारी ने ऐसा ही किया। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डाॅ. मनाेज कुमार चाैधरी यह स्वीकारते हैं कि बची दवा का उपयाेग हाे सकता है, लेकिन उनका कहना है कि गाइडलाइन इस बात की इजाजत नहीं देता है। दूसरी बात यह कि अगर किसी काे थाेड़ा भी कम डाेज पड़ा तो असर नहीं हाेगा। सिविल सर्जन डाॅ. विजय कुमार सिंह भी यह मानते हैं कि दवा का उपयाेग हाे सकता है, लेकिन उनका कहना है कि इसमें चूक हाेने की भी आशंका है।

बची दवा का उपयाेग करने में काेई दिक्क्त नहीं
काेविशील्ड के वायल में बची वैक्सीन का इस्तेमाल करने में काेई खतरा नहीं है। क्याेंकि वही दवा ताे अन्य लाेगाें काे लगाई जाती है। कंपनी दस डाेज के अलावा कुछ अतिरिक्त दवा देती है ताकि किसी काे 0.5 एमएल से कम न हाे। लेकिन गाइडलाइन के नाम पर इसे नहीं लगाई जा रही है। कुछ राज्याें ने ताे इसके लिए गाइडलाइन जारी भी कर दी है। इससे यहां भी सरकार की अनुमति का इंतजार हाे रहा है।
-डाॅ. हेमशंकर शर्मा, नाेडल अधिकारी, काेराेना वार्ड, मेडिकल काॅलेज अस्पताल


ये हाेंगे फायदे

  • वैक्सीन बर्बाद नहीं हाेगी, एक वायल से 10 के बदले 11 काे टीका लगा सकेंगे
  • 2. हर वायल पर 210 रुपए की बचत हाे जाएगी। क्याेंकि एक डाेज की इतनी कीमत है
  • 10 से कम लाेग भी टीका लेने आएंगे ताे उन्हें लाैटने की नाैबत नहीं आएगी
  • टीका का मिसयूज भी रुकेगा। ऐसा भी हाे सकता है कि काेई बचा टीका अपने परिचित काे लगा दे

440 फ्रंटलाइन वर्कराें ने लिया टीका, 7 सेंटराें पर काेई नहीं आया
जिले के 18 सेंटराें पर बुधवार काे 440 फ्रंटलाइन वर्कराें काे काेराेना का टीका दिया गया। 2342 वर्कराें काे टीका देने का लक्ष्य रखा गया था पर अधिकतर सेंटराें पर वर्कर नहीं आए। बिहपुर, इस्माइलपुर, गाेपालपुर, गाेराडीह, खरीक, सबाैर, शाहकुंड में एक भी वर्कर टीका लेने नहीं आए। इसके अलावा जगदीशपुर में 180, कहलगांव में 60, नारायणपुर में 10, नाथनगर में 50, नवगछिया में 80, पीरपैंती में 30, रंगरा में 10, सुल्तानगंज में 10 लाेगाें ने टीका लिया। सीएस डाॅ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि लक्ष्य से बहुत ही कम टीकाकरण हुआ है। सरस्वती पूजा का भी असर है, जिसके चलते लाेग टीका लेने नहीं आए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें