पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

यूपीएससी रिज्लट:टॉपरों का फॉर्मूला...हर कदम मेहनत और सब्जेक्ट पर शानदार पकड़

भागलपुर/खरीक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले के तीन सितारों में टॉपर अनुपम और संदीप इंजीनियरिंग बैकग्राउंड से तो बिशाखा हैं चार्टर्ड अकाउंटेंट, सभी ने 8-10 घंटे तक की पढ़ाई तब मिली सफलता

यूपीएससी की परीक्षा में भागलपुर जिले के तीन उम्मीदवारों ने परचम लहराया है। भागलपुर के श्रेष्ठ अनुपम को देशभर में 19वां और विशाखा जैन को 101वीं रैंक मिली है। इसके अलावा खरीक ध्रुवगंज के संदीप कुमार को 435वीं रैंक मिली है। श्रेष्ठ अनुपम आईआईटी दिल्ली से पासआऊट हैं। केमिकल इंजीनियर रहते हुए वे दो बार यूपीएससी परीक्षा में शामिल हुए और सफलता पाई। पहली बार वे प्रीलिम्स तक पहुंचे थे। बिशाखा गोशाला रोड की रहने वाली हैं। उन्होंने पांचवें प्रयास में सफलता पाई। संदीप ने पहले ही प्रयास में सफलता पाई।

10वीं में सेकंड नेशनल टॉपर थे अनुपम

खलीफाबाग के रहने वाले अनुपम सेंट जोसफ के छात्र थे। वे 2012 में आईसीएसई बोर्ड से 10वीं में 98.6 फीसदी अंक लोकर सेकंड नेशनल टॉपर बने थे। 12वीं में सीबीएसई के जिला टॉपर रहे। फिर आईआईटी जेईई की तैयारी के लिए बोर्ड बदला और एसकेपी विद्या विहार से 12वीं सीबीएसई बोर्ड से की। इसमें भी उन्होंने जिले में टॉप किया था। इसके बाद आईआईटी में 706वीं रैंक मिली थी। श्रेष्ठ ने बताया, 8-10 घंटे की पढ़ाई, लिखित परीक्षा की आंसर राइटिंग और इंटरव्यू के लिए वोकल स्किल की तैयारी के साथ आईआईटी दिल्ली के माहौल और दो अलग-अलग बोर्ड से 10वीं व 12वीं की पढ़ाई ने सफलता दिलाई। उनके पिता दिलीप कुमार अमर की एनजीओ है। मां आशा देवी उसमें सहयोग करती हैं। पिता ने भी दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की थी और सिविल सर्विस में जाना चाहते थे पर सफल नहीं हो पाए। श्रेष्ठ अनुपम मूलत: बरियारपुर मुंगेर के रहने वाले हैं। पीरपैंती में उनका ननिहाल है।

4 बार कम आए अंक, 5वीं बार हुईं सफल

बिशाखा ने पहली की पढ़ाई माउंट कार्मेल स्कूल से की थी। इसके बाद पिता डॉ. नरेन्द्र जैन के साथ गुजरात के वलसाड चली गईं। पिता वहां सर्जन हैं। बिशाखा 12वीं में 2010 में गुजरात की टॉपर थीं। उन्हें धीरूभाई अंबानी फाउंडेशन में स्कॉलरशिप मिला। 2014 में चार्टर्ड एकाउंटेंट बनीं और 2018 में उनकी शादी आईएएस स्मित लोढ़ा से हुई। बिशाखा का यूपीएससी में यह पांचवां प्रयास था। उन्हें आईपीएस सेवा मिलेगी। उन्होंने बताया, पहले 4 प्रयास में लिखित परीक्षा में कम अंक आए थे। उन्होंने कहा, नोट्स बनाना जरूरी है। सिलेबस के सभी टॉपिक कवर होने चाहिए। बिशाखा मूलत: भागलपुर के गोशाला रोड की निवासी हैं। यहां रहने वाले उनके ताऊ पवन जैन, अभिनंदन जैन व जैन समाज के महामंत्री पदम जैन व अध्यक्ष विजय जैन ने भी बधाई दी है। बिशाखा को बड़े भाई आईआरटीएस संजय कुमार जैन एवं आईपीएस जितेंद्र कुमार जैन ने मार्गदर्शन दिया। उनके भाई सुमित कुमार जैन लायंस क्लब भागलपुर प्राइम के चार्टर अध्यक्ष हैं।

खुद पढ़े और पहले ही बार सफल हुए संदीप

खरीक के ध्रुवगंज के संदीप कुमार को यूपीएससी में 435वां स्थान मिला है। संदीप का चयन ईडब्ल्यूएस के तहत हुआ है। संदीप के पिता नवल किशोर कुंवर रिटायर्ड इंजीनियर हैं। मां वीणा कुमारी गृहिणी हैं। संदीप 2018 से सिविल सेवा की तैयारी कर रहे थे। उन्हें पहले प्रयास में 435वां रैंक मिला। उन्होंने पॉलिटिकल साइंस विषय रखा था। उन्होंने बताया कि तैयारी खुद से की और कोई कोचिंग जॉइन नहीं की। ऑनलाइन टेस्ट सिरीज में भाग लेते और नोट्स बनाते थे। उन्होंने बताया, तैयारी के लिए गुरुग्राम गया। यहां आईआईटियन भाई सचिन कुमार की देखरेख में तैयारी की। सही किताबों का अध्ययन कर और प्रतिदिन आठ से दस घंटे तैयारी कर सफलता पाई जा सकती है। संदीप ने आदर्श हाइस्कूल तुलसीपुर जमुनिया से 2009 में 10वीं 73 प्रतिशत अंकों से पास किया। 2011 में 12वीं 71 फीसदी अंक से पास किया। इसके बाद उन्होंने एनआईटी राऊरकेला से 2016 में इंजीनियरिंग की और दो साल तक उड़ीसा के झांसुगुडा में काम किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें