• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Transformers Began To Gasp As The Summer Progressed, The Condition Of The Southern Region Was Crumbling And Momin Tola Illuminated After 17 Hours.

लेटलतीफी:गर्मी के बढ़ते ही फिर हांफने लगे ट्रांसफॉर्मर, दक्षिणी क्षेत्र की हालत खस्ताहाल और 17 घंटे बाद रोशन हुआ मोमिन टोला

भागलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • कई मोहल्लों में लो वोल्टेज, कई जगह लोकल फॉल्ट, ट्रांसफार्मराें की क्षमता नहीं बढ़ा रही है कंपनी

गर्मी बढ़ते ही एक बार फिर बिजली की हालत खस्ताहाल हो गई। कई इलाकों में ट्रांसफॉर्मर हांफने लगे हैं। कई मोहल्लों में घंटों बत्ती गुल हो रही है। कई जगहों पर लो-वोल्टेज ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। इनमें भी दक्षिणी क्षेत्र की हालत सबसे ज्यादा खराब है। कंपनी ट्रांसफार्मर की क्षमता ही नहीं बढ़ा रही है। इससे लोड बढ़ते ही ट्रांसफॉर्मर के फाॅल्ट से बत्ती गुल हाे रही है।

मंगलवार रात 8 बजे मोमिन टोला चमेलीचक इलाके में ट्रांसफार्मर का लूप कटा तो एक फ्यूज ही उड़ गया। करीब 50 से ज्यादा उपभोक्ताओं के घर पूरी रात बत्ती गुल रही। लोगों की शिकायत पर सुबह बिजली कर्मचारियों ने इसे ठीक किया। 17 घंटे बाद बुधवार दोपहर 1 बजे बिजली आई तब लोगों ने राहत की सांस ली।

इन इलाकों में लो-वोल्टेज

दीपनगर- शंकर टॉकिज दीपनगर के पास बुधवार सुबह 7 बजे ट्रांसफार्मर तेज आवाज के बाद बंद हो गया। इससे फेज उड़े और क्षेत्र में लो-वोल्टेज की समस्या शुरू हो गई। लोगों ने बताया, शिकायत के बाद बिजली कर्मचारी पहुंचे और सुबह 11 बजे बिजली बहाल हुई। इस बीच गर्मी ने परेशान कर दिया।
रेलवे कॉलोनी- रेलवे कॉलोनी नयाचक में बुधवार को लोग लो वोल्टेज रहा। यहां लगे ट्रांसफॉर्मर गर्मी के बढ़ते ही जवाब दे जाते हैं। इस इलाके में उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ी, लेकिन बिजली कंपनी ने ट्रांसफॉर्मर की क्षमता नहीं बढ़ाई।

ट्रिपिंग का खेल भी चलता रहा

बुधवार को अलग-अलग इलाके में बिजली की ट्रिपिंग होती रही। जरलाही, मोजाहिदपुर, मौलानाचक, गनीचक, नाथनगर, हबीबपुर, चंपानगर, यूनिवर्सिटी समेत कई इलाकों में बिजली की ट्रिपिंग होती रही। इधर, इमामपुर इलाके में भी बुधवार को ट्रांसफॉर्मर खराब होने से घंटों बिजली गुल रही।

सन्हौला को गोराडीह से दे दी बिजली, अब 24 घंटे मिलेगी

बिजली में सुधार को भदेर और पीरपैंती हाइटेंशन लाइन अलग किया है। अब दोनों पीएसएस को कहलगांव ग्रिड से अलग-अलग बिजली दी जा रही है। पहले एक पीएसएस में फॉल्ट आते ही दोनों की बिजली गुल हाे रही थी। सन्हौला पीएसएस को भी गोराडीह ग्रिड से जोड़ा है। अधीक्षण अभियंता श्रीराम सिंह ने बताया, भदेर और पीरपैंती लाइन अलग करने से परेशानी दूर हो गई है। सन्हौला पीएसएस को गोराडीह से जोड़ने से अब 24 घंटे बिजली मिलेगी।

खबरें और भी हैं...